ताज़ा खबर
 

बोले BJP सांसद- लाल किले में ड्रामे के पीछे PMO के करीबी भाजपा नेता का भी हाथ- बात सच या झूठ, पता करें

भाजपा सांसद सुब्रमण्यम स्वामी ने एक अन्य ट्वीट में कहा कि इस घटना से पीएम मोदी और अमित शाह की छवि को नुकसान पहुंचा है।

Author Edited By कीर्तिवर्धन मिश्र नई दिल्ली | January 27, 2021 12:22 PM
congress, emergency, indiaभाजपा नेता सुब्रमण्यम स्वामी। (फोटो सोर्स – Financial Express)

कृषि कानून पर किसान संगठनों का विरोध प्रदर्शन 65 दिन बाद गणतंत्र दिवस के दिन उग्र हो गया। पहली बार ट्रैक्टर रैली के दौरान पुलिस और उपद्रवी आपस में भिड़ते नजर आए। लाल किले से लेकर आईटीओ तक सभी तरफ टकराव की स्थिति देखने को मिली। हालांकि, पुलिस ने कहीं भी कड़ी कार्रवाई नहीं की। इस बीच भाजपा सांसद सुब्रमण्यम स्वामी ने इस घटना पर ट्वीट किया है। उन्होंने सोशल मीडिया में चल रही खबरों के आधार पर शक जताते हुए कहा कि लाल किले पर जो बवाल हुआ, उसमें पीएमओ के करीबी भाजपा नेता का हाथ रहा है।

क्या कहा सुब्रमण्यम स्वामी ने?: स्वामी ने कहा, “एक गूंज चल रही है, शायद झूठी हो सकती है या दुश्मनों की झूठी आईडी से चलाई गई है कि पीएमओ के करीबी भाजपा के एक सदस्य ने लाल किले में चल रहे ड्रामे में भड़काऊ व्यक्ति के तौर पर काम किया। चेक कर के जानकारी दें।” इतना ही नहीं स्वामी ने अपने अगले ही ट्वीट में किसान आंदोलन में शामिल रहे दीप सिद्धू से जुड़े एक ट्वीट को रिट्वीट भी किया। इसमें कहा गया था कि लाल किले की हिंसा में आरोपी दीप सिद्धू भाजपा सांसद सनी देओल का कैंपेन मैनेजर रह चुका है।

मोदी-शाह पर भी निशाना: राज्यसभा से भाजपा सांसद स्वामी ने एक अन्य ट्वीट में कहा कि इस घटना से पीएम मोदी और अमित शाह की छवि को नुकसान पहुंचा है। साथ ही प्रदर्शन कर रहे किसान नेताओं ने भी अपना सम्मान खो दिया है। इसके अलावा, उन्होंने पंजाब की कांग्रेस सरकार पर भी जमकर निशाना साधा। सुब्रमण्यम स्वामी का बयान ऐसे समय पर आया है जब देश के लोगों में प्रदर्शनकारी किसानों के खिलाफ भारी आक्रोश है। उन्होंने इस घटना को लेकर पीएम मोदी को चिट्ठी भी लिखी है।

दीप सिद्धू के तार भाजपा से जुड़े होने की बात कर रहे किसान संगठन: इससे पहले सोशल मीडिया पर दीप सिद्धू के भाजपा से जुड़े होने की खबरें ट्रेंड करती रहीं। भारतीय किसान यूनियन के नेता राकेश टिकैत ने भी कहा कि दीप सिद्धू सिख नहीं हैं। बल्कि वे भाजपा के कार्यकर्ता हैं। वहीं, भारतीय किसान यूनियन के नेता गुरनाम सिंह चंढूनी बोले कि ”किसान संगठनों का लाल किले पर जाने का कोई कार्यक्रम नहीं था। दीप सिद्धू ने किसानों को भड़काया और आउटर रिंग रोड से लाल किला तक ले गए।”

Next Stories
1 ट्रैक्टर परेडः टिकरी पर भी आगबबूला हुए किसान! बोले- महीनों तक यहां बॉर्डर पर बैठने को नहीं आए हैं
2 ट्रैक्टर परेड केसः 22 FIR, बोले BJP के पात्रा- जिन्हें कह रहे थे ‘अन्नदाता’, वे हो गए चरमपंथी; Shivsena ने कहा- बवाल मोदी सरकार के अहंकार का नतीजा
3 दीप सिद्धू ने ट्रैक्टर परेड की ‘हाईजैक’: वो सिख नहीं, BJP कार्यकर्ता- बोले टिकैत; भाजपा का दलाल बता चढ़ूनी भी बरसे- बहुत दिन से गड़बड़ कर रहा, बागी होकर गया
यह पढ़ा क्या?
X