ताज़ा खबर
 

Bihar: मिड डे मील दोबारा मांगने पर 5वीं की छात्रा को पीटा, विरोध करने पर पिता को मार डाला

शगिर की पत्‍नी रुखसाना खातून ने बताया कि 6 महीने पहले उनके बेटे की भी इसी तरह पिटाई की गई थी। सेकेंड क्‍लास में पढ़ने वाले चांद बाबू ने थोड़ी सी खिचड़ी और मांगी थी। इसी बात पर उसे स्‍कूल की छत से फेंक दिया गया था।

Author गोखलापुर (अररिया) | February 19, 2016 11:56 AM
मोहम्‍मद शागिर परिवार में अकेले कमाने वाले थे। उनके 5 बच्‍चे हैं, जिनकी उम्र 4 से 12 वर्ष के बीच है।

बिहार के अररिया से हैरान करने वाली खबर सामने आई है। यहां के गोखलापुर में में राजकीय प्राथमिक विद्यालय में दोबारा मिड डे मील मांगने पर 12 साल की लड़की की पिटाई की गई और जब उसके पिता ने विरोध किया तो इतना पीटा गया कि उसकी मौत हो गई।

जानकारी के मुताबिक, यह घटना 10 फरवरी को हुई। जब 5वीं क्‍लास में पढ़ने वाली खशीदा ने खाने के लिए मिड डे मील मांगा था। मासूम को थोड़ा खाना और देने की जगह उसकी पिटाई कर दी गई। उसने यह बात अपने पिता मोहम्‍मद शागिर को बताई तो उसने विरोध किया। इस पर पिता को बुरी तरह से पीटा गया, जिसके कुछ घंटे बाद उसकी मौत हो गई। इस घटना के बाद से स्‍कूल बंद है। आरोपी शिक्षक और रसोइया फरार हैं। शागिर के शव का पोस्‍टमार्टम कराया गया है, जिसकी रिपोर्ट अभी तक नहीं आई है। शागिर दिहाड़ी मजदूर था, उसके 5 बच्‍चे हैं, जिनकी उम्र 4 से 12 वर्ष के बीच है। शागिर की मौत के बाद पड़ोसी उसे परिवार को खाना दे रहे हैं।

शागिर की पत्‍नी रुखसाना खातून ने बताया कि 6 महीने पहले उनके बेटे की भी इसी तरह पिटाई की गई थी। सेकेंड क्‍लास में पढ़ने वाले चांद बाबू ने थोड़ी सी खिचड़ी और मांगी थी। इसी बात पर उसे स्‍कूल की छत से फेंक दिया गया था, जिसकी वजह से उसका सीधा पैर टूट गया था। शागिर की बेटी खशीदा ने बताया कि उसके पिता को जिस टीचर ने मारा था, उसका नाम जेडएन अंसारी है, जिसे लोग मस्‍तान के नाम से भी जानते हैं। वह चिल्‍ला था, ‘चीर देंगे’ और उसी ने शागिर को मारा था। शागिर की पत्‍नी रुखसाना ने बताया कि पड़ोसियों ने पुलिस को घटना की पूरी जानकारी दी थी, लेकिन पूरे दिन निकलने के बाद भी पुलिस नहीं आई।

Read Also: Bihar: अब RJD नेता की हत्‍या, देखें कैसे नीतीश के शासन में बढ़ रहा क्राइम का ग्राफ 

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App