ताज़ा खबर
 

Jharkhand Election 2019: नीतीश कुमार से दोस्ती बीजेपी के सरयू राय को पड़ी भारी, पार्टी ने काट दिया टिकट!

Jharkhand Election 2019: झारखंड के मंत्री सरयू राय ने कहा, 'दिल्ली में बैठक के बाद, जहां उम्मीदवारों के नाम को अंतिम रूप दिया गया था, मुझे कई नेताओं ने बताया, पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह को बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के साथ मेरी दोस्ती पसंद नहीं थी।'

Author नई दिल्ली | Updated: November 21, 2019 2:11 PM
चौथी सूची के साथ भाजपा ने अब तक 81 विधानसभा सीटों में से 71 सीटों के लिए अपने उम्मीदवारों के नाम तय कर दिए हैं। मगर अब भी वरिष्ठ नेता सरयू राय का नाम घोषित नहीं किया गया। (ट्विटर)

Jharkhand Election 2019: भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) द्वारा शुक्रवार (15 नवंबर, 2019) को झारखंड विधानसभा चुनावों के लिए तीन उम्मीदवारों की चौथी लिस्ट में खुद का नाम नहीं होने से प्रदेश के मंत्री सरयू राय खासे नाराज हैं। भाजपा ने चौथी लिस्ट में जुगसलाई, जगन्नाथपुर और तमाड़ से उम्मीदवारों की घोषणा कर दी है। चौथी सूची के साथ भाजपा ने अब तक 81 विधानसभा सीटों में से 71 सीटों के लिए अपने उम्मीदवारों के नाम तय कर दिए हैं। मगर अब भी वरिष्ठ नेता सरयू राय का नाम घोषित नहीं किया गया। पार्टी की तरफ से टिकट ना मिलने की चर्चाओं के बीच राय ने संकेत दिए हैं कि वो पार्टी सहयोगी और मौजूदा मुख्यमंत्री रघुबर दास के खिलाफ जमशेदपुर ईस्ट से चुनाव लड़ सकते हैं। सूत्रों ने बताया कि भाजपा लगातार पार्टी विरोधी व्यवहार के चलते राय को टिकट नहीं देगी।

उल्लेखनीय है कि राय ने शनिवार को विपक्षी झारखंड मुक्ति मोर्चा (झामुमो) के मुख्यमंत्री पद के उम्मीदवार हेमंत सोरेन को भविष्य के लिए शुभकामनाएं दी थीं। सूत्रों के अनुसार उनके इस कदम को पार्टी को भड़काने की कोशिश की रूप में देखा गया। इसी बीच विधानसभा चुनाव के लिए भाजपा की ओर अबतक घोषित किए उम्मीदवारों की सूची में अपना नाम नहीं पाकर सरयू राय ने शनिवार को कहा कि वह टिकट की भीख नहीं मांग सकते।

राय से जब यहां संवाददाता सम्मेलन में भाजपा द्वारा उनके नाम की घोषणा में देरी और अनिश्चितता के बारे में पूछा गया तो उन्होंने कहा, ‘पार्टी नेतृत्व से सीट की भीख मांगना मेरे लिए उपयुक्त नहीं है। इसलिए मैंने उनसे मेरे नाम पर विचार नहीं करने को कहा है।’ भाजपा ने राय समेत दस विधायकों को विधानसभा चुनाव के लिए फिर से टिकट नहीं दिया है। राय राज्य की भाजपा नीत राजग सरकार में नागरिक आपूर्ति, खाद्य एवं उपभोक्ता मामलों के मंत्री हैं और वर्तमान विधानसभा में जमशेदपुर (पश्चिम) सीट का प्रतिनिधित्व करते हैं।

जब राय से उनके अगले कदम और चुनाव लड़ने की संभावना के बारे में पूछा गया तो उन्होंने कहा कि कोई निर्णय लेने से पहले वह रविवार यानी आज के दिनइस मुद्दे अपने समर्थकों के साथ चर्चा करेंगे। उन्होंने इस बात से भी इनकार किया कि जमशेदपुर (पूर्व) सीट से चुनाव लड़ने के लिए किसी दल ने उनसे संपर्क किया है जहां से मुख्यमंत्री रघुवर दास चुनाव लड़ रहे हैं।

झारखंड के मंत्री सरयू राय ने अंग्रेजी न्यूज चैनल एनडीटीवी से बातचीत में कहा, ‘दिल्ली में बैठक के बाद, जहां उम्मीदवारों के नाम को अंतिम रूप दिया गया था, मुझे कई नेताओं ने बताया, पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह को बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के साथ मेरी दोस्ती पसंद नहीं थी।’

इसी बीच कांग्रेस ने अपने दो उम्मीदवारों की लिस्ट जारी की है। पार्टी ने हाल के दिनों में भाजपा प्रवक्ता संबित पात्रा से ट्रिलियन में जीरो पूछ सुर्खियों में आए प्रोफेसर गौरव वल्लभ को टिकट दिया है, जो भाजपा प्रत्याशी और प्रदेश के मुख्यमंत्री रघुबर दास के खिलाफ जमशेदपुर ईस्ट से चुनाव लड़ेंगे। (एजेंसी इनपुट सहित)

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 अमेरिकी पैनल ने NRC को बताया ”मुसलमानों के खिलाफ हथियार”, मोदी सरकार पर लगाया गंभीर आरोप
2 गंगा को गंदा किया तो खैर नहीं, 5 साल की सजा के साथ लग सकता है 50 करोड़ तक का जुर्माना
3 रायबरेली की विधायक अदिति सिंह करेंगी कांग्रेसी एमएलए से शादी, प्रियंका गांधी के नजदीकियों में थी गिनती, अब बढ़ीं दूरियां
जस्‍ट नाउ
X