ताज़ा खबर
 

बिहार: डिप्टी सीएम ने पेश किया 2 लाख करोड़ से ज्यादा का बजट, सीएम नीतीश ने भी की खूब तारीफ; जानिए बजट की बड़ी बातें

अपने बजट भाषण के दौरान उपमुख्यमंत्री तारकिशोर प्रसाद ने कहा कि इस वित्तीय वर्ष में करीब 20 लाख लोगों को रोजगार उपलब्ध कराया जाएगा। इसके लिए उद्योग विभाग के बजट में दो सौ करोड़ रुपये का प्रावधान किया जा रहा है।

bihar , tarakishore prasad , budgetबिहार विधानमंडल में बजट पेश करने जाते उपमुख्यमंत्री तारकिशोर प्रसाद (फोटो – पीटीआई)

बिहार के उपमुख्यमंत्री तारा किशोर प्रसाद ने आज सोमवार को 2021-22 का वित्तीय बजट पेश किया। इस दौरान तारकिशोर प्रसाद ने कहा कि सात निश्चय पार्ट-2 के अनुसार काम किया जाएगा। इस बजट में करीब 2 लाख 18 हजार करोड़ का प्रावधान किया गया है। इस बजट के अनुसार इंटर पास पर अविवाहित बेटियों को 25 हजार और वहीँ स्नातक पास बेटियों को करीब 50 हजार रुपये दिए जाएंगे।  

उपमुख्यमंत्री तारकिशोर प्रसाद के द्वारा बजट पेश किए जाने के बाद नीतीश कुमार ने खूब तारीफ की। नीतीश कुमार ने कहा कि यह बजट संतुलित है और सभी वर्गों के हित को ध्यान में रखकर बनाया गया है। साथ ही उन्होंने कहा कि वर्ष 2005 से अब तक राज्य की अर्थव्यवस्था में विकास दर डबल डिजिट में रही है। उसे यह बजट और गति देगा।

अपने बजट भाषण के दौरान उपमुख्यमंत्री तारकिशोर प्रसाद ने कहा कि इस वित्तीय वर्ष में करीब 20 लाख लोगों को रोजगार उपलब्ध कराया जाएगा। इसके लिए उद्योग विभाग के बजट में दो सौ करोड़ रुपये का प्रावधान किया जा रहा है। साथ ही महिलाओं को उद्यमी बनाने के लिए विशेष योजना लाई जाएगी।महिलाओं के लिए अधिकतम पांच लाख रुपये अनुदान और अगला पांच लाख मात्र एक फीसदी ब्याज पर दिया जाएगा। 

इसके अलावा तारकिशोर प्रसाद ने कहा कि साल 2025 तक सात निश्चय -2 के अनुसार सभी सात निश्चय तय किए गए हैं। इसमें युवाओं को बेहतर प्रशिक्षण दिया जाएगा। उन्हें उद्यमी बनाने का प्रयास होगा। बाजार की मांग के अनुसार पुराने शिक्षण संस्थानों को भी आधुनिक बनाया जाएगा। इसके अलावा सभी आइटीआइ एवं पॉलीटेक्निक कॉलेजों को भी उत्कृष्ठ बनाया जाएगा। साथ ही हर जिले में एक मेगा स्किल सेंटर भी खुलेगा। जिसमें शिक्षण संस्थानों से दूर रहने वाले कारीगरों को प्रशिक्षित किया जाएगा।

साथ ही बजट भाषण के दौरान उपमुख्‍यमंत्री तारकिशोर प्रसाद ने कोरोना काल भी जिक्र किया। तारकिशोर प्रसाद ने कहा कि सरकार द्वारा कोविड 19 को नियंत्रण करने के लिए हर संभव कोशिश की गई। बाहर फंसे लोगों को वापस अपने राज्य लाया गया। प्रवासियों के खाते में 1000 रुपये दिए गए। इसके अलावा प्रखंड स्‍तर तक क्‍वारंटाइन सेंटर बनाए गए। साथ ही तारकिशोर प्रसाद ने कहा कि वैज्ञानिक कोरोना वायरस की वैक्‍सीन बनाने में भी सफल रहे। बिहार में टीकाकरण की रफ्तार सबसे तेज है। हालांकि कोरोना का संकट अभी पूरी तरह टला नहीं है। सरकार ने सेवाभाव के साथ राज्य के चिकित्साकर्मियों को एक महीने का अतिरिक्त वेतन का भुगतान किया। 

उपमुख्यमंत्री तारकिशोर प्रसाद ने बजट भाषण का समापन बेहद ही शायराना अंदाज में किया. उन्होंने कहा कि “उनकी शिकवा है कि मेरी उड़ान कुछ कम है। रख हौसला वह मंजर भी आएगा। प्यासे के पास चलकर समंदर भी आएगा। थककर न बैठ मंजिल के मुसाफिर। मंजिल भी मिलेगी और मिलने का मजा भी आएगा।”

Next Stories
1 Amazon Fab Phone Fest 2021 में मिल रही है फोन पर भारी छूट, वनप्लस व अन्य फोन पर पाएं 40% तक डिस्काउंट
2 ‘शाह को चिट्ठी लिख क्यों न कहा- निकालो इस सरकार को?’, धनखड़ से पत्रकार ने पूछा तो मिला जवाब- प्रभु जी को न बताऊंगा
3 चुनाव से पहले पुदुचेरी में गहराया सियासी संकट! फ्लोर टेस्ट से पहले कांग्रेस-द्रमुक गठबंधन के दो और विधायकों ने दिया इस्तीफा
ये पढ़ा क्या?
X