ताज़ा खबर
 

केरल में उम्रदराज ‘मेट्रो मैन’ को CM कैंडिडेट बना सकती है BJP, पर इन दिग्गजों को 75+ बता लगाया किनारे

बीजेपी ने पूर्व उप प्रधानमंत्री एलके आडवाणी समेत भगत सिंह कोश्यारी, बीसी खंडूरी, मुरली मनोहर जोशी, झारखंड के करिया मुंडा, हुकुम देव नारायण यादव, लोकसभा स्पीकर रहीं सुमित्रा महाजन को भी उम्र के आधार पर टिकट देने से मना किया गया था।

E Sridharanमेट्रो मैन के नाम से मशहूर ई श्रीधरन (फोटो सोर्सः ट्विटर@sbajpai2806)

मेट्रो मैन ई.श्रीधरन को केरल असेंबली चुनाव में भाजपा अपना सीएम उम्मीदवार घोषित कर सकती है। 88 वर्षीय ई. श्रीधरन ने बीते सप्ताह ही भारतीय जनता पार्टी की सदस्यता ग्रहण की थी। केरल के बीजेपी प्रमुख के सुरेंद्रन ने ई.श्रीधरन को सीएम पद का उम्मीदवार बनाने की बात कही है। राज्यमंत्री वी. मुरलीधरन ने भी इसके संकेत दिए हैं। लेकिन अभी तक पार्टी की तरफ से इस मुद्दे पर कोई आधिकारिक बयान नहीं आया है।

उधर, केरल सीएम के तौर पर 88 वर्षीय ई. श्रीधरन के नाम की चर्चा शुरू होते ही पार्टी का दूसरा खेमा मुखर हो गया है। पूर्व वित्त मंत्री यशवंत सिन्हा ने केंद्रीय नेतृत्व पर निशाना साधते हुए कहा कि पहले इन लोगों ने ही 75 पार नेताओं को ब्रेन डेड करार दिया था। सिन्हा ने 26 मई 2014 के बयान का हवाला देते हुए कहा कि उन्हें इस आधार पर टिकट न देने का फैसला लिया गया था क्योंकि उनकी उम्र 75 के पार हो गई थी। उनका कहना है कि अब श्रीधरन को पार्टी में शामिल करके केरल में प्रोजेक्ट किया जा रहा है जबकि वह 88 साल के हैं। उनका आरोप है कि बीजेपी का केंद्रीय नेतृत्व दोहरे मानदंड अपना रहा है। एक तरफ नियम बनाता है तो दूसरी तरफ अपनी सुविधा के लिए उन्हें ही दरकिनार कर देता है।

ध्यान रहे कि बीजेपी ने पूर्व उप प्रधानमंत्री एलके आडवाणी समेत भगत सिंह कोश्यारी, बीसी खंडूरी, मुरली मनोहर जोशी को इसी आधार पर टिकट नहीं दिया था। झारखंड के करिया मुंडा, हुकुम देव नारायण यादव, लोकसभा स्पीकर रहीं सुमित्रा महाजन को भी उम्र के आधार पर टिकट देने से मना किया गया था। कलराज मिश्रा और शांता कुमार ने खुद चुनाव लड़ने से मना किया था।

2014 के लोकसभा चुनाव के दौरान बीजेपी की अगुवाई कर रहे पीएम मोदी और अमित शाह की तरफ से साफ कर दिया गया था कि 75 की उम्र पार कर चुके नेताओं को चुनाव में टिकट नहीं दिया जाएगा। उसके बाद बीजेपी के दिग्गज नेता लाल कृष्ण आडवाणी को टिकट नहीं दिया गया। उनकी जगह अमित शाह को गांधी नगर से उम्मीदवार बनाया गया था। तब इस निर्णय को लेकर कांग्रेस ने भी बीजेपी पर निशाना साधा था।

ई श्रीधरन 25 फरवरी को बीजेपी में शामिल हुए थे। उन्होंने केरल के मलप्पुरम में बीजेपी की सदस्यता ग्रहण की। उन्होंने कुछ समय पहले ही ऐलान कर दिया था कि वे बीजेपी में शामिल होंगे। श्रीधरन को मेट्रो मैन के तौर पर जाना जाता है। वह बड़ी बुनियादी परियोजनाओं को पूरा करने में कुशल माने जाने वाले 88 वर्षीय टेक्नोक्रेट हैं। बीजेपी में श्रीधरन की एंट्री को केरल में पार्टी का उत्साहवर्धन करने वाले कदम के तौर पर देखा जा रहा है।

Next Stories
1 “OTT प्लेटफॉर्म्स पर केंद्र के बनाए नए नियम बेअसर”, बोला SC- कानून लाएं
2 SSR Case में ड्रग्स कनेक्शन को लेकर NCB की चार्जशीट फाइल, 33 आरोपियों के नाम; दीपिका, श्रद्धा व सारा के बयान भी
3 #ModiJobDo जैसा ‘हड़कंपी’ टि्वटर ट्रेंड कैसे और कहां से चल जाता है? समझिए- इसके पीछे की कहानी
ये पढ़ा क्या?
X