ताज़ा खबर
 

बिहार: महिला पार्षद ने मेयर के बेटे पर लगाया मीटिंग में आंख मारने का आरोप, सीएम नीतीश कुमार से मांगी मदद

महिला पार्षद ने बताया कि जब शिशिर ने उन्हें आंख मारी तो उन्होंने उसे अनदेखा कर दिया। लेकिन शिशिर ने उन्हें फिर से आंख मारी जिसके बाद उन्होंने इसकी शिकायत मेयर सीता साहू से की।

पटना नगर निगम की वॉर्ड काउंसिलर ने मेयर के बेटे पर छेड़छाड़ का आरोप लगाया है। (PC- ANI)

Bihar councilor Pinki Devi: पटना नगर निगम में बोर्ड की बैठक के दौरान कुछ ऐसा हुआ जिसकी कल्पना किसी ने नहीं की थी। वार्ड नंबर 21 की पार्षद ने मेयर सीता साहू के बेटे शिशिर पर अभद्रता करने और भद्दे इशारे करने का आरोप लगाया जिसके बाद नगर निगम में हंगामा हो गया। आरोप लगाते हुए महिला पार्षद ने इस मामले को सीएम नितीश कुमार तक ले जाने की बात कही है। बता दें पिछले कुछ समय से पटना नगर निगम विवादों के चलते कई गुटों में बंट चुका है। महिला पार्षद ने आरोप लगाया कि निगम की बैठक के दौरान शिशिर कुमार ने उन्हें आंख मारी।

महिला पार्षद  ने बताया कि जब शिशिर ने उन्हें आंख मारी तो उन्होंने उसे अनदेखा कर दिया। लेकिन शिशिर ने उन्हें फिर से आंख मारी जिसके बाद उन्होंने इसकी शिकायत मेयर सीता साहू से की। लेकिन मदद करने कि बजाय मेयर उन पर ही भड़क गईं और मेयर गुट के पार्षद इंद्रदीप चंद्रवंशी, सतीश गुप्ता उनके साथ धक्कामुक्की करने लगे। जिसके बाद महिला पार्षद ने इन सभी के खिलाफ कदमकुंआ थाना में केस दर्ज कराया।

महिला पार्षद  ने कहा “मैंने शिशिर से उनकी इस हरकत कि शिकायत उसकी मां से करने की चेतावनी दी, जिसका उसने जवाब देते हुए कहा ‘आगे बढ़ो’। जब मैंने नगर परिषद से उनके बेटे की शिकायत की, तो उन्होंने मुझ पर उल्टा अटेंसन पाने का आरोप लगाया। ज्सिके बाद मामला बिगड़ गया। मैं सीएम नीतीश कुमार से इस मामले को देखने का आग्रह करता हूं ताकि इस तरह की घटना दोबारा न हो।” महिला पार्षद ने शिशिर ने अलावा पार्षद सतीश गुप्ता और इंद्रदीप चंद्रवंशी पर भी गाली देने और गलत तरीके से उनका हाथ पकडऩे का आरोप लगाया है।

इस बारे में जब मेयर के बेटे से पूछा गया तो उन्होंने कहा कि उनके खिलाफ साजिश की जा रही है। महिला पार्षद को सशक्त स्थायी समिति से हटाया गया है जिसके बाद वे बदले की भावना से ऐसी अफवाह फैला रही हैं। इस मामले पर इंद्रदीप चंद्रवंशी ने भी कुछ ऐसा ही बयान दिया। उन्होंने कहा कि उनके ऊपर लगाए गए आरोप बेबुनियाद हैं। स्थायी समिति से हटाने के बाद प्रतिशोध में वे ऐसा कर रही हैं।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 ‘2000 के नोट जल्द हो जाएंगे अवैध?’ अर्थव्यवस्था से जुड़े सवालों पर वित्त मंत्री सीतारमण और पत्रकारों में यूं हुई नोकझोक
2 Chidambaram INX Media Case Highlights: पी.चिदंबरम की CBI की पूछताछ खत्म, बेटा का आरोप- पिता को फंसाया जा रहा
3 INDIAN RAILWAYS: इस रूट पर चलेगी IRCTC संचालित ‘प्राइवेट’ तेजस एक्सप्रेस, जानें टाइमिंग और बाकी डिटेल्स