ताज़ा खबर
 

Birthday Special: 12 साल में तेजी से बढ़ा अनुराग ठाकुर का सियासी कद, क्रिकेट और विवादों से रहा है पुराना नाता; अमित शाह के हैं करीबी

साल 2008 में अनुराग ने राजनीति में एंट्री ली और अपने पिता के राजनीतिक विरासत को आगे लगे गए। इसके बाद उनका राजनीतिक सफर का ग्राफ़ बहुत तेजी से आगे बढ़ा और वे आज वित्त राज्यमंत्री हैं।

Anurag Thakur, birthday special, political stature,controversy, BCCI chief, himachal pradesh, BJP, jansatta Birthday Special: वित्त राज्यमंत्री अनुराग ठाकुर का आज 46वां जन्मदिन है। (file)

देश के वित्त राज्यमंत्री अनुराग ठाकुर का आज 46वां जन्मदिन है। हिमाचल प्रदेश के हमीरपुर में 24 अक्टूबर 1974 को जन्मे अनुराग राजनीति में आने से पहले एक सैन्य अधिकारी थे। साल 2008 में अनुराग ने राजनीति में एंट्री ली और अपने पिता के राजनीतिक विरासत को आगे लगे गए। इसके बाद उनका राजनीतिक सफर का ग्राफ़ बहुत तेजी से आगे बढ़ा और वे आज वित्त राज्यमंत्री हैं।

अनुराग ने जालंधर के दोआबा कॉलेज से स्‍नातक की डिग्री हासिल की है। मई 2008 के लोकसभा चुनाव में वे पहली बार भाजपा से लोकसभा सदस्‍य निर्वाचित हुए। इसके बाद 2009 में दूसरी बार उन्‍हें लोकसभा सदस्‍य के रूप में चुना गया। राजनीति के अलावा अनुराग खेलों से भी जुड़े हुए हैं। 2001 में वे भारतीय जूनियर क्रिकेट टीम के चयनकर्ता बने थे। इसके बाद अनुराग हिमाचल प्रदेश क्रिकेट एसोशिएशन के अध्‍यक्ष बने। मई 2016 में अनुराग भारतीय क्रिकेट नियंत्रण बोर्ड (बीसीसीआई) के अध्यक्ष चुने गए। 26 जुलाई 2016 को ठाकुर भारतीय जनता पार्टी के पहले ऐसे सांसद बने, जिन्हें प्रादेशिक सेना में नियमित कमिशन्ड ऑफिसर बनाया गया।

अनुराग ठाकुर की वैवाहिक जीवन की अगर बात करें तो उन्होंने साल 2002 में शादी की थी। अनुराग रॉयल फैमिली में पैदा हुए ठीक उसी तरह उनकी पत्नी शेफाली भी एक रॉयल परिवार से संपर्क रखती हैं। शेफाली हिमाचल प्रदेश के लोक निर्माण विभाग PWD मंत्री रहे गुलाब सिंह ठाकुर की बेटी हैं। इनके दो बेटे जयादित्य और उदयवीर है।

अनुराग ठाकुर का विवादों से भी पुराना नाता रहा है। “लाल चौक जाएंगे, तिरंगा वहीं लहराएंगे” इसी नारे के साथ अनुराग ठाकुर ने 2011 में संकटग्रस्त कश्मीर के लाल चौक पर तिरंगा फहराकर राष्ट्रीय स्तर पर अपनी उपस्थिति को मज़बूत किया था। तब इस बात पर काफी विवाद भी हुआ था। इसी तरह दिल्ली विधानसभा चुनाव के दौरान रिठाला में हुई एक रैली में अनुराग ठाकुर के “देश के ग़द्दारों को गोली मारो सालों को” का नारा लगवाकर विवाद खड़ा कर दिया था।

अनुराग गृह मंत्री अमित शाह के बेहद करीबी माने जाते हैं। 2019 में चुनाव प्रचार के दौरान भाजपा के तत्कालीन राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने सार्वजनिक तौर पर अगली मोदी सरकार में उन्हें मंत्री बनाने का वादा किया था। 46 वर्षीय अनुराग ठाकुर के तेज़ी से बढते क़द ने ना सिर्फ उनके राजनैतिक सहयोगियों को आश्चर्यचकित कर दिया है बल्कि पार्टी में उनके पद को भी ऊंची छलांग दी है।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 आसमान में प्याज के दाम! क्यों बढ़ रहे, सरकार क्या कर रही और कैसे काबू होंगी कीमतें? समझें
2 COVID-19 Vaccine आ रही अगले साल! Bharat Biotech बोला- जून 2021 तक लॉन्च के लिए तैयार होगी COVAXIN
3 दिल्ली मेट्रो : यात्रियों के कार्ड में जुड़ी नई सुविधा
यह पढ़ा क्या?
X