bjp ally lok jan shakti party holds events for dalits in all country - बीजेपी के लिए दलित वोट जुटाने को सहयोगी पार्टी का बड़ा प्लान, यूपी सहित कई राज्यों में कार्यक्रम तय - Jansatta
ताज़ा खबर
 

बीजेपी के लिए दलित वोट जुटाने को सहयोगी पार्टी का बड़ा प्लान, यूपी सहित कई राज्यों में कार्यक्रम तय

हाल ही में सरकार ने एससी-एसटी अत्याचार निवारण बिल को भी संसद में पास करा लिया है। ऐसे में भाजपा की कोशिश है कि इस बिल के माध्यम से दलित वोटों को अपने पक्ष में बटोरा जाए।

भाजपा अध्यक्ष अमित शाह के साथ रामविलास पासवान और उनके बेटे चिराग पासवान। (image source-Twitter/@irvpaswan)

लोकसभा चुनाव की आहट के साथ ही राजनैतिक पार्टियां अपने-अपने वोटबैंक को साधने में जुट गई हैं। इसी बीच खबर आयी है कि भाजपा की सहयोगी पार्टी लोक जनशक्ति पार्टी देशभर में दलितों को भाजपा के पक्ष में लामबंद करने के लिए कार्यक्रम आयोजित करेगी। इन कार्यक्रमों के द्वारा लोजपा सरकार द्वारा दलितों के लिए किए गए कामों को जनता के बीच लेकर जाएगी। लोजपा के महासचिव अब्दुल खालिक का कहना है कि रामविलास पासवान के नेतृत्व में पार्टी कई राज्यों जैसे उत्तर प्रदेश, राजस्थान, हरियाणा और कर्नाटक में कार्यक्रमों का आयोजन करेगी। खुद रामविलास पासवान ऐसे कई कार्यक्रमों में शिरकत करेंगे।

बता दें कि भाजपा ने भी अपने दलित और आदिवासी नेताओं को कहा है कि वह अपने-अपने समुदायों में सरकार के कामों का प्रचार करें। हाल ही में सरकार ने एससी-एसटी अत्याचार निवारण बिल को भी संसद में पास करा लिया है। ऐसे में भाजपा की कोशिश है कि इस बिल के माध्यम से दलित वोटों को अपने पक्ष में बटोरा जाए। बीते गुरुवार को ही सरकार ने सुप्रीम कोर्ट के फैसले को पलटते हुए एससी-एसटी बिल संसद में पास करा लिया। जिसके बाद यह कानून अपने पुराने स्वरुप में ही लागू हो जाएगा। आगामी लोकसभा चुनाव को देखते हुए दलित वोटर भाजपा के नेतृत्व वाले एनडीए के लिए बेहद महत्वपूर्ण हैं, खासकर उत्तर प्रदेश और बिहार जैसे राज्यों में इनकी अहमियत काफी बढ़ जाती है।

उत्तर प्रदेश में जिस तरह सपा और बसपा ने भाजपा के खिलाफ हाथ मिलाया है और बिहार में राजद दलित नेताओं जीतनराम मांझी और उदय नारायण चौधरी को अपने साथ मिलाने में सफल रही है, उसके बाद से भाजपा की चुनौती काफी बढ़ गई है। यही वजह है कि अब भाजपा की सहयोगी पार्टी लोजपा ने दलित वोटरों को लुभाने का जिम्मा उठाया है। दलितों के साथ ही भाजपा पिछड़ी जातियों को भी अपने पक्ष में करने में जुटी है। हाल ही में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी जातिवादी आरक्षण की पैरवी की है और इसे देश के विकास के लिए इसे जरुरी बताया है। पीएम मोदी ने बाबासाहेब भीमराव अंबेडकर के सपनों को पूरा करने के लिए देश में जातिगत आरक्षण को जारी रखने की बात कही है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App