ताज़ा खबर
 

भाजपा वाले पहले मेरा धर्म परिवर्तन करा दें: अखिलेश यादव

धर्म परिवर्तन को लेकर भारतीय जनता पार्टी पर कड़ा प्रहार करते हुये उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने कहा कि वह उनका धर्म परिवर्तन पहले करा दें। उन्होंने कहा कि जिस जनता ने उन्हें सबसे ज्यादा समर्थन दिया और लोकसभा में सबसे ज्यादा सीटें जितार्इं उसको धर्म परिवर्तन के नाम पर गुमराह किया जा […]

Author December 13, 2014 3:40 PM
अखिलेश ने कहा कि भाजपा धर्म परिवर्तन के नाम पर जनता को गुमराह कर रही है।

धर्म परिवर्तन को लेकर भारतीय जनता पार्टी पर कड़ा प्रहार करते हुये उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने कहा कि वह उनका धर्म परिवर्तन पहले करा दें। उन्होंने कहा कि जिस जनता ने उन्हें सबसे ज्यादा समर्थन दिया और लोकसभा में सबसे ज्यादा सीटें जितार्इं उसको धर्म परिवर्तन के नाम पर गुमराह किया जा रहा है।

अखिलेश यहां चंद्रशेखर आजाद विश्वविद्यालय में करीब 467 करोड़ रुपये की विकास योजनाओं का शिलान्यास करने और 106 करोड़ रुपये की योजनाओं का लोकार्पण करने आये थे। इस अवसर पर उन्होंने छत्तीसगढ़ में नक्सली हमले में मारे गये डिप्टी कमांडेट बी एसवर्मा के परिजनों को प्रदेश सरकार की ओर से 20 लाख रुपये की आर्थिक सहायता का चेक भी दिया।

उन्होंने अपने भाषण में कहा ‘‘कुछ लोग अब प्रदेश में धर्मांतरण के नाम पर माहौल बिगाड़ने की कोशिश कर रहे हैं। उनसे मैं कहूंगा कि पहले वह मेरा धर्म परिवर्तन करा दें, देखें वह धर्म परिवर्तन कर क्या करेंगे। इससे पहले वह गाय के मसले पर माहौल बिगाड़ रहे थे तो मैं पूछना चाहूंगा कि कितने भाजपा नेताओं के घर में गाय है जबकि मेरे घर में तो गाय है। मैंने तो कहा कि गाय पर कानून लायें लेकिन अभी तक कानून नहीं आया। असल में गाय की आड़ में उनका निशाना टेनरी (चमड़ा कारखानों) पर है अगर टेनरी बंद हो जायेंगी तो जूता कहां से पहनेंगे, क्या भाजपा वाले जूता पहनने के बजाये खड़ाऊ पहनना पसंद करेंगे।’’

अलीगढ़ में होने वाले धर्म परिवर्तन के संबंध में बाद में पत्रकारों के सवालों पर अखिलेश ने कहा ‘‘जिस पार्टी (भाजपा) को जनता ने सबसे ज्यादा मदद की जिन्हें (लोकसभा में) सबसे ज्यादा सीटें जिताई अब वही जानबूझकर माहौल खराब कर रही है। उन्होंने कहा कि संविधान और कानून अपना काम करेगा, और इसकी धज्जियां उड़ाने वाले लोगों के खिलाफ कार्रवाई प्रशासन करेगा। प्रशासन की जिम्मेदारी है कि वहां का माहौल ठीक रखा जाये और शांतिपूर्ण ढंग से जीवन चलता रहे। उन्होंने कहा कि ऐसे मामलों पर मीडिया को भी ज्यादा ध्यान नहीं देना चाहिये। मीडिया को चाहिये कि वह प्रदेश में हो रहे विकास के कार्य को दिखायें।’’

प्रदेश के राज्यपाल राम नाइक द्वारा राममंदिर बनाये जाने की वकालत के सवाल पर उन्होंने कहा ‘‘गर्वनर साहब से मेरे बहुत अच्छे संबंध है और हमारी अक्सर बातचीत होती रहती है। आपको इस बाबत कुछ भी पूछना है तो उन्हीं से पूछें।’’

उनसे जब पूछा गया कि वह आने वाले 2017 के चुनावों में भारतीय जनता पार्टी से कैसे निबटेंगे, तो उन्होंने कहा ‘‘यह दल बेरोजगारों के लिये विकास योजनाओं की बात नहीं करता है, यह सड़कों , पुलों और बिजली की बात नहीं करता बल्कि वह जनता को गुमराह करने का काम करता है। चाहें वह लव जिहाद का मामला हो या लाउडस्पीकर का मामला हो या फिर गाय वाला मसला हो या फिर अब धर्म परिवर्तन वाला। उन्होंने कहा कि इन लोगों से निपटने के लिये हमारी विकास की योजनायें ही काफी है।’’

उन्होंने बताया कि कानपुर में शीघ्र ही मेट्रो का काम शुरू होगा। इस अवसर पर प्रदेश सरकार के मंत्री शिव कुमार बेरिया, शाहिद मंजूर, वरिष्ठ सपा नेता फजले मसूद, आदि मौजूद थे।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App