ताज़ा खबर
 

जेएनयू विवाद: भाजपा ने कहा- हाफिज सईद की भाषा बोल रहे हैं राहुल

भाजपा ने जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय (जेएनयू) के छात्र नेता की गिरफ्तारी की आलोचना करने वाले राहुल गांधी और विपक्ष के दूसरे नेताओं पर निशाना साधते हुए आज कहा कि वे आतंकी संगठन लश्कर ए तैयबा की भाषा बोल रहे हैं जो शहीदों का अपमान है और जिससे राष्ट्र विरोधी ताकतों का मनोबल बढ़ेगा।

Author February 13, 2016 6:43 PM
भाजपा ने दावा किया कि जेएनयू परिसर में कुछ लोगों द्वारा आयोजित किए गए ‘भारत विरोधी’ मार्च की देश भर में निंदा हो रही है लेकिन कांग्रेस और दूसरे विपक्षी दल अपने ‘राजनीतिक द्वेष’ और वोट बैंक की राजनीति के कारण मोदी सरकार को निशाना बना रहे हैं। (file photo)

भाजपा ने जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय (जेएनयू) के छात्र नेता की गिरफ्तारी की आलोचना करने वाले राहुल गांधी और विपक्ष के दूसरे नेताओं पर निशाना साधते हुए आज कहा कि वे आतंकी संगठन लश्कर ए तैयबा की भाषा बोल रहे हैं जो शहीदों का अपमान है और जिससे राष्ट्र विरोधी ताकतों का मनोबल बढ़ेगा। भाजपा ने दावा किया कि जेएनयू परिसर में कुछ लोगों द्वारा आयोजित किए गए ‘भारत विरोधी’ मार्च की देश भर में निंदा हो रही है लेकिन कांग्रेस और दूसरे विपक्षी दल अपने ‘राजनीतिक द्वेष’ और वोट बैंक की राजनीति के कारण मोदी सरकार को निशाना बना रहे हैं।

भाजपा के राष्ट्रीय सचिव श्रीकांत शर्मा ने कहा, ‘‘राहुल गांधी और उनके दोस्त लश्कर ए तैयबा के आतंकी हाफिज सईद की भाषा बोल रहे हैं जिसने जेएनयू में भारत विरोधी कार्यक्रम के समर्थन में ट्वीट किया है। यह हमारे शहीदों और सशस्त्र बलों का अपमान है जो सीमा पर अपने प्राणों का बलिदान करते हैं और इससे राष्ट्र विरोधी ताकतों का मनोबल बढ़ेगा।’’ उन्होंने कहा, ‘‘जेएनयू ने कई बुद्धिजीवियों और नौकरशाहों को जन्म दिया है। वहां कुछ लोगों ने भारत विरोधी भाषण दिए। कानून अपना काम कर रहा है। भाजपा कांग्रेस से अपील करेगी कि वह राजनीतिक कारण से हमारे शहीदों का अपमान ना करे।’’

उन्होंने हाल में हुई सेनाकर्मियों की मौत की तरफ इशारा करते हुए कहा कि यह दुर्भाग्यपूर्ण है कि जहां सैनिक सीमा पर अपने प्राणों का बलिदान दे रहे हैं वहीं जेएनयू जैसे संस्थान में भारत विरोधी नारेबाजी की जा रही है और आतंकियों का गुणगान हो रहा है।’’

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories