ताज़ा खबर
 

दिल्ली दंगों में कितने मुस्लिमों के लिए आपने काम किया? इंटरव्यू में कपिल मिश्रा से सवाल- देखिए क्या मिला जवाब

भाजपा नेता कपिल मिश्रा ने कहा कि दिल्ली दंगों के बाद दिल्ली सरकार और दिल्ली वक्फ बोर्ड एक ही तरह के लोगों के लिए काम कर रही थी।

bjp , kapil mishra , delhiभाजपा नेता कपिल मिश्रा (एक्सप्रेस फोटो / अभिनव साहा )

बीते साल 23 फ़रवरी से 26 फ़रवरी के बीच दिल्ली के उत्तर पूर्वी इलाके में धार्मिक हिंसा भड़क गयी थी। इस हिंसा में करीब 53 लोगों की मौत हो गयी थी। इन दंगों को भड़काने का आरोप भाजपा नेता कपिल मिश्रा पर लगा था। दंगों में मारे गए लोगों को लेकर जब कपिल मिश्रा से यह पूछा गया कि आपने कितने मुस्लिमों के लिए काम किया तो उन्होंने कहा कि हाँ मैं एक धर्म के लोगों के लिए काम करता हूँ।

दरअसल दिल्ली दंगों के एक साल होने पर जब बीबीसी संवाददाता सरोज सिंह ने भाजपा नेता कपिल मिश्रा से पूछा कि आपने अंकित शर्मा के रिलीफ इक्कठा किया, रिंकू शर्मा के लिए भी फंड इक्कठा किए लेकिन कितने मारे गए मुसलमानों के लिए आप काम करते हैं। इसपर जवाब देते हुए भाजपा नेता कपिल मिश्रा ने कहा कि दिल्ली दंगों के बाद दिल्ली सरकार और दिल्ली वक्फ बोर्ड एक ही तरह के लोगों के लिए काम कर रही थी। इस दौरान जो लोग छूट गए उनके लिए हमने काम किया।

आगे जब रिपोर्टर ने कपिल मिश्रा से पूछा कि देश के जिम्मेदार नागरिक होने के नाते आपने सड़क को खाली करने का अल्टीमेटम दिया और बाकी लोगों के लिए क्राउड फंडिंग किया तो क्या देश के मुसलमानों के लिए आपकी कोई ज़िम्मेदारी नहीं बनती है। इस सवाल के जवाब में कपिल मिश्रा ने कहा कि मेरी कोई ज़िम्मेदारी नहीं बनती है और मैं सिर्फ एक धर्म के लोगों के लिए काम करता हूँ।

इसके अलावा इंटरव्यू में भाजपा नेता कपिल मिश्रा ने हिन्दू इकोसिस्टम से जुड़े टूलकिट का भी जवाब दिया। कपिल मिश्रा ने जवाब देते हुए कहा कि हम हिंदू इकोसिस्टम में कोई टूलकिट पोस्ट नहीं करते। कुछ न्यूज पोर्टल ने जानबूझ कर उसे टूलकिट कहा है। साथ ही कपिल मिश्रा ने हिन्दू इकोसिस्टम पर सफाई देते हुए कहा कि हम लोग इस प्लेटफॉर्म के जरिए अपने पुराने राजा महराजा और प्राचीन मंदिरों की जानकारी लोगों को देते हैं और जोड़ते हैं। 

आपको बता दूँ कि पिछले साल 23 जनवरी को दिल्ली दंगा भड़कने से पहले भाजपा नेता कपिल मिश्रा ने दिल्ली पुलिस की मौजूदगी में कहा था कि डीसीपी साहब हमारे सामने खड़े हैं और मैं आप सब की ओर से कह रहा हूँ कि ट्रंप के जाने तक तो हम शांति से रहेंगे। लेकिन उसके बाद हम आपकी भी नहीं सुनेंगे। ट्रंप के जाने तक आप जाफ़राबाद और चांदबाग़ ख़ाली करवा लीजिए। वरना उसके बाद हमें रोड पर आना पड़ेगा। 

Next Stories
1 तीन महीने पहले ही शुरू हो गए थे दिल्ली दंगे, हिंसा भड़काने के आरोप पर कपिल मिश्रा की सफाई
2 200 में से 200 नंबर लाने वाला भी ठोकरें खाने को मजबूर, AAP के संजय सिंह बोले- 2cr रोजगार देने का वादा कर सत्ता में आई थी मोदी सरकार
3 हमने तो DM से PM का काम लिया है, पॉलिसी भी तय कराई- टिकैत का दावा
ये पढ़ा क्या?
X