ताज़ा खबर
 

शंखनाद रैली को लेकर भाजपा-कांग्रेस में टकराव

भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह की 25 जून को हरिद्वार में होने वाली शंखनाद रैली को लेकर भाजपा और उत्तराखंड की कांग्रेस सरकार के बीच सीधे-सीधे टकराव हो गया है।

Author देहरादून | June 24, 2016 4:29 AM
अमित शाह

भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह की 25 जून को हरिद्वार में होने वाली शंखनाद रैली को लेकर भाजपा और उत्तराखंड की कांग्रेस सरकार के बीच सीधे-सीधे टकराव हो गया है। जहां उत्तराखंड भाजपा ने अमित शाह की रैली में एक लाख से ज्यादा लोगों के आने का एलान किया है। वहीं उत्तराखंड कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष किशोर उपाध्याय ने हरिद्वार जिले के लंढौरा कस्बे में 25 जून को सद्भाव रैली आयोजित किए जाने का एलान किया है। वहीं हरिद्वार के जिला प्रशासन ने हरिद्वार जिले के देहात क्षेत्र में 23 से 26 जून तक धारा-144 लागू करने का एलान किया है। भाजपा ने आरोप लगाया कि 25 जून की अमित शाह की रैली में रुकावट डालने के लिए हरिद्वार के जिला प्रशासन ने उत्तराखंड की हरीश रावत सरकार के इशारे पर हरिद्वार जिले के गांवों में धारा-144 लगाई है। भाजपा के प्रदेश उपाध्यक्ष और हरिद्वार विधानसभा क्षेत्र के विधायक मदन कौशिक ने आरोप लगाया कि हरीश रावत सरकार अमित शाह की रैली को लेकर हरिद्वार समेत पूरे उत्तराखंड के लोगों में जो उत्साह देखने को मिल रहा है, उससे घबराकर रैली को नाकाम बनाने के लिए सूबे की कांग्रेस सरकार धारा-144 लगाकर जनभावनाओं को कुचलना चाहती है।

कौशिक ने कहा कि हरीश रावत की सरकार अमित शाह की रैली में कोई भी अड़ंगा अटका दे, तब भी लाखों की संख्या में लोग अमित शाह को सुनने के लिए हरिद्वार के ऋषिकुल मैदान में उमडेÞंगे। भाजपा के प्रदेश प्रवक्ता और रैली के संयोजक ज्योति प्रसाद गैराला ने कहा कि भाजपा की लोकप्रियता से घबराकर हरीश रावत भाजपा की हरिद्वार की शंखनाद रैली को नाकाम बनाने की साजिश रच रहे हैं। उन्होंने बताया कि अमित शाह 24 जून को उत्तराखंड पहुंचेंगे। 24 जून की शाम को ही परमार्थ निकेतन ऋषिकेश में गंगा की आरती में शामिल होंगे। और 25 जून की सुबह वे हेलिकॉप्टर से केदारनाथ और बद्रीनाथ के दर्शन के लिए जाएंगे। और वहां से वापस आकर हरिद्वार में दोहपर तीन बजे ऋषिकुल मैदान में भाजपा की शंखनाद रैली को संबोधित करेंगे।

रैली के संयोजक ज्योति प्रसाद गैराला ने बताया कि भाजपा की शंखनाद रैली में हरिद्वार और देहरादून जिलों के 21 विधानसभा क्षेत्रों को सम्मिलित किया गया है। इस रैली के माध्यम से अमित शाह उत्तराखंड में आगामी विधानसभा चुनाव का बिगुल फूंकेंगे। हरिद्वार के जिलाधिकारी हरवंश सिंह चुग ने कहा कि 25 जून को पूरे हरिद्वार जिले में शांति व्यवस्था बनाए रखने और सांप्रदायिक माहौल न बिगड़ने देने के लिए जिले के ग्रामीण क्षेत्रों में धारा-144 लगाई गई है। उन्होंने कहा कि एक राजनीतिक दल हरिद्वार में 25 जून को रैली कर रहा है। दूसरे राजनीतिक दल ने इसी दिन ही लंढौरा कस्बे में शांतिमार्च निकालने का एलान किया है। माहौल खराब न हो इसको देखते हुए देहात क्षेत्र में धारा-144 लगाई गई है और सुरक्षा के कड़े इंतजाम किए गए हैं।

उत्तराखंड कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष किशोर उपाध्याय ने कहा कि अमित शाह हरिद्वार की रैली के बहाने पूरे प्रदेश को सांप्रदायिकता की आग में झोंकना चाहते हैं। हरिद्वार जिले के लंढौरा में सांप्रदायिक तनाव फैलाकर भाजपा ने पूरे प्रदेश का माहौल खराब करने की कोशिश की है और अब अमित शाह 25 जून को हरिद्वार में शंखनाद रैली की आड़ में उत्तराखंड को गुजरात बनाना चाहते हैं। उन्होंने कहा कि कांग्रेस अमित शाह और भाजपा के मंसूबों को पूरा नहीं होने देगी।

भाजपा के नेता और कांग्रेस के बागी पूर्व विधायक कुंवर प्रणव सिंह चैंपियन ने एलान किया है कि यदि कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष किशोर उपाध्याय 25 जून को लंढौरा में आए तो उनके समर्थक उपाध्याय का लाठी-डंडों, गोली, टमाटर, अंडों से स्वागत करेंगे। चैंपियन के इस बयान के बाद हरिद्वार का जिला प्रशासन चौकन्ना हो गया। अमित शाह की रैली को सफल बनाने के लिए जहां भाजपाइयों ने कमर कस ली है, रैली में भीड़ इकट्ठी करने के लिए भाजपा के नेता, सांसद और विधायक गांव-गांव घूम रहे हैं। भाजपाइयों ने पूरे हरिद्वार शहर को बैनरों और पोस्टरों से पाट दिया है। भाजपा के शीर्ष नेताओं में जहां अटल बिहारी वाजपेयी, नरेंद्र मोदी, अमित शाह के बड़े-बड़े फोटो हरिद्वार की सड़कों पर लगाए गए हैं। वहीं भाजपा के राष्टÑीय नेता लालकृष्ण आडवाणी का एक भी पोस्टर नहीं लगाया गया है। वहीं 24 जून को अमित शाह की रैली से निपटने के लिए प्रदेश कांगे्रस कमेटी की प्रदेश कार्यकारिणी की बैठक हरिद्वार में बुलाई है। जिससे हरिद्वार जिले का राजनीतिक माहौल गरमा गया है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App