ताज़ा खबर
 

2015 के बाद नीतीश ने छोड़ दी थी विकास की राजनीति, बोले पैनलिस्ट तो एंकर ने कहा- चुनाव परिणाम से पहले ही नीतीश को कोसना शुरू

संगीत रागी ने कहा कि नीतीश कुमार ने 2005 में सत्ता में आने के बाद 2015 तक विकास पर फोकस किया और विकास की राजनीति की नींव रख दी थी। लेकिन 2015 में राजद के साथ सरकार बनाने के बाद वह फिर से जातीय राजनीति की तरफ मुड़ गए।

Nitish Kumar bihar election bihar cm jduनीतीश कुमार बीते 15 साल से बिहार के सीएम पद पर काबिज हैं। (PTI Photo)

बिहार चुनाव के नतीजे 10 नवंबर को सामने आएंगे। उससे पहले विभिन्न टीवी चैनल्स के एग्जिट पोल में जो अनुमान लगाया गया है, उसके मुताबिक बिहार में महागठबंधन की सरकार बन सकती है। हालांकि सही तस्वीर को 10 नवंबर को ही साफ हो सकेगी। यही वजह है कि तेजस्वी यादव ने भी अपनी पार्टी के कार्यकर्ताओं को संयम बरतने की अपील की है।

बिहार चुनाव के संभावित नतीजों पर बात करते हुए आज तक न्यूज चैनल के एक कार्यक्रम में राजनीतिक विश्लेषक संगीत रागी ने महागठबंधन की सरकार में अपराध बढ़ने की आशंका जाहिर करते हुए नीतीश कुमार के कार्यकाल को ही सवालों के घेरे में खड़ा कर दिया। दरअसल संगीत रागी ने कहा कि नीतीश कुमार ने 2015 में जब लालू प्रसाद यादव की पार्टी के साथ मिलकर 18 महीने की सरकार चलायी थी, उसी सरकार में बिहार में अपहरण और मर्डर, लूटपाट की घटनाओं की पुनरावृत्ति होनी शुरू हो गई थी।

संगीत रागी ने कहा कि नीतीश कुमार ने 2005 में सत्ता में आने के बाद 2015 तक विकास पर फोकस किया और विकास की राजनीति की नींव रख दी थी। लेकिन 2015 में राजद के साथ सरकार बनाने के बाद वह जातीय राजनीति की तरफ मुड़ गए। संगीत रागी के ऐसा कहने पर एंकर ने तंज कसते हुए कहा कि ‘नीतीश अभी हारे भी नहीं है और चुनाव परिणाम से पहले ही आपने नीतीश को कोसना शुरू।’

एग्जिट पोल में भले ही महागठबंधन की जीत का अनुमान जताया गया है लेकिन जदयू और भाजपा नेता अपनी जीत के दावे कर रहे हैं और 10 नवंबर को पूरी तस्वीर साफ होने की बात कह रहे हैं। केन्द्रीय राज्यमंत्री अश्विनी चौबे ने एक न्यूज चैनल से बात करते हुए दावा किया है कि बिहार में हमारी सरकार बन रही है। अश्विनी चौबे ने ये भी कहा कि नीतीश कुमार केन्द्र में भी जा सकते हैं।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 मैं घोड़े को पानी तक ले जा सकता हूं, पानी पिला नहीं सकता- अपनी ही सरकार पर बीजेपी सांसद का तंज
2 देश के सबसे लंबे डोबरा-चांठी मोटरेबल झूला पुल का उद्घाटन, ढाई लाख लोगों को होगा फायदा; जानें क्या है खासियत
3 नोटबंदी से काला धन कम करने और पारदर्शिता को बढ़ावा मिला, नोटबंदी के चार साल पूरे होने पर बोले पीएम मोदी
यह पढ़ा क्या?
X