bjp leader and india's foreign minister sushma swaraj helped pakistani girls in return she thanks her on twitter-तनाव के माहौल में सुषमा स्‍वराज ने बेटी कह की पाकिस्‍तानी लड़की की चिंता तो बोली आलिया- आपकी बेटी होने का शर्फ हासिल है और क्या चाहिए... - Jansatta
ताज़ा खबर
 

तनाव के माहौल में सुषमा स्‍वराज ने बेटी कह की पाकिस्‍तानी लड़की की चिंता तो बोली आलिया- आपकी बेटी होने का शर्फ हासिल है और क्या चाहिए…

ग्‍लोबल यूथ पीस फेस्‍ट में पाकिस्‍तान से हिस्‍सा लेने चंडीगढ़ आए प्रतिनिधिमंडल के 20 सदस्‍यों में से 19 लड़कियां थीं।

विदेश मंत्री सुषमा स्वराज। (फाइल फोटो)

एक कार्यक्रम में भारत आईं 19 पाकिस्तानी लड़कियां अपने देश सुरक्षित वापस पहुंच गई हैं। लड़कियों के प्रतिनिधिमंडल की प्रमुख आलिया हरीर ने देश वापसी के बाद भारतीय विदेश मंत्री सुषमा स्वराज का आभार जताया है। ग्‍लोबल यूथ पीस फेस्‍ट में पाकिस्‍तान से हिस्‍सा लेने चंडीगढ़ आए प्रतिनिधिमंडल के 20 सदस्‍यों में से 19 लड़कियां थीं। उरी आतंकी हमले और भारत की सर्जिकल स्ट्राइक के बाद दोनों देशों के बीच बढ़ते तनाव के चलते पाकिस्तानी प्रतिनिधिमंडल अपनी सुरक्षा को लेकर चिंतित था लेकिन भारतीय सुषमा स्वराज ने कार्यक्रम के आयोजकों से बात करके न केवल पाकिस्तानी लड़कियों की सुरक्षा सुनिश्चित की बल्कि उनकी उचित आवभगत को लेकर भी आयोजकों को निर्देश दिए। रविवार (2 अक्टूबर) को आलिया ने ट्वीट करके बताया कि स्वराज ने उनसे बात की और सुरक्षा को लेकर आश्वस्त किया। आलिया के ट्वीट के जवाब में स्वराज ने कहा, “आलिया- मैं तुम्हारी लिए चिंतित थी क्योंकि बेटियां सबकी साझी होती हैं।” पाकिस्तानी वापसी के बाद मंगलवार (4 अक्टूबर) को आलिया ने ट्विटर पर स्वराज का आभार जताते हुए कहा, “आपकी बेटी कहलाने का शर्फ हासिल है और क्या चाहिए।”

वीडियो- पिछले 24 घंटे की बड़ी खबरें:

आलिया और उनके साथी 27 सितंबर को चंडीगढ़ पहुंचे थे। स्वराज के हस्तक्षेप के बाद आयोजकों ने पाकिस्तान से आए “गर्ल्स फॉर पीस ग्रुप” को अतिरिक्त सुरक्षा मुहैया करायी थी। सुषमा स्वराज ने आलिया हरीर से शनिवार (1 अक्टूबर) को बात की थी। आलिया अमेरिका की ट्रॉय यूनिवर्सिटी में अंतरराष्ट्रीय संबंधों की पढ़ाई करती हैं। अपने ट्विटर पर उन्होंने खुद को नारीवादी और अर्जुन कपूर का फैन बताया है। एक अन्य ट्वीट में आलिया ने लिखा है कि भारतीय मेहमानों के संग भगवान जैसा बरताव करते हैं।

सुषमा स्वराज पहले भी सोशल मीडिया पर मदद मांगने वालों की मदद कर चुकी हैं। हाल ही जब एक पाकिस्तानी से आई हिंदू लड़की ने उनसे स्कूल में प्रवेश दिलाने की अपील की तो विदेश मंत्री ने तत्काल उसकी मदद की और लड़की को दिल्ली के एक स्कूल में दाखिला मिल गया। ओलंपिक गोल्ड विजेता अभिनव बिंद्रा के कोच का जब पासपोर्ट खो गया तो सुषमा ने उनकी भी मदद की थी।

Read Also: तनाव के बीच सुषमा स्‍वराज ने दिखाया भारत का असली चेहरा, पाकिस्‍तान से आए मेहमानों का रखवाया पूरा ख्‍याल