कंगना रनौत पर पूर्व भाजपा विधायक ने दर्ज कराया केस, बोले- देश का मजाक बना दिया है

बता दें कि कंगना रनौत के भीख में आजादी मिलने के बयान पर अब उस चैनल ने विरोध जताया है, जिसके कार्यक्रम में उन्होंने ये बात कही थी। चैनल ने ये विरोध कंगना के बयान के दो दिन बाद जताया है।

Kangana Ranaut ,former BJP MLA,Kishor kumar munna
किशोर कुमार मुन्ना ने कहा कि कंगना के बयान से देश की एकता, अखंडता को खतरा है(फोटो सोर्स: PTI/यूट्यूब वीडियो ग्रैब)।

हाल ही में पद्म श्री पुरस्कार से सम्मानित हुईं कंगना रनौत द्वारा देश की आजादी को लेकर दिए बयान पर हंगामा मचा हुआ है। कांग्रेस ने इस बयान पर आपत्ति जताई है। वहीं अब भारतीय जनता पार्टी के एक पूर्व विधायक ने कंगना के खिलाफ बिहार के सहरसा में शिकायत दर्ज करवाई है। बता दें कि उन्होंने कंगना पर अपना गुस्सा जाहिर करते हुए कहा कि देश का मजाक बना दिया है।

बता दें कि सहरसा जिले सोनबरसा से पूर्व भाजपा विधायक किशोर कुमार मुन्ना ने कंगना के खिलाफ शिकायत दर्ज करवाने के बाद कहा कि “आज देश का मजाक उड़ाया जा रहा है। जाति, धर्म के नाम पर कोई भी कुछ बोलकर चला जाता है।” उन्होंने कंगना के आजादी वाले बयान पर कहा कि कंगना के बयान से देश की एकता, अखंडता और संप्रभुता को खतरा है। देश को आजादी साल 1947 में मिली। इसको चैलेंज करना दिवालिया मानसकिता का उदाहरण है।

उन्होंने कहा कि 2014 से एक ट्रेंड चल पड़ा है कि जिसके मन जो आए बोलता आ रहा है। देशद्रोह की बात, देश तोड़ने की बात, जाति, धर्म की बात कही जा रही है। यह देश के लिए खतरनाक है। इसलिए हमने इस मामले को लेकर मुख्य न्यायिक दंडाधिकारी के सामने आवेदन दिया है।

वहीं किशोर कुमार मुन्ना के अलावा जयपुर में कांग्रेस नेता ने भी कंगना के खिलाफ वैशाली नगर पुलिस थाने में शिकायत दर्ज करवाई है। शिकायत में कहा गया है कि कंगना रनौत के बयान से हमारे देश के संविधान और स्वतंत्रता सेनानियों का अपमान हुआ है।

क्या था कंगना का बयान: दरअसल बीते दिनों कंगना रनौत ने निजी न्यूज चैनल टाइम्स नाउ के एक कार्यक्रम में कहा था कि 1947 में हमें मिली आजादी भीख में मिली थी। भारत को सही मायने में आजादी साल 2014 में मिली है। बता दें कि कंगना के इस बयान को लेकर कई लोगों ने अपना विरोध जताया है। लोगों का कहना है कि कंगना ने अपने इस बयान से स्वतंत्रता संग्राम की लड़ाई लड़ने वाले सेनानियों का अपमान किया है।

पढें राष्ट्रीय समाचार (National News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

अपडेट