ताज़ा खबर
 

2019 लोकसभा चुनाव के लिए बीजेपी का नारा- अबकी पार 400 के पार

मोदी को बतौर पीएम कैंडीडेट उतार एनडीए के खाते में 336 सीटें आई थीं। जिसमें से 543 सीटों वाली लोकसभा में बीजेपी ने ही अपने दम पर पूर्ण बहुमत पा लिया था। भाजपा को 2014 में 282 सीटें मिली थीं।

भाजपा को 2014 में 282 सीटें मिली थीं। (फोटो सोर्स : Indian Express)

केंद्र मे सत्ताधारी भारतीय जनता पार्टी आगामी लोकसभा चुनाव के बाद भी अपनी सल्तनत बरकरार रखने की हर संभव कोशिश में है। इसी कड़ी में अब भाजपा ने नया नारा जारी किया है। 2014 में अबकी बार मोदी सरकार सहित कई नारे जारी किए गए थे। हालांकि इस बार भाजपा ने नारे के जरिए नया टारगेट भी सेट किया है। वोटरों को लुभाने और पार्टी के कार्यकर्ताओं में जोश भरने के लिए बीजेपी ने अबकी बार 400 के पार का नारा दिया है।

पांच साल पहले 2014 के आम चुनाव के लिए गुजरात के तत्कालीन मुख्यमंत्री नरेंद्र मोदी को प्रधानमंत्री पद पर प्रोजेक्ट किया गया था। मोदी लहर पर सवार हो भाजपा की नैया भी पार हो गई। मोदी को बतौर पीएम कैंडीडेट उतार एनडीए के खाते में 336 सीटें आई थीं। जिसमें से 543 सीटों वाली लोकसभा में बीजेपी ने ही अपने दम पर पूर्ण बहुमत पा लिया था। भाजपा को 2014 में 282 सीटें मिली थीं।

इस मुद्दे पर भाजपा नेता अनुराग ठाकुर ने कहा, जिस तरीके से मोदी सरकार ने बीते साढ़े चार साल में काम किया है, उसके देखते हुए देश की जनता नरेंद्र मोदी को एक बार फिर से प्रधानमंत्री पद पर देखना चाहती है। 1984 के बाद ऐसा पहली बार हुआ था, जब किसी एक पार्टी ने अपने दम पर बहुमत हासिल किया हो। बीजेपी सरकार ने सत्ता में आने के बाद कई बड़े फैसले लिए। इसलिए भारतीय जनता पार्टी 2019 के चुनाव में 400 का आंकड़ा पार कर जाएगी।

आगामी लोकसभा चुनाव के साथ ही अनुराग ठाकुर ने बीते साल हुए विधानसभा चुनाव का भी जिक्र किया। उन्होंने कहा, भले ही भाजपा को मध्य प्रदेश, राजस्थान और छत्तीसगढ़ में संख्या बल न मिला हो लेकिन इन तीनों ही राज्यों के परिणाम का असर आगामी आम चुनाव पर नहीं पड़ेगा। तीन राज्य में कांग्रेस की सरकार बनने के बाद जनता एक बार फिर समझ चुकी है कि यह वादे पूरे नहीं करते और झूठ बोलते हैं।

उन्होंने आगे कहा, पांच साल पहले 2014 में को जनता ने भाजपा का काम भी नहीं देखा था, इसके बावजूद जनता ने नरेंद्र मोदी पर भरोसा किया और पार्टी 282 सीटें जीतने में कामयाब रही। इस बार कांग्रेस को चुनाव में 2014 की तुलना में कम सीटें मिलेंगी।

 

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App