ताज़ा खबर
 

सेना के पास सिर्फ 10 दिनों का गोला-बारूद, शत्रुघ्‍न सिन्‍हा बोले- गलत समय पर आई रिपोर्ट

सीएजी ने कहा है कि खराब गोला-बारूद का पता लगाकर उन्‍हें ठिकाने लगाने में काफी वक्‍त जाया होता है।

शत्रुघ्न सिन्हा बिहार के पटना साहिब सीट से लोक सभा सांसद हैं। (photo source – Indian Express)

भारतीय जनता पार्टी के मुखर नेता शत्रुघ्‍न सिन्‍हा ने सेना के गोला-बारूद पर सीएजी रिपोर्ट सामने आने को चिंताजनक बताया है। सिन्‍हा ने कहा कि ऐसे समय में (डोकलाम विवाद) रिपोर्ट का सार्वजनिक होना लोगों को हतोत्‍साहित कर सकता है। उन्‍होंने कहा कि ये बेहद संवेदनशील मुद्दा है और इस बार में सावधानीपूर्वक बात होनी चाहिए तथा जरूरी कार्रवाई की जानी चाहिए। चीन और पाकिस्‍तान से जारी तनाव के बीच सीएजी ने शुक्रवार को संसद में रखी गई अपनी रिपोर्ट में कहा कि भारतीय सेना के पास कई ऐसे महत्‍वपूर्ण गोला-बारूद हैं, जो सिर्फ 10 दिनों के लिए हैं। सीएजी ने रिपोर्ट में कहा है कि आर्मी के पास न्‍यूनतम 40 दिन का युद्ध रिजर्व होना होना चाहिए। सेना द्वारा इसे 20 दिन किया गया है, मगर वर्तमान में इसके पास 10 दिन तक टिकने के ही हथियार व गोला-बारूद हैं। रिपोर्ट में गोला-बारूद की खराब स्थिति पर भी सवाल उठाए गए हैं। सीएजी ने कहा है कि खराब गोला-बारूद का पता लगाकर उन्‍हें ठिकाने लगाने में काफी वक्‍त जाया होता है, जिससे कई बार डिपो में आग लगने की घटनाएं हो चुकी हैं।

सीएजी की रिपोर्ट सदन के पटल पर रखे जाने के बाद विपक्ष ने भी सरकार को आड़े हाथों लिया है। कांग्रेस के वरिष्‍ठ नेता व पूर्व केंद्रीय मंत्री आनंद शर्मा ने कहा, ”अगर देश पूरी तरह तैयार नहीं है और गोला-बारूद जैसी जरूरतें भी तीन साल में पूरी नहीं हुई हैं तो यह सरकार निश्चित रूप से कटघरे में है। प्रधानमंत्री और उनकी सरकार को जवाब देना होगा। जब से उन्‍होंने कार्यभार संभाला है, रक्षा को बहुत हल्‍के में लिया है।” शर्मा ने कहा, ”जब उन्‍होंने (मोदी) शपथ ली, तो कोई पूर्णकालीन रक्षामंत्री नहीं था। फिर पर्रिकर आए जो कि अगंभीर थे और परफॉर्म भी नहीं कर पाए।”

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App