ताज़ा खबर
 

दावा: डोनाल्ड ट्रम्प जैसा है नीतीश का डिजिटल प्लेटफॉर्म, टू-वे VC की सुविधा, सर्वे भी इसी से कराने का प्लान

नीतीश के डिजिटल प्लेटफॉर्म की तुलना अमेरिका के राष्ट्रपति डॉनल्ड ट्रम्प के डिजिटल प्लेटफॉर्म से की जा रही है। इस प्लेटफॉर्म की की मददा से बड़ी वर्चुअल रैलियों से लेकर छोटी सार्वजनिक एवं प्राइवेट वीडियो मीटिंग तक सब किया जा सकता है।

Edited By सिद्धार्थ राय नई दिल्ली | Updated: September 3, 2020 12:24 PM
CM नीतीश कुमार के लिए डिजिटल प्लेटफॉर्म तैयार किया गया है। (indian express)

बिहार चुनाव के पहले राज्य के मुख्य मंत्री नीतीश कुमार के लिए डिजिटल प्लेटफॉर्म तैयार किया गया है। jdulive.com नाम के इस डिजिटल प्लेटफॉर्म की तुलना अमेरिका के राष्ट्रपति डॉनल्ड ट्रम्प के डिजिटल प्लेटफॉर्म से की जा रही है। इस प्लेटफॉर्म की की मददा से बड़ी वर्चुअल रैलियों से लेकर छोटी सार्वजनिक एवं प्राइवेट वीडियो मीटिंग तक सब किया जा सकता है। नीतीश कुमार, 7 सितंबर को अपनी पहली वर्चुअल चुनावी रैली ‘निश्चय संवाद’ को इसी प्लेटफॉर्म से संबोधित करेंगे।

राज्य के जल संसाधन मंत्री संजय कुमार झा ने बतया कि बिहार के एक आईआईटीयन की टीम ने भारत में अपनी तरह का पहला राजनीतिक डिजिटल मंच तैयार किया है। यह ‘मेक इन बिहार’ का उत्कृष्ट नमूना है। झा ने बताया कि इससे 1 लाख लोग लाइव जुड़ सकेंगे। आगे यह क्षमता 10 लाख तक बढ़ाई जा सकती है। लाइव कैम्पेन से जुड़ने के दो तरीके होंगे। एक ओपन रैली या मीटिंग जिसमें कोई भी जुड़ सकेगा। दूसरा प्राइवेट मीटिंग में जुड़ने के लिए संबंधित नेताओं व कार्यकर्ताओं को कोड उपलब्ध कराया जाएगा।

इसके अलावा इसमें एक टीवी का विकल्प भी है। यह बिहार ब्रांड टीवी के रूप में भी काम करेगा। इस पर बिहार और जदयू की उपलब्धियों से जुड़ी खबरों के साथ मुख्यमंत्री के भाषण और यात्राओं के वीडियो का संग्रह भी होगा। वहीं टू वे वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग की भी सुविधा होगी। गूगल मीट और जूम कॉल की तरह इस प्लेटफॉर्म के माध्यम से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग भी की जा सकती है। इस प्लेटफॉर्म के जरिये एकसाथ 500 लोग दोतरफा वीडियो संवाद कर सकते हैं। यह संख्या बढ़ सकती है।

इसके अलावा इसमें कार्यकर्ताओं का डेटाबेस जुड़ा होगा। जिसकी मदद से सर्वे या एक साथ लाखों कार्यकर्ताओं को एसएमएस भी भेजा जा सकता है। जदयू की वेबसाइट पर सीएम के भाषण, यात्राओं की जानकारी व बिहार की पॉजिटिव खबरें भी होंगी।

बता दें बिहार चुनाव को लेकर राज्य में सियासत गरम हो गई है। पूर्व मुख्यमंत्री जीतनराम मांझी महागठबंधन का साथ छोड़ एनडीए में शामिल हो गए हैं। मांझी के एनडीए में आने से एलजेपी की नाराजगी और बढ़ गई है और अब पार्टी जेडीयू के खिलाफ अपने उम्मीदवार खड़े कर सकती है। वहीं मांझी की खुद की पार्टी के दो नेताओं ने उनके खिलाफ मोर्चा खोल दिया है।

Next Stories
1 ‘संसद में लगा दीजिए ताला’, वरिष्ठ पत्रकार का मोदी सरकार पर तंज, ट्रोल्स बोले- इसका इलाज योगी जी के पास है
2 कोरोना से भारत में नवंबर तक होंगी पांच लाख मौतें, मास्क और दूरी का ख़्याल रखा तो बच सकते हैं दो लाख लोग- IHME का अनुमान
3 Unlock 4.0 Guidelines HIGHLIGHTS: दिल्ली में 9 सितंबर से खुल जाएंगे बार केजरीवाल सरकार के प्रस्ताव को उपराज्यपाल ने दी मंजूरी
ये पढ़ा क्या ?
X