BJP attacks Arvind Kejriwal, P Chidambaram for asking for proof of Armys surgical strikes-Surgical Strike को लेकर BJP का केजरी से सवाल- इंडियन आर्मी पर विश्वास या पाक के ‘दुष्प्रचार’ पर - Jansatta
ताज़ा खबर
 

Surgical Strike को लेकर BJP का केजरी से सवाल- इंडियन आर्मी पर विश्वास या पाक के ‘दुष्प्रचार’ पर

भारत द्वारा पीओके में आतंकी शिविरों पर हमले (सर्जिकल स्ट्राइक) पर दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल द्वारा ‘‘सबूत मांगने’’ की टिप्पणी पर पलटवार करते हुए भाजपा ने आज उनसे कहा कि पाकिस्तान के ‘‘दुष्प्रचार’’ में फंसकर सशस्त्र बलों को नीचा नहीं दिखाएं।

Author नई दिल्ली | October 4, 2016 5:42 PM

भारत द्वारा पीओके में आतंकी शिविरों पर हमले (सर्जिकल स्ट्राइक) पर दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल द्वारा ‘‘सबूत मांगने’’ की टिप्पणी पर पलटवार करते हुए भाजपा ने आज उनसे कहा कि पाकिस्तान के ‘‘दुष्प्रचार’’ में फंसकर सशस्त्र बलों को नीचा नहीं दिखाएं।
केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने एक संवाददाता सम्मेलन में कहा कि आप नेता को जवाब देना चाहिए कि क्या वह भारतीय सेना पर विश्वास करते हैं या नहीं। प्रसाद ने कहा कि केजरीवाल को ‘‘सबूत मांगने की आड़ में सशस्त्र बलों के नेतृत्व, साहस और कुर्बानी को कमतर नहीं करना चाहिए।’’ उन्होंने आरोप लगाया कि केजरीवाल ने पड़ोसी देश को सेना को सवाल उठाने का मौका दिया है।

भाजपा नेता ने कहा, ‘‘यह काफी दुखद और दुर्भाग्यपूर्ण है कि आप नेता आज पाकिस्तानी मीडिया की सुर्खियों में थे क्योंकि कल के उनके बयान से भारतीय सेना के दावे पर सवाल उठाने का उन्हें मौका मिल गया।’’ उसने आश्चर्य जताया कि वह पाकिस्तानी दुष्प्रचार से क्यों प्रभावित हैं।


उन्होंने कहा, ‘‘जिस तरीके से सवाल पूछा गया उससे भारतीय सेना की कार्रवाई को लेकर सवाल खड़ा हो गया। अगर पाकिस्तानी मीडिया कुछ कह रही है तो भारत का कोई मुख्यमंत्री उससे क्यों प्रभावित होता है और सबूत मांगता है।’ प्रसाद ने कहा, ‘‘अरविंद केजरीवाल आप पाकिस्तानी अखबार की सुर्खियों में हैं।

क्या आपको पता है? ऐसे समय में जब पूरा देश एक स्वर में बोल रहा है तो एक मुख्यमंत्री ने ऐसा कुछ कहा जिससे पाकिस्तानी मीडिया और लोगों को भारतीय सेना की कार्रवाई के बारे में सवाल खड़ा करने का मौका मिल गया। इससे दुर्भाग्यपूर्ण और दुखदायी बात कुछ नहीं हो सकतीं।’’

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App