बिहार: आज तुम्हें दुनिया से विदा ही कर देता हूं- चैम्बर में जज पर पिस्तौल तान बोला एसएचओ; एफ़आईआर में बताया वाक़या

दोनों पुलिस कर्मियों पर आईपीसी की धारा 323, 332, 353, 506, 34 समेत आर्म्स एक्ट के तहत एफआईआर दर्ज की गई है। वहीं, प्राथमिकी होने के बाद दोनों पुलिसकर्मियों को जेल भेजा गया है।

ADJ Avinash Kumar, Bihar

बिहार के मधुबनी में झंझारपुर न्यायालय के विधिक सेवा समिति के अध्यक्ष ADJ प्रथम अविनाश कुमार के चैंबर में गुरुवार को हैरत कर देने वाली घटना घटी। बता दें कि घोघरडीहा थाने के दो पुलिस पदाधिकारियों SHO गोपाल प्रसाद यादव और SI अभिमन्यु शर्मा ने अविनाश कुमार पर हमला कर दिया। जिसमें इसमें ADJ बुरी तरह से घायल हो गए।

गौरतलब है कि यह वाकया तब हुआ जब अदालत परिसर में सवा दो बजे वकील काम कर रहे थे। तभी अचानक दो पुलिस पदाधिकारी कोर्ट में घुसे और सीधे एडीजे अविनाश कुमार के कमरे में चले गए। इनमें एक घोघरडीहा थाने के थानेदार गोपाल कृष्ण और एक एएसआई अभिमन्यु कुमार थे।

दोनों एडीजे के कक्ष में जाते ही गाली-गलौज करना शुरू कर दिये। उन्होंने जज को कहा कि तुम्हारी औकात ही क्या है कि हमें तलब कर लिया। तुमको हम एडीजे नहीं मानते हैं।

घटना के बारे में कोर्ट में मौजूद वकील बलराम साह का कहना है कि दोनों पुलिसकर्मी ने जज को गंदी गालिया दीं और मारपीट भी की। इस दौरान दोनों ने कहा कि तुम्हारी हैसियत कैसे हो गयी एसपी के खिलाफ लिखने की। उन्होंने बताया कि चेंबर के अंदर पुलिसकर्मी अभिमन्यु कुमार ने जज अविनाश कुमार पर पिस्टल ताने हुआ था।

जानकारी के मुताबिक अविनाश कुमार वही जज है जिन्होंने मधुबनी के एसपी सत्यप्रकाश को कानून की जानकारी न होने पर कड़ी फटकार लगाते हुए उन्हें ट्रेनिंग के लिए भेजने का आदेश जारी किया था।

वहीं अपनी शिकायत में 45 वर्षीय अविनाश कुमार ने बताया कि मैं अपर जिला एवं सत्र न्यायाधीश के पद पर झंझारपुर न्यायालय में पदस्थापित हूं। 16 नवंबर 2021 को मुझे घोघरडीहा ब्लॉक की भोलीराही निवासी उषा देवी ने घोघरडीहा थानाध्यक्ष के खिलाफ शिकायत दी थी। जिसमें कहा था कि घोघरडीहा के थानाध्यक्ष ने उषा देवी के पति, वृद्ध सास व ससुर, ननद के खिलाफ झूठा मुकदमा दर्ज कर उन्हें फंसा दिया।

उन्होंने बताया, “मामले का सच जानने के लिए 16 नवंबर को ही थानाध्यक्ष को पक्ष रखने की जानकारी फोन पर दी गई। इसके बाद भी थानाध्यक्ष जानकारी देने में टालमटोल करते रहे। इसके बाद उन्हें गुरुवार को 11 बजे हाजिर होने के लिए कहा गया। दिए गए समय पर न आकर थानाध्यक्ष दोपहर 2 बजे मेरे चैंबर में पहुंचे।”

एडीजे ने बताया कि चैंबर में आते ही थानाध्यक्ष ऊंची आवाज में बात करते हुए गाली देने लगे। जब उनसे शांति से बात करने के लिए कहा तो उन्होंने कहा कि हम ऐसे ही बात करेंगे। यही मेरा अंदाज है। इसी बीच थानाध्यक्ष ने धमकी देते हुए कहा कि तुम मेरे बॉस (एसपी साहब) को नोटिस देकर कोर्ट बुलाते हो। तुम्हारी औकात क्या है? तुमने हमारे बॉस को परेशान कर दिया है, आज हम तुम्हें दुनिया से ही विदा कर देते हैं।

थानाध्यक्ष ने कहा कि हम एसपी साहब के सपोर्ट पर ही आये हैं। तुम्हें तुम्हारी औकात दिखाने। इसके बाद थानाध्यक्ष गोपाल कृष्ण और एसआई अभिमन्यु कुमार ने मारपीट शुरू कर दी। इतना ही नहीं थानाध्यक्ष ने अपनी सर्विस रिवॉल्वर तानते हुए कहा कि आज तुम्हें दुनिया से विदा कर देता हूं।

एडीजे ने बताया कि थानाध्यक्ष ने अपनी सर्विस रिवॉल्वर निकालकर मुझ पर तानते हुए कहा कि आज मैं तुम्हें दुनिया से रुखसत (विदा) ही कर देता हूं। बता दें कि एडीजे के चैंबर में शोर-शराबा सुनकर वहां वकील जमा हो गए और थानेदार और दरोगा की हरकतों को देख कोर्ट में ही उन्हें बंधक बना लिया।

पढें राष्ट्रीय समाचार (National News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

Next Story
CGBSE 12th Result 2016: छत्तीसगढ़ 12वीं बोर्ड में गुंजन शर्मा टॉपर, cgbse.net पर देखें नतीजेआईसीएसई बोर्ड रिजल्ट, आईसीएसई रिजल्ट, आईएससी रिजल्ट 2015, आईसीएसई कक्षा 10 रिजल्ट, आईएससी कक्षा 12 रिजल्ट, ICSE, ICSE Result, ICSE Result 2015, ICSE 10th Result, ICSE 10th Result 2015, ISC, ISC Result, ISC Result 2015, ISC 12th Result, ISC 12th Result 2015