ताज़ा खबर
 

डिप्टी सीएम का पद संवैधानिक नहीं, सदन बोले तेजस्वी यादव; तारकिशोर प्रसाद को भी हड़काया

बिहार विधानसभा में कार्यवाही के दौरान तेजस्वी यादव ने कहा कि हमलोग भी पहली बार मंत्री बने थे। लेकिन हर सवाल का जवाब देते थे, कोई बहाना नहीं बनाते थे।

राजद नेता तेजस्वी यादव ने बिहार सरकार में मंत्री रामसूरत राय के इस्तीफे की मांग की है। (फोटो – पीटीआई)

शनिवार को बिहार विधानसभा में जमकर हंगामा हुआ। बात इतनी बढ़ गई कि विधायक आपस में ही हाथपाई कर बैठे। शनिवार को बिहार विधानसभा में प्रतिपक्ष के नेता तेजस्वी यादव ने कहा कि उपमुख्यमंत्री का पद संवैधानिक नहीं होता है जबकि नेता प्रतिपक्ष का पद संवैधानिक होता है। राजद नेता के इस बयान पर सत्तापक्ष के विधायक भड़क गए। इतना ही नहीं तेजस्वी यादव ने बिहार के उपमुख्यमंत्री तारकिशोर प्रसाद को जमकर हड़काया।

दरअसल शनिवार को बिहार विधानसभा में कार्यवाही के दौरान तेजस्वी यादव ने कहा कि हमलोग भी पहली बार मंत्री बने थे। लेकिन हर सवाल का जवाब देते थे, कोई बहाना नहीं बनाते थे। आगे तेजस्वी ने कहा कि विरोधी दल का पद संवैधानिक पद है जबकि उपमुख्यमंत्री का पद संवैधानिक नहीं है। तेजस्वी के इतना कहते ही सत्तापक्ष के विधायक भड़क उठे और हल्ला करने लगे। सत्तापक्ष के विधायकों की तरफ मुखातिब होते हुए तेजस्वी ने कहा कि आपलोगों को क्या जानकारी है। ज्ञात हो कि 2015 में हुए विधानसभा चुनाव में जब जदयू और राजद गठबंधन को जीत मिली थी तो तेजस्वी यादव उपमुख्यमंत्री बनाए गए थे।

इसके अलावा बिहार सरकार के भू- राजस्व मंत्री रामसूरत राय के इस्तीफे की मांग करते हुए तेजस्वी ने कहा कि उनके पास सबूत है लेकिन यहां मौजूद कुछ लोग नहीं चाहते हैं कि लोगों के सामने साक्ष्य रखा जाए। इतना कहते ही तेजस्वी गुस्से में आ गए। तेजस्वी ने कहा कि सदन में कार्यस्थगन प्रस्ताव लाया गया है। सरकार को गंभीर मामले को सुनना ही पड़ेगा और कार्यवाही करनी ही पड़ेगी। बिहार में एकतरफ दलित और गरीब परिवार मारे जा रहे हैं। वहीं दूसरी तरफ सरकार संरक्षित मंत्री शराब की बिक्री करवा रहे हैं।

तेजस्वी के ऐसा कहने पर बिहार के उपमुख्यमंत्री तरकिशोर प्रसाद अपनी सीट से उठ खड़े हुए और कहने लगे कि जो विषय आज के लिए तय किया गया है सिर्फ उसपर ही बात होनी चाहिए। साथ ही तारकिशोर ने कहा कि सदन सभी सदस्यों के लिए है न की किसी एक सदस्य के लिए। इसपर तेजस्वी यादव ने कहा कि अब आसन को गाइड किया जा रहा है कि काम कैसे होगा। हालांकि बाद में विधानसभा अध्यक्ष विजय कुमार सिन्हा ने दोनों को शांत रहने की सलाह दी।

बता दें कि बिहार में विपक्षी पार्टी राजद भाजपा कोटे से मंत्री रामसूरत राय के इस्तीफे की मांग पर अड़ी है। राजद का कहना है कि मंत्री रामसूरत राय शराब की बिक्री करते हैं। सदन में इस मुद्दे पर शनिवार को हाथापाई और बहसबाजी भी हो चुकी है।

Next Stories
1 मोदी सरकार को वोट मत देना, इन्होंने पूरा देश लूट लिया है- किसान नेता राकेश टिकैत की अपील
2 उत्तराखंडः विधानसभा चुनाव लड़ना मुख्यमंत्री रावत के सामने बड़ी चुनौती! जानें- क्यों?
3 बंगाल: CM ममता के खिलाफ भाजपा ने सांसदों को भी बनाया उम्मीदवार, केंद्रीय मंत्री भी लड़ेंगे विधानसभा चुनाव
आज का राशिफल
X