ताज़ा खबर
 

बिहार: चक्रवाती तूफान ने ली 42 लोगों की जान, 100 से ज़्यादा घायल

बिहार के पूर्णिया, मधेपुरा, सहरसा, मधुबनी, समस्तीपुर और दरभंगा जिलों में मंगलवार देर रात आई आंधी में 42 लोगों की मौत हो गई और 80 अन्य व्यक्ति घायल हो गए...
Author April 23, 2015 08:52 am
सरकार मृतक के आश्रितों को देगी चार लाख रुपए की अनुग्रह राशि, मुख्यमंत्री ने कहा, पहले से नहीं दी गई थी तूफान की चेतावनी।

बिहार के पूर्णिया, मधेपुरा, सहरसा, मधुबनी, समस्तीपुर और दरभंगा जिलों में मंगलवार देर रात आई आंधी में 42 लोगों की मौत हो गई और 80 अन्य व्यक्ति घायल हो गए। तूफान से बड़े पैमाने पर कच्चे मकानों और फसलों को भी नुकसान पहुंचा है। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने बुधवार को प्रभावित जिलों का हवाई सर्वेक्षण किया। उन्होंने बताया कि सरकार को तूफान की पहले से कोई जानकारी नहीं मिली थी।

बिहार आपदा प्रबंधन विभाग के प्रधान सचिव व्यासजी ने बुधवार को बताया कि मंगलवार देर रात आए चक्रवाती तूफान में प्रभावित हुए जिलों से अब तक प्राप्त जानकारी के मुताबिक 31 लोगों की मौत हुई है और करीब 80 लोग जख्मी हुए हैं। उन्होंने बताया कि तूफान के कारण सबसे अधिक 25 लोगों की मौत पूर्णिया जिले में हुई है। छह मौतें मधेपुरा और मधुबनी जिले में एक व्यक्ति की मौत तूफान की वजह से हुई है। व्यास जी ने बताया कि राज्य सरकार ने मृतकों के परिजनों को आपदा राहत कोष से अनुग्रह अनुदान के तौर पर चार लाख रुपए देने की घोषणा की है।

उन्होंने कहा कि इन जिलों में तूफान के कारण हुई क्षति का आकलन किए जाने के साथ प्रभावित लोगों के बीच जिला प्रशासन राहत और बचाव का काम कर रहा है। तूफान के कारण हजारों पेड़ उखड़ गए हैं। इससे कई जगह सड़क यातायात बाधित हुआ है। तूफान से बिना र्इंट के बने मकान और खेतों में लगी फसलों को भी नुकसान पहुंचा है।

भारतीय मौसम विभाग के निदेशक आरके गिरि ने बताया कि काल बैसाखी नाम से चर्चित नेपाल की ओर से आए उक्त चक्रवाती तूफान की गति 65 किलोमीटर प्रतिघंटा थी। तूफान से पूर्णिया से लेकर भागलपुर तक के जिले प्रभावित हुए।

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने राज्य के वरिष्ठ पदाधिकारियों के साथ प्रभावित जिलों का हवाई सर्वेक्षण किया। इससे पूर्व बिहार विधानमंडल के दोनों सदनों में इस आशय की जानकारी देते हुए नीतीश कुमार ने कहा कि मंगलवार रात उत्तर और उत्तर-पूर्व बिहार के पूर्णिया, दरभंगा, किशनगंज, कटिहार, मधुबनी, सहरसा, सुपौल, मधेपुरा, अररिया और भागलपुर जिलों में चक्रवाती तूफान और ओलावृष्टि से जानमाल और फसलों की क्षति पहुंची है।

उन्होंने कहा कि सरकार ने मृतक आश्रितों को तत्काल चार-चार लाख रुपए अनुग्रह अनुदान का भुगतान करने और प्रभावित जिलों में सर्वेक्षण कराकर प्रतिवेदन देने का निर्देश जिलाधिकारियों को दिया है। विधानमंडल परिसर में पत्रकारों ने मुख्यमंत्री से जब पूछा कि क्या मौसम विभाग ने इसकी पहले आशंका जताई थी तो उन्होंने कहा कि सरकार को इस बारे में कोई जानकारी उपलब्ध नहीं कराई गई थी।

* मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने किया प्रभावित जिलों का हवाई सर्वेक्षण
* सरकार मृतक के आश्रितों को देगी चार लाख रुपए की अनुग्रह राशि
* मुख्यमंत्री ने कहा, पहले से नहीं दी गई थी तूफान की चेतावनी

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App