ताज़ा खबर
 

आज ही हुई थी बीजेपी की स्थापना, पीएम नरेंद्र मोदी ने कार्यकर्ताओं को दी बधाई, जानिए कौन था पहला भाजपा अध्यक्ष?

BJP Foundation Day: छह अप्रैल 1980 को भाजपा की स्थापना हुई थी। भाजपा का दावा है कि एक करोड़ 20 लाख सदस्यों के साथ वो दुनिया की सबसे बड़ी पार्टी है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भाजपा के स्थापना दिवस पर पार्टी के सभी कार्यकर्ताओं को बधाई दी है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के स्थापना दिवस (छह अप्रैल) पर पार्टी के सभी कार्यकर्ताओं को बधाई दी है। पीएम मोदी इस मौके पर पूरे भारत के सभी वर्गों का भाजपा में विश्वास व्यक्त करने के लिए आभार भी जताया है। छह अप्रैल 1980 को भाजपा की स्थापना हुई थी। पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी इसके पहले अध्यक्ष बने थे। भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने इस मौके पर पार्टी पर भरोसा दिखाने के लिए देश की जनता का अभिनंदन किया है। बुधवार को भाजपा के नई दिल्ली स्थित मुख्यालय पर स्थापना दिवस मनाया जाएगा।

बुधवार को पीएम मोदी ने ट्वीट किया, “भाजपा के स्थापना दिवस पर मैं भाजपा कार्यकर्ताओं के पूरे परिवार को पूरे देश में किए गए उनके लिए काम के लिए बधाई देता हूं।” पीएम मोदी ने एक अन्य ट्वीट में कहा, “ये गर्व की बात है कि पूरे देश के सभी वर्गों ने भाजपा में भरोसा दिखाया है। जनता का हार्दिक आभार।”

37 साल पहली जन्मी भाजपा इस समय अपने सर्वोत्तम दौर से गुजर रही है। पार्टी की केंद्र के अलावा 17 राज्यों (कुछ राज्यों में गठबंधन सरकार) में सरकार है। भाजपा का दावा है कि एक करोड़ 20 लाख सदस्यों के साथ वो दुनिया की सबसे बड़ी पार्टी है। 37 सालों के सफर में वाजपेयी के बाद लालकृष्ण आडवाणी, मुरली मनोहर जोशी, राजनाथ सिंह, कुशा भाऊ ठाकरे, बंगारू लक्ष्मण और नितिन गडकरी इत्यादि भाजपा नेता पार्टी के अध्यक्ष रहे हैं।

श्यामा प्रसाद मुखर्जी ने 1951 में जनसंघ की स्थापना की थी। 1977 में इंदिरा गांधी के खिलाफ एकजुटता दिखाने के लिए जनसंघ का जनता पार्टी में विलय हो गया था लेकिन बाद में जनता पार्टी के जनसंघ धड़े ने 1980 में भारतीय जनता पार्टी नाम से अलग पार्टी बना ली। भाजपा ने 1984 के लोक सभा चुनाव में महज दो सीटें जीती थीं। इस समय केंद्र में सत्ताधारी भाजपा गठबंधन के पास लोक सभा की 330 से ज्यादा सीटें हैं जिसमें 282 सीटें अकेली भाजपा की हैं।

वीडियो: पीएम मोदी ने यूपी के सांसदों से कहा- "मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से कोई सिफारिश न करें"

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App