ताज़ा खबर
 

स्वीडन में भड़के दंगे, BJP नेता का ट्वीट- वहां भी कोई कपिल मिश्रा ढूंढकर ठीकरा फोड़ दो; ट्रोल

टीटी न्यूज एजेंसी ने बताया कि शुक्रवार दोपहर को घोर दक्षिणपंथी कार्यकर्ताओं ने प्रवासी बहुल इलाके के नजदीक कुरान की प्रति जलाई और इसका वीडियो बनाकर ऑनलाइन पोस्ट कर दिया। जिसके बाद यह हिंसा भड़की।

Edited By अभिषेक गुप्ता स्टॉकहोम/नई दिल्ली | Updated: August 29, 2020 11:46 PM
भाजपा नेता कपिल मिश्रा। (एक्सप्रेस आर्काइव फोटोः Tashi Tobgyal)

स्वीडन के दक्षिणी शहर मालमो में घोर दक्षिणपंथी कार्यकर्ताओं ने कुरान की प्रति जलाई और उसके विरोध के लिए 300 से अधिक लोगों के जमा हो जाने के बाद दंगे भड़क गए।

पुलिस ने शनिवार को बताया कि दंगाइयों ने शुक्रवार रात को आगजनी की और पुलिस और बचाव सेवा के कर्मचारियों पर सामान फेंके जिससे कई पुलिस कर्मी मामूली रूप से घायल हो गए। करीब 15 लोगों को हिरासत में लिया गया है।

टीटी न्यूज एजेंसी ने बताया कि शुक्रवार दोपहर को घोर दक्षिणपंथी कार्यकर्ताओं ने प्रवासी बहुल इलाके के नजदीक कुरान की प्रति जलाई और इसका वीडियो बनाकर ऑनलाइन पोस्ट कर दिया। जिसके बाद यह हिंसा भड़की।

बाद में, घृणा फैलाने के संदेह में तीन लोगों को गिरफ्तार किया गया। बीजेपी नेता कपिल मिश्रा ने इसी घटना पर शनिवार को ट्वीट किया।

उन्होंने कहा, “स्वीडन में CAA आया क्या? स्वीडन में NRC आया क्या? स्वीडन में राम मंदिर बनाया क्या? स्वीडन में कपिल मिश्रा ने रास्ता खुलवाया क्या? तो स्वीडन क्यों जलाया? हर शहर जलाने का बहाना चाहिए। वहां भी कोई कपिल मिश्रा ढूंढकर ठीकरा फोड़ दो।”

यह है उनका ट्वीटः

बीजेपी नेता के इस ट्वीट के बाद टि्वटर इंडिया पर कुछ देर तक ‘कपिल मिश्रा’ ट्रेंड भी हुआ। हालांकि, इस ट्वीट पर लोगों ने उन्हें ट्रोल भी किया। @MohdAri50 ने लिखा, “आप एक दिन बुक जरूर किये जाएंगे। वो दिन करीब आ रहे है। दूर नहीं है।”

@SatishM81957227 ने कहा- पता करो कि कहीं स्वीडन में भी कपिल मिश्रा के भाषण देने से दंगे नहीं भड़के? रवीश, बरखा, आशुतोष, शेखर गुप्ता, अभिसार शर्मा, पुण्य प्रसुन और राहुल कंवल आदि को जल्दी से प्रोपेगैंडा शुरू कर देना चाहिए।

@AnkurGupta006 ने तंज कसते हुए लिखा- कपिल मिश्रा आप स्वीडन बीजेपी अध्यक्ष के पद से इस्तीफा दे दीजिए। ऐसा नहीं होने दिया जाएगा। आप लोगों को चैन-अमन के साथ जीने नहीं दे रहे हैं। सिर्फ आपकी वजह से उन लोगों को सड़कों पर घूमना पड़ा और ठंडे मौसम से बचने के लिए सार्वजनिक संपत्ति को जलाना पड़ा।

Next Stories
1 Unlock 4 में DMRC की सेवाएं 7 सितंबर से, एक्वा लाइन पर नोएडा मेट्रो भी होगी बहाल
2 Future Group पर मुकेश अंबानी के Reliance Retail का अधिग्रहण, 24,713 करोड़ रुपये में हुई डील
3 क्रिकेटर सुरेश रैना के फूफा की डकैतों के हमले में मौत, चार अन्य जख्मी
ये पढ़ा क्या?
X