ताज़ा खबर
 

PM नरेंद्र मोदी को खत लिखने वाले 49 सेलेब्स पर देशद्रोह केस होगा बंद, पुलिस बोली- दी गई झूठी शिकायत

पिछले हफ्ते जिन सेलेब्स के खिलाफ राजद्रोह का मामला दर्ज किया गया था, उनमें ऐक्टर और फिल्म कलाकार अपर्णा सेन, लेखक रामचंद्र गुहा और फिल्मकार श्याम बेनेगल के नाम शामिल हैं।

Bihar, Police, Sedition Case, 49 Celebrities, Open Letter, Prime Minister, Narendra Modi, July, Mob Killing, Muslims, Dalits, Minorities, Complainant, Sudhir Ojha, Advocate, Frivolous Complaints, Police, Aparna Sen, Ramchandra Guha, Shyam Benegal, National News, Hindi News, India News, Jansatta Newsजुलाई में श्याम बेनेगल, रामचंद्र गुहा और अपर्णा सेन ने PM को मॉब लिंचिंग केस पर चिट्ठी लिखी थी। (फाइल फोटो)

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को मॉब लिंचिंग पर खुला खत लिखने वाली 49 शख्सियतों के खिलाफ बिहार पुलिस ने राजद्रोह का मामला बंद करने का फैसला लिया है। मुज्जफरपुर के एसएसपी ने इस बाबत केस बंद करने का आदेश दे दिया है और कहा है कि इन सेलेब्स के खिलाफ दर्ज कराया गया मामला पूरी तरह से झूठा है। पुलिस ने इसके साथ ही बताया कि सभी शख्सियतों के खिलाफ ‘फर्जी’ शिकायतें देने वाले शिकायतकर्ता और वकील सुधीर ओझा के खिलाफ शिकायत दर्ज की जाएगी।

बुधवार (नौ अक्टूबर, 2019) को पुलिस प्रवक्ता जितेंद्र कुमार ने एक अंग्रेजी चैनल से कहा जिला पुलिस ने इस मामले को ‘जानबूझकर दी गई झूठी शिकायत’ बताया है और शिकायत देने वाले के खिलाफ कार्रवाई करने का आदेश दिया। यह शिकायत ‘महज प्रचार बंटोरने के मकसद से’ दी गई थी।

फर्जी शिकायत को लेकर आरोपी पर होगा केस- पुलिसः एक अधिकारी के हवाले से रिपोर्ट में आगे कहा- एसएसपी ने इन शख्सियतों के खिलाफ राजद्रोह का मामला बंद करने के लिए कहा है और बिना किसी कारण फर्जी शिकायत देने वाले पर मामला दर्ज करने को कहा है। एक से दो दिन के भीतर जांच अधिकारी इस मामले में स्थानीय कोर्ट को अपनी रिपोर्ट सौंप देगा।

मनमोहन, अमिताभ और ऋतिक पर भी पूर्व में केस कर चुका है आरोपीः इसी बीच, बिहार के उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने कहा है कि वह भी ओझा द्वारा फर्जी शिकायतें दाखिल करने का शिकार बन चुके हैं। शिकायतकर्ता को आदतन विवादी (Serial Litigant) करार देते हुए उन्होंने कहा- वह महज पब्लिसिटी पाने के लिए पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह, फिल्म अभिनेता अमिताभ बच्चन और ऋतिक रोशन के खिलाफ अखबारों की खबरों के आधार पर शिकायत तक दे चुका है।

‘BJP, RSS व मोदी को घसीटना ठीक नहीं’: डिप्टी सीएम यह भी बोले कि बीजेपी, आरएसएस या फिर नरेंद्र मोदी को इस मामले में घसीटना ठीक नहीं है। वैसे, इस मामले में पुलिसिया कार्रवाई तब हुई है, जब एक दिन पहले RSS चीफ मोहन भागवत ने विजयादशमी पर कहा था कि समाज को संविधान के दायरे में रहना चाहिए।

क्या है पूरा मामला?: दरअसल, जुलाई 2019 में इन शख्सियतों ने पीएम को एक चिट्ठी लिखी थी। उसमें मुस्लिमों, दलितों और अन्य अल्पसंख्यकों की भीड़ द्वारा हत्या किए जाने की घटनाओं पर तत्काल रोक के लिए पीएम से जरूरी कदम उठाने के लिए कहा गया था।

आरोपी का मोदी के मंत्री से कनेक्शन!: पिछले हफ्ते जिन सेलेब्स के खिलाफ राजद्रोह का मामला दर्ज किया गया था, उनमें ऐक्टर और फिल्म कलाकार अपर्णा सेन, लेखक रामचंद्र गुहा और फिल्मकार श्याम बेनेगल, अदूर गोपालकृष्णन, शुभा मुद्गल, सुमित्रा सेन, मणि रत्नम, रेवती और कोंकणा सेन समेत 49 शख्सियतों के नाम हैं। इन सभी के खिलाफ एफआईआर दर्ज होने के बाद खूब हो-हल्ला हुआ था। इन सेलेब्स के खिलाफ वकील सुधीर ओझा ने शिकायत दी थी। बताया गया कि मोदी सरकार में केंद्रीय मंत्री और लोक जनशक्ति पार्टी चीफ रामविलास पासवान से भी उसका कनेक्शन है।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 ‘अभी तो मैं जवान हूं…’ गाने से शरद पवार का BJP-शिवसेना पर वार, बोले- इनके सफाए तक चुप न बैठूंगा
2 गुजरातः 40 मिनट देर से पहुंची एंबुलेंस, CM विजय रूपाणी के मौसेरे भाई का निधन
3 UP के संभल का रहने वाला Sanaul Haq कैसे बन गया अल-कायदा का इंडिया चीफ? जानिए
ये पढ़ा क्या?
X