scorecardresearch

PDP से TMC और NCP तक…परिवारवाद को लेकर विपक्षियों पर गरजे BJP चीफ- कहीं दीदी-भतीजे का दल, तो कहीं बाबू जी के बुजुर्ग होने के बाद बेटे ने संभाल ली पार्टी

भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा ने कहा कि अब क्षेत्रीय पार्टियों पर कुछ लोगों ने कब्जा कर लिया है। सत्ता में आने के लिए क्षेत्रीय पार्टियां ध्रुवीकरण में पीछे नहीं रहती हैं।

jp nadda| bjp| congress
विपक्षियों पर बरसे बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा। ( फोटो सोर्स: @BJP4India)।

‘लोकतांत्रिक शासन के लिए वंशवादी राजनीतिक दल खतरा’ विषय पर नई दिल्ली में आयोजित राष्ट्रीय संगोष्ठी में बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा ने विरोधियों पर जमकर निशाना साधा। नड्डा ने कहा, “जम्मू कश्मीर में पीडीपी और नेशनल कॉन्फ्रेंस, पंजाब में शिरोमणि अकाली दल, हरियाणा में INLD, उत्तर प्रदेश में समाजवादी पार्टी, बिहार में राजद, पश्चिम बंगाल में दीदी- भतीजे की पार्टी है।

उन्होंने कहा कि कांग्रेस भी अब न तो राष्ट्रीय रह गई है, न भारतीय और न ही प्रजातांत्रिक रह गई है। ये भी भाई-बहन की पार्टी बनकर रह गई है। उन्होंने कहा कि झारखंड में बाबू जी के बुजुर्ग होने के बाद बेटे ने पार्टी संभाल ली। ओडिशा में बीजू जनता दल, आंध्रप्रदेश में YSRCP, तेलंगाना में TRS, तमिलनाडु में करुणानिधि परिवार, महाराष्ट्र में शिवसेना और NCP ये सब परिवार की पार्टियां हैं।

बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष ने कहा, “प्रजातांत्रिक व्यवस्था में राजनीतिक दल महत्वपूर्ण उपकरण है। अगर वह स्वस्थ है, तो प्रजातंत्र स्वस्थ है। अगर वो अस्वस्थ है, तो प्रजातंत्र अस्वस्थ है। इसलिए हमें अपनी कार्य प्रणाली, लोकतांत्रिक मूल्यों, संगठन की विचार प्रक्रिया को ध्यान में रखना चाहिए”।

क्षेत्रीय पार्टियों पर धीरे-धीरे कुछ लोगों ने कब्जा कर लिया है। अब क्षेत्रीय पार्टियों में विचारधारा किनारे हो गई और परिवार सामने आ गए हैं। इन्हें किसी भी तरह से सत्ता में आना होता है, इसलिए ये ध्रुवीकरण करने में भी पीछे नहीं रहते।

जेपी नड्डा ने कहा कि क्षेत्रीयों पार्टियां सत्ता में आने के लिए धुव्रीकरण करने में पीछे नहीं रहती हैं। फिर वो धुर्वीकरण किसी भी आधार पर हो। या धर्म के आधार पर हो या जाति के आधार पर। राष्ट्रीय मुद्दों को पर गौर नहीं किया जाता है। उन्होंने कहा कि पंजाब में राष्ट्रवादी ताकतों का प्रथम स्थान भाजपा ले रही है, इसलिए आवश्यक होता है कि राष्ट्रवादी विचार रखने वाले सभी लोग भाजपा से जुड़ें और पार्टी को मजबूती प्रदान करें।

वहीं पंजाब कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष सुनील जाखड़ ने पार्टी से इस्तीफा देने के बाद गुरुवार (19 मई, 2022) को भाजपा का दामन थाम लिया है। जेपी नड्डा ने कहा, “मैं सुनील जाखड़ का भारतीय जनता पार्टी में स्वागत करता हूं। वह एक अनुभवी राजनीतिक नेता हैं, जिन्होंने अपने राजनीतिक जीवन के दौरान अपने लिए एक मुकाम बनाया। मुझे विश्वास है कि वह पंजाब में भाजपा को मजबूत करने में बड़ी भूमिका निभाएंगे।”

पढें राष्ट्रीय (National News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.

अपडेट