ताज़ा खबर
 

पत्नी की जिद पर कम काम कर रहे अमित शाह, अपने नाइयों को कोरोना होने के बाद दाढ़ी भी बढ़ानी पड़ी

अमित शाह हाल ही में लगभग एक सप्ताह तक गुजरात में थे लेकिन इस दौरान वह किसी भी पार्टी के कार्यकर्ता से नहीं मिले। राज्य में अगले महीने की शुरुआत में विधानसभा की आठ सीटों के लिए उपचुनाव होने वाले हैं

Edited By Anil Kumar नई दिल्ली | Updated: October 25, 2020 7:56 AM
गृह मंत्री अमित शाह ने नवरात्रि पर्व के पहले दिन गांधीनगर के मनसा में माता मंदिर में पूजा अर्चना की थी। (फाइल फोटो)

केंद्रीय गृह मंत्री कोरोना से उबरने के बाद अभी पूरी तरह से चुनावी कार्यक्रम में सक्रिय नजर नहीं आ रहे हैं। पूर्व भाजपा अध्यक्ष ने अभी तक बिहार चुनाव में भी हिस्सा नहीं लिया है।

हालांकि 17 अक्टूबर को उनका पश्चिम बंगाल के सिलीगुड़ी में उत्तर बंगाल में यात्रा का कार्यक्रम है। अमित शाह यहां संगठन की बैठक में हिस्सा लेने पहुंचेंगे। इन सब के बीच अमित शाह ने मानसा में अपने परिवार के साथ नवरात्रि पूजा में भी शामिल हुए। अमित शाह हाल ही में लगभग एक सप्ताह तक गुजरात में थे लेकिन इस दौरान वह किसी भी पार्टी के कार्यकर्ता से नहीं मिले। राज्य में अगले महीने की शुरुआत में विधानसभा की आठ सीटों के लिए उपचुनाव होने वाले हैं।

इंडियन एक्सप्रेस के कॉलम इनसाइड ट्रैक में कूमी कपूर लिखती हैं कि चूंकि अमित शाह कुछ सप्ताह पहले ही कोरोना से उबरे हैं ऐसे में उनकी पत्नी सोनल शाह लगातार इस बात के जोर दे रही हैं कि वह अपने काम से कुछ दिन के लिए ब्रेक ले लें। ऐसे में गृह मंत्री पत्नी की जिद पर कम काम कर रहे हैं।

इन सब के बीच अमित शाह की दाढ़ी में सामान्य से अधिक बढ़ी हुई दिखाई दी। हालांकि ऐसा उनकी बीमारी की वजह से नहीं हुआ। इसके पीछे उनके नाइयों के बीमार होना कारण है। दिल्ली में रहने वाले उनके दोनों नाई कोरोना से संक्रमित हो गए थे। हालांकि, इसके बाद उन्होंने अपने बाल कटाने के साथ ही शेविंग भी करवाई।

मालूम हो कि तबीयत खराब होने के बाद अमित शाह 18 अगस्त को एम्स में एडमिट हुए थे। इलाज के बाद उन्हें 31 अगस्त को वहां से छुट्टी मिली थी। इससे पहले कोरोना संक्रमित होने के बाद गुड़गांव के मेदांता हॉस्पिटल में भी उनका इलाज हुआ था। अमित शाह ने 14 अगस्त को ट्वीट कर खुद के कोरोना नेगेटिव होने की जानकारी दी थी।

शाह ने ट्वीट में लिखा था कि आज मेरी कोरोना टेस्ट रिपोर्ट नेगेटिव आई है। मैं ईश्वर का धन्यवाद करता हूं और इस समय जिन लोगों ने मेरे स्वास्थ्यलाभ के लिए शुभकामनाएं देकर मेरा और मेरे परिजनों को ढाढस बंधाया उन सभी का ह्रदय से आभार व्यक्त करता हूँ। डॉक्टर्स की सलाह पर अभी कुछ और दिनों तक होम आइसोलेशन में रहूंगा।

Next Stories
1 प्रदूषण की चादर में लिपटी रही दिल्ली, वातावरण में चली ‘बहुत खराब’ दर्जे की हवा; 17 अन्य शहरों का भी यही हाल
2 बिहार में बहने लगी है बदलाव की हवा, जनता करेगी असली फैसला : तेजस्‍वी
3 संक्रमण का संकट: कोरोना ने छोटा किया रावण का कद, रामलीलाओं में आने के लिए सिर्फ 200 लोगों को मंजूरी
ये पढ़ा क्या?
X