Birthday Special: पोस्ट ऑफिस में नौकरी करती थीं कमला तब आया था शादी का रिश्ता, उन दिनों साइकिल से दफ्तर जाते थे एलके आडवाणी

गृह मंत्री रहते हुए आडवाणी ने एक मौके पर कहा था कि मैं देश का गृह मंत्री जरूर हूं, पर मेरे घर की गृह मंत्री कमला ही हैं।

Author Edited By कीर्तिवर्धन मिश्र नई दिल्ली | Updated: November 8, 2020 12:30 PM
Lal Krishna Advani, BJP, Kamla Advaniलालकृष्ण अडवाणी नेताओं की उस जमात का हिस्सा थे, जो सार्वजनिक मौकों पर अपनी पत्नी के साथ दिख जाते थे। (फाइल फोटो)

भाजपा के पूर्व अध्यक्ष और अटल सरकार में उपप्रधानमंत्री के पद पर रह चुके लालकृष्ण आडवाणी का आज जन्मदिन है। वे 93 साल के हो गए हैं। सुबह से ही आडवाणी के लिए बधाइयों का तांता लग गया। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी इस मौके पर रविवार सुबह ही उन्हें बधाई देने पहुंचे। भारतीय राजनीति के भीष्म पितामाह कहलाए जाने वाले आडवाणी सिर्फ राजनीतिक जीवन ही नहीं, बल्कि निजी जीवन में भी काफी भाग्यशाली रहे हैं। बताया जाता है कि भाजपा में तो आडवाणी का कहा कभी टाला नहीं गया, पर घर पर उनकी पत्नी कमला आडवाणी का ही अनुशासन चलता था।

कमला आडवाणी का जन्म कमला जगतयानी के तौर पर पाकिस्तान के सिंध में हुआ था। उनका परिवार बंटवारे के बाद भारत आया था। शुरुआत से ही एक मध्यमवर्गीय परिवार के साये में रहीं, और पढ़ाई के बाद दिल्ली के पोस्ट ऑफिस में नौकरी शुरू की। यह वह समय था जब उन्हें लालकृष्ण आडवाणी के विवाह का प्रस्ताव मिला। उस समय पत्रकारिता के पेशे में शामिल पैंट-कमीज पहने, चश्मा लगाए एक अच्छी खासी लंबाई वाले आडवाणी तब साइकिल से दफ्तर जाया करते थे। इसके बाद दोनों का रिश्ता तय हो गया और 25 फरवरी 1965 के हुआ था।

आडवाणी भारतीय राजनीति के उन नेताओं में शामिल हैं, जो पत्नी के राजनीति में न होने के बावजूद उन्हें कई सार्वजनिक मौकों पर साथ लेकर ही चलते नजर आते थे। कमला के साथ एक खास बात रही कि वे लालकृष्ण की सेहत का ख्याल रखने के लिए उनके खानपान से लेकर उनसे मिलने वालों तक की लिस्ट तक पर नजर रखते थे। गृह मंत्री रहते हुए आडवाणी ने एक मौके पर कहा था कि मैं देश का गृह मंत्री जरूर हूं, पर मेरे घर की गृह मंत्री कमला ही हैं।

Next Stories
1 न्यूज एंकर ने सीजेआई को पत्र लिखा, अर्नब गोस्वामी के लिए मांगी सुरक्षा
2 आडवाणी का जन्मदिन मोदी ने बनाया खास! पहले ट्वीट से बधाई, फिर पहुंचे आवास, छुए पैर, फिर साथ काटा केक
3 4 साल पहले आज ही के दिन नोटबंदीः अपनी मूर्खता की तबाही देख सरकार भी भूल गई, मोदी जी तो Demonization का नाम नहीं लेते है- रवीश कुमार का पोस्ट
यह पढ़ा क्या?
X