ताज़ा खबर
 

शत्रुघ्न का फिर मोदी पर हमला, कहा- पाकिस्तान वाली कहानी के बजाए विकास पर दें जोर

मोदी ने दावा किया था कि वरिष्ठ नेता मणि शंकर अय्यर के दिल्ली स्थित आवास पर तीन घंटे तक सीक्रेट मीटिंग चली थी, जिसमें कांग्रेस के दिग्गज नेताओं समेत पाकिस्तान के नेता भी शामिल हुए थे।

Author नई दिल्ली | December 11, 2017 13:29 pm
भाजपा सासंद शत्रुघ्न सिन्हा। (पीटीआई फाइल फोटो)

बॉलीवुड अभिनेता से राजनेता बने शत्रुघ्न सिन्हा अक्सर अपने बयानों से अपनी ही पार्टी बीजेपी और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को घेरते रहते हैं। एक बार फिर शत्रुघ्न सिन्हा ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर निशाना साधा है। पाकिस्तान और कांग्रेस के बाद शत्रुघ्न सिन्हा ने भी गुजरात चुनाव में पाकिस्तान का हाथ होने वाले पीएम मोदी के बयान पर उन्हें जवाब दिया है। शत्रुघ्न सिन्हा ने अपने ट्विटर हैंडल पर लिखा “माननीय सर, किसी भी तरह चुनाव जीतो, क्या यह जरूरी है कि रोजाना राजनीतिक विरोधियों के खिलाफ नए, अनसुलझे और अविश्वसनीय कहानियों का समर्थन किया जाए? अब उन्हें पाकिस्तान उच्चायुक्त और जनरल से जोड़ रहे हैं? अविश्वसनीय।”

अपने अगले ट्वीट में सिन्हा ने लिखा “बजाए नए ट्विस्ट एंड टर्न और कहानियों के सीधा अपने वादों पर जाएं जो हमने किए थे, जैसे कि हाउसिंग डिवेलपमेंट, युवाओं को रोजगार देना, स्वास्थय और विकास मॉडल। माहौल को साम्प्रदायिक बनाना बंद करें और वापस स्वस्थ राजनीति और स्वस्थ चुनावों में वापस जाएं। जय हिंद।” आपको बता दें कि बिना कोई सबूत जारी किए रविवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पालनपुर में एक चुनावी रैली को संबोधित करते हुए आरोप लगाया था कि पाकिस्तान गुजरात चुनाव में दखलअंदाजी कर रहा है।

मोदी ने दावा किया था कि वरिष्ठ नेता मणि शंकर अय्यर के दिल्ली स्थित आवास पर तीन घंटे तक सीक्रेट मीटिंग चली थी, जिसमें कांग्रेस के दिग्गज नेताओं समेत पाकिस्तान के नेता भी शामिल हुए थे। मोदी ने कहा था ‘इस बैठक में पाकिस्तान के उच्चायुक्त, पाक के पूर्व विदेश मंत्री, भारत के पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह और पूर्व उपराष्ट्रपति हामिद अंसारी शामिल हुए थे।’ वहीं मोदी के इस बयान से पाकिस्तान भी खुश नहीं था और पाक के विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता ने एक बयान जारी कर कहा कि ‘भारत को अपनी चुनावी बहस में पाकिस्तान को नहीं घसीटना चाहिए और अपने दम पर चुनाव जीतना चाहिए।’

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App