ताज़ा खबर
 

बीजेपी धर्म के नहीं बल्कि मानवता और न्याय के आधार पर देश चलाना चाहती हैः राजनाथ सिंह

केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने आज कहा कि भाजपा जाति या धर्म के आधार पर नहीं, बल्कि मानवता एवं न्याय के आधार पर देश चलाना चाहती है।

Author कोलकाता | Published on: April 14, 2017 10:58 PM
केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह

केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने आज कहा कि भाजपा जाति या धर्म के आधार पर नहीं, बल्कि मानवता एवं न्याय के आधार पर देश चलाना चाहती है। उन्होंने यह बयान उस समय दिया, जब संवाददाताओं ने इस दावे पर उनके विचार पूछे कि पश्चिम बंगाल में हिंदू जनसंख्या कम हो रही है।  सिंह ने कहा, ‘‘मैं जाति, संप्रदाय और धर्म संबंधी किसी प्रश्न का आमतौर पर उत्तर नहीं देता। मेरा मानना है कि भाजपा जाति, संप्रदाय और धर्म के आधार पर देश नहीं चलाना चाहती। हम मानवता एवं न्याय के आधार पर देश चलाना चाहते हैं।’
उन्होंने कहा, ‘‘स्वस्थ लोकतंत्र में टकराव के लिए कोई स्थान नहीं है। हमें देश को आगे ले जाने के लिए हर किसी के सहयोग की आवश्यकता है। हमें इस वास्तविकता को समझने की आवश्यकता है कि राजनीतिक संघर्ष या राजनीतिक हिंसा सुशासन एवं विकास की जगह नहीं ले सकती।

सिंह ने राज्य में ममता बनर्जी सरकार के खिलाफ कोई शब्द नहीं कहा, जिससे पार्टी की राज्य इकाई को निराशा हुई। उन्होंने राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ द्वारा पारित उस प्रस्ताव पर भी कुछ नहीं कहा, जिसमें तृणमूल कांग्रेस पर ‘‘जिहादी तत्वों’’ को शरण देने का आरोप लगाया गया है। उन्होंने कहा, ‘‘गृह मंत्री होने के नाते, मैं कई मामलों पर सार्वजनिक रूप से टिप्पणी नहीं कर सकता। राजनाथ ने ममता के सिर पर इनाम की घोषणा करने वाले भाजपा के युवा नेता के बारे में कहा कि इसे माफ नहीं किया जा सकता।

गौरतलब है कि इससे पहले 5 राज्यों के विधानसभा चुनाओं के दौरान बीजेपी नेता ने एक बयान दिया था। केंद्रीय मंत्री और बीजेपी के वरिष्ठ नेता गिरिराज सिंह ने ट्वीट करके कहा था कि देश में अल्पसंख्यक की परिभाषा पर बहस की जरुरत है। उनका यह बयान ऐसे समय में आया है जब उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव आखिरी दौर में हैं। 8 मार्च को अंतिम चरण की वोटिंग की होनी है। केंद्रीय मंत्री ने अपने ट्विटर अकाउंट से एक स्क्रीन शॉट ट्वीट करते हुए लिखा- “हिंदुस्तान में मुस्लिम की जनसंख्या इतनी है की उन्हें अब अल्पसंख्यक से बाहर होना चाहिए,आज देश को जरूरत है अल्पसंख्यक की परिभाषा पर एक बहस की।” दरअसल गिरिराज ने जिस स्क्रीन शॉट को शेयर किया है, जिसमें बताया गया है 2050 तक भारत सबसे ज्यादा मुस्लिम आबादी वाला देश होगा। रिपोर्ट में बताया गया है कि इस्लाम अकेला ऐसा धर्म है, जो दुनिया में सबसे ज्यादा तेजी से बढ़ रहा है। अमेरिका स्थित ‘प्यू रिसर्च सेंटर’ की रिपोर्ट के मुताबिक, 2050 तक भारत दुनिया में सबसे अधिक मुस्लिम आबादी वाला देश होगा और यह संख्या 30 करोड़ तक पहुंचने की संभावना है। फिलहाल मुस्लिम आबादी के मामले में भारत दुनिया में इंडोनेशिया के बाद दूसरे नंबर पर है।

गिरिराज सिंह ने अपने दूसरे ट्वीट में लिखा था- अगर आज देश में जनसंख्या नियंत्रण कानून नहीं बना तो हिंदुस्तान का हाल उत्तर प्रदेश के “कैरना (कैराना)” जैसा हो जाएगा। इससे पहले गिरिराज सिंह ने पिछले साल कहा था कि ‘देश की जनता राम मंदिर मांग रही है लेकिन राम मंदिर कैसे बनेगा जब देश में राम भक्त ही नहीं रहेंगे। हिंदू समाज को अपनी आबादी बढ़ाने की जरूरत है। देश के आठ राज्यों में हिंदुओं की जनसंख्या लगातार घट रही है। बंटवारे के समय पाकिस्तान में 22 प्रतिशत हिंदू थे लेकिन आज वो एक प्रतिशत रह गए हैं। जबकि उस समय भारत में 90 प्रतिशत हिंदू थे और 10 प्रतिशत मुस्लिम थे और अब मुसलमान 24 प्रतिशत हो गए हैं और हिंदू घटकर 76 प्रतिशत रह गए हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 जाधव का मामला हाथ में लेने वाले बकील को लाहौर हाईकोर्ट बार एसोसिएशन ने दी कार्रवाई की चेतावनी
2 पेप्सी का बोतलबंद पानी अब पूरे देश में एक रेट पर बिकेगा: पासवान
3 भारतीय नेवी ऑफिसर कुलभूषण जाधव की चार्जशीट पाकिस्तान ने की सार्वजनिक, जानिए क्या हैं आरोप
जस्‍ट नाउ
X