ताज़ा खबर
 

सुब्रमण्‍यम स्‍वामी ने पीएम मोदी को पत्र लिखकर कहा- रामजन्‍मभूमि पर अध्‍यादेश लाकर राम मंदिर बनवाइए, मुआवजा दे देंगे

सुब्रमण्यम स्वामी ने कांग्रेस पर निशाना साधते हुए कहा कि पार्टी के प्रभाव वाले वकील अयोध्या मामले में रुकावट पैदा करने की कोशिश कर रहे हैं। स्वामी ने कहा, 'कांग्रेस के प्रभाव वाले वकीलों का यह एजेंडा है कि वह किसी भी तरह से इस केस में रुकावट पैदा करें।

Author Updated: March 18, 2018 7:02 AM
राज्यसभा सांसद सुब्रमण्यम स्वामी। (एक्सप्रेस फोटो आर्काइव)

बीजेपी के वरिष्ठ नेता और राज्यसभा सांसद सुब्रमण्यम स्वामी ने अयोध्या मामले पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को पत्र लिखकर अध्यादेश लाने की मांग की है। समाचार एजेंसी एएनआई के मुताबिक स्वामी ने पीएम मोदी को लिखे लेटर में अयोध्या में राम मंदिर निर्माण के मामले में अध्यादेश लाने की मांग की है। उन्होंने कहा, ‘रामजन्म भूमि में मंदिर निर्माण को लेकर सरकार को अध्यादेश लाना चाहिए। मंदिर के निर्माण का कार्य धार्मिक व्यक्तियों को सौंपने के लिए कानून पास किया जाना चाहिए। इसके निर्माण की जिम्मेदारी धार्मित नेताओं के समूह को विशेषकर जो लोग अगम शास्त्र में निपुण हैं, उन्हें इसका दायित्व सौंपना चाहिए।’ इसके अलावा उन्होंने यह भी कहा कि इस भूमि पर अन्य जो भी लोग दावा कर रहे हैं उनके नुकसान की भरपाई के लिए मुआवजा दिया जा सकता है।

इस मामले में उन्होंने कांग्रेस पर निशाना साधते हुए कहा कि पार्टी के प्रभाव वाले वकील अयोध्या मामले में रुकावट पैदा करने की कोशिश कर रहे हैं। स्वामी ने कहा, ‘कांग्रेस के प्रभाव वाले वकीलों का यह एजेंडा है कि वह किसी भी तरह से इस केस में रुकावट पैदा करें। इसलिए मैंने सोचा कि हमें इस मामले में संविधान और कानून को अपना हथियार बनाना चाहिए, एक अध्यादेश लाया जाना चाहिए।’

बता दें कि बुधवार से अयोध्या मामले में सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई शुरू हो गई है। कोर्ट ने इस मामले में किसी भी तीसरे पक्ष के हस्तक्षेप वाली याचिका को मान्य मानने से इनकार कर दिया है। कोर्ट ने स्वामी को हस्तक्षेप करने से भी रोक दिया है। अब इस मामले में अगली सुनवाई 23 मार्च को होगी। दरअसल, स्वामी मे दलील दी थी कि अयोध्या में पूजा करना उनका मौलिक अधिकार है और मौलिक अधिकार संपत्ति के अधिकार से बड़ा होता है, जिस पर कोर्ट ने कहा कि स्वामी की याचिका पर अलग से सुनवाई की जाएगी। रिपोर्ट्स के मुताबिक अयोध्या मामले में तीसरे पक्ष की लगभग 30 याचिकाएं दाखिल की गई हैं। इनमें फिल्म निर्माता श्याम बेनेगल समेत सामाजिक कार्यकर्ता तीस्ता सीतलवाड़ की याचिका भी शामिल थी। अयोध्या में विवादित भूमि पर हिंदू और मुसलमानों के अलावा बौद्ध समुदाय की तरफ से भी दावा पेश किया जा चुका है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 यूपी उपचुनाव में हार पर बोले राजनाथ सिंह- ऐसा भी हो सकता है, पता नहीं था, आगे ऐसा नहीं होगा
2 सोनिया बोलीं- मोदी सरकार अहंकारी, सत्ता के नशे में चूर, फर्जी दावों और वादोंवाली: न झुके हैं न झुकेंगे!
3 चुनाव से पहले पाला बदल कर कांग्रेस से बीजेपी में आ गए थे ये नेता, पार्टी ने सरकार बनाने के बाद दिया ये तोहफा