ताज़ा खबर
 

बिहार: पहले चरण में 57 फीसद मतदान, महिलाओं ने मारी बाज़ी

बिहार विधानसभा चुनाव के पहले चरण में दस जिलों की कुल 49 विधानसभा सीटों पर चाक-चौबंद सुरक्षा व्यवस्था के बीच 57 फीसद मतदाताओं ने मतदान किया। खगड़िया जिले के चार विधानसभा..

Author पटना | Updated: October 13, 2015 10:18 AM
वोट देने लिए कतार में अपनी बारी की प्रतिक्षा करतीं महिलाएं। (पीटीआई फाइल फोटो)

बिहार विधानसभा चुनाव के पहले चरण में दस जिलों की कुल 49 विधानसभा सीटों पर चाक-चौबंद सुरक्षा व्यवस्था के बीच 57 फीसद मतदाताओं ने मतदान किया। खगड़िया जिले के चार विधानसभा क्षेत्रों में सबसे अधिक 61 फीसद मतदान हुआ। पहले चरण में 54 महिलाओं समेत 583 उम्मीदवार चुनाव मैदान में हैं। यह 2010 विधानसभा चुनाव के 50.85 फीसद से 6.15 फीसद अधिक है। मतदान के दौरान कहीं से भी किसी अप्रिय घटना का समाचार नहीं मिला है।

मुख्य निर्वाचन अधिकारी अजय वी नायक ने बताया कि बिहार विधानसभा चुनाव के प्रथम चरण के तहत समस्तीपुर, बेगूसराय, खगड़िया, भागलपुर, बांका, मुंगेर, लखीसराय, शेखपुरा, नवादा और जमुई जिले के 49 विधानसभा क्षेत्रों में सोमवार को शांतिपूर्ण मतदान हुआ। इस दौरान 57 फीसद मतदाताओं ने अपने मताधिकार का उपयोग किया। यह 2010 विधानसभा चुनाव के 50.85 फीसद से 6.15 फीसद अधिक है। उन्होंने बताया कि मतदान में पुरुषों की तुलना में महिलाओं की भागीदारी अधिक रही। कुल 59.5 फीसद महिला और 54.5 फीसद पुरुष मतदाताओं ने मतदान किया।

अपर मुख्य निर्वाचन अधिकारी आर लक्ष्मणन के साथ पत्रकारों को नायक ने बताया कि जमुई में लोजपा उम्मीदवार विजय सिंह पर हमले सहित कुछ अन्य शिकायतें मिली थीं। लेकिन प्रारंभिक सूचना के अनुसार ये शिकायतें सही नहीं मिलीं। उन्होंने बताया कि खगड़िया जिले के चार विधानसभा क्षेत्रों में सबसे अधिक 61 फीसद मतदाताओं ने अपने मताधिकार का उपयोग किया।

मुख्य निर्वाचन अधिकारी ने बताया कि समस्तीपुर जिले में 60 फीसद, बेगूसराय में 59 फीसद, भागलपुर में 56 फीसद, बांका में 58 फीसद, मुंगेर में 55 फीसद, लखीसराय में 54 फीसद, शेखपुरा में 55 फीसद, नवादा में 53 फीसद और जमुई जिले में 57 फीसद मतदाताओं ने अपने मताधिकार का उपयोग किया। उन्होंने बताया कि प्रथम चरण के मतदान में नौ मतदान केंद्रों पर मतदान बहिष्कार की सूचना मिली है।

नायक ने बताया कि मतदान के दौरान अब तक प्राप्त सूचना के मुताबिक 110 लोगों को गिरफ्तार किया गया जबकि 20 मोटरसाइकिलों समते 23 वाहन जब्त किए गए। उन्होंने बताया कि 108 साल की महारानी देवी ने तेघड़ा विधानसभा क्षेत्र के मतदान केंद्र संख्या 53 पर मतदान किया। मुंगेर जिले के एक मतदान केंद्र 96 साल के महेंद्र प्रसाद अपने परिवार के सदस्यों की मदद से एक व्हील चेयर पर बैठककर मतदान करने आए। नायक ने बताया कि 90 साल से अधिक आयु के दो अन्य लोगों को समस्तीपुर जिले में घोड़े पर सवार होकर आते देखा गया।

उन्होंने बताया कि सुबह सात बजे शुरू मतदान नक्सल प्रभावित इलाके में पड़ने वाले नौ विधानसभा क्षेत्रों में जहां शाम तीन बजे संपन्न हो गया, वहीं चार अन्य नक्सल प्रभावित विधानसभा क्षेत्र में मतदान शाम चार बजे खत्म हुआ। बाकी के विधानसभा क्षेत्रों में मतदान शाम पांच बजे तक हुआ।

बिहार के दस जिलों के कुल 49 विधानसभा क्षेत्रों में जहां सोमवार को मतदान हुआ, उनमें कुल सामान्य मतदाताओं की संख्या 1,35,55,260 थी और 17,079 सेवा मतदाता थे। सामान्य मतदाताओं में 72,37,253 पुरुष , 63,17,602 महिला और 405 तीसरे लिंग के थे। पहले चरण में भाग्य आजमा रहे 583 उम्मीदवारों के भाग्य का फैसला इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीनों (ईवीएम) में बंद हो गया है। इनमें 54 महिलाएं हैं।

बिहार में बसपा ने प्रथम चरण की इन 49 सीटों पर सबसे अधिक 41 उम्मीदवार उतारे थे। इसके अलावा भाजपा ने 27 उम्मीदवार, भाकपा ने 25, जद (एकी) ने 24, राजद ने 17, लोजपा ने 13, माकपा ने 12, कांग्रेस ने आठ, राष्ट्रीय लोक समता पार्टी और राकांपा ने छह-छह, अन्य दलों ने 210 उम्मीदवार चुनाव मैदान में उतारे थे थे। वहीं 194 निर्दलीय उम्मीदवार भी मैदान में हैं।

पहले चरण के चुनाव में जिन प्रमुख उम्मीदवारों के भाग्य का फैसला होना है, उनमें प्रदेश के वरिष्ठ मंत्री विजय चौधरी, विधानसभा में कांग्रेस विधायक दल के नेता सदानंद सिंह और लोजपा के प्रदेश अध्यक्ष पशुपति कुमार पारस शामिल हैं।

बिहार में 12 अक्तूबर से पांच नवंबर तक पांच चरणों में चुनाव होना है। मतगणना आठ नवंबर को होगी। 243 सदस्यीय मौजूदा बिहार विधानसभा का कार्यकाल 29 नवंबर को खत्म हो रहा है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories