भाजपा नेता बोले, केरल बन रहा है ‘अफगानिस्तान’, तेजी से हो रहा तालिबानीकरण

पूर्व केंद्रीय मंत्री केजे अल्फोंस ने कहा कि केरल के कुछ इलाकों में तो यह 25 साल से दिख रहा है। अगले पांच-दस साल में केरल की हालत अफगानिस्तान जैसी हो जाएगी।

Kerala, BJP, Taliban, Left Front
पूर्व केंद्रीय मंत्री केजे अल्फोंस (एक्सप्रेस आर्काइव फोटो)

भारतीय जनता पार्टी के नेता और पूर्व केंद्रीय मंत्री केजे अल्फोंस ने कहा है कि केरल में एलडीएफ और यूडीएफ के नेता कट्टरपंथ फैला रहे हैं। उन्होंने कहा कि केरल में तालिबान जैसा माहौल बनाने की कोशिश हो रही है। पूर्व केंद्रीय मंत्री केजे अल्फोंस ने कहा कि केरल के कुछ इलाकों में तो यह 25 साल से दिख रहा है। अगले पांच-दस साल में केरल की हालत अफगानिस्तान जैसी हो जाएगी।

अल्फोंस का यह दावा तब आया है जब केरल बीजेपी के महासचिव जॉर्ज कुरियन ने केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह को पत्र लिखकर जिहादी गतिविधियों पर अंकुश लगाने की मांग की है। बताते चलें कि केरल में सत्तारूढ़ माकपा ने व्यवसायिक कॉलेजों में युवाओं को आतंकवााद की ओर धकेले जाने की कोशिशों को लेकर आगाह किया था, जिसके एक दिन बाद शनिवार को भाजपा ने वाम सरकार से इस बारे में केंद्र के साथ जानकारी साझा करने का अनुरोध किया ताकि आगे की कार्रवाई की जा सके।

बताते चलें कि माकपा ने राज्य में पार्टी के आगामी सम्मेलनों के संबंध में तैयार एक आंतरिक परिपत्र में ये महत्वपूर्ण टिप्पणियां की थीं। केंद्रीय मंत्री वी मुरलीधरन ने संवाददाताओं से कहा था कि जैसा कि परिपत्र में कहा गया है कि एक वर्ग के द्वारा जानबूझकर युवाओं को सांप्रदायिकता व आतंकवाद की ओर धकेलने के प्रयास किये जा रहे हैं, ऐसे में यदि राज्य सरकार आवश्यक जानकारी देती है, तो एनआईए जैसी केंद्रीय एजेंसियां ​​​​निश्चित रूप से मामले की जांच करेंगी।

गौरतलब है कि माकपा ने शुक्रवार को एक नोट में यहां व्यावसायिक कॉलेजों में पढ़ रहीं युवतियों को लुभाकर सांप्रदायिकता व आतंकवाद की राह पर ले जाने के एक वर्ग की कोशिशों के प्रति आगाह किया था। मार्क्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी ने कहा कि चरमपंथी ताकतें मुख्यधारा के मुस्लिम संगठनों में घुसपैठ कर रही हैं और केरल में इस मुद्दे को हवा देने की कोशिश कर रही हैं। माकपा ने यह भी कहा था कि संघ परिवार से जुड़ी ताकतों की गतिविधियों ने अल्पसंख्यक समूहों में असुरक्षा की भावना पैदा की है।

पढें राष्ट्रीय समाचार (National News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

अपडेट