बिहारः कांग्रेस ने तोड़ा लालू यादव की पार्टी से नाता, 2024 में 40 लोकसभा सीटों पर अकेले लड़ने का ऐलान

पार्टी ने 2024 में सभी 40 लोकसभा सीटों पर अकेले लड़ने का ऐलान किया है। बिहार कांग्रेस के प्रभारी भक्त चरण दास ने कहा कि आरजेडी ने गठबंधन का रिश्ता नहीं निभाया। हम दोनों सीटों पर उपचुनाव अपनी जीत के लिए लड़ रहे हैं।

Rahul Gandhi ,Tejaswi Yadav,Bihar
बिहार में दो सीटों पर उपचुनाव को लेकर कांग्रेस ने खुद को महागठबंधन से अलग कर लिया है(फोटो सोर्स :PTI)।

बिहार में कांग्रेस ने लालू यादव की राजद से नाता तोड़ लिया है। पार्टी ने 2024 में सभी 40 लोकसभा सीटों पर अकेले लड़ने का ऐलान किया है। बिहार कांग्रेस के प्रभारी भक्त चरण दास ने कहा कि आरजेडी ने गठबंधन का रिश्ता नहीं निभाया। हम दोनों सीटों पर उपचुनाव अपनी जीत के लिए लड़ रहे हैं। कांग्रेस के इस फैसले से 2024 में बीजेपी के खिलाफ महागठबंधन बनाने की कोशिशों को करारा झटका लगने की संभावना है।

सूत्रों का कहना है कि कुशेश्वर स्थान और तारापुर विधानसभा सीटों पर हो रहे उपचुनाव में सीट बंटवारे को लेकर कांग्रेस और आरजेडी के बीच तल्खी बढ़ गई थी। कांग्रेस ने आरोप लगाया था कि बिना उसकी सहमति के आरजेडी ने दोनों सीटों पर अपनी प्रत्याशी उतार दिए। इसके बाद कांग्रेस ने भी दोनों सीटों पर अपने उम्मीदवार उतार दिए। हालांकि, इस दौरान बातचीत चलती रही। लग रहा था कि विवाद का समाधान निकल आएगा।

लेकिन अब महागठबंधन की दोनों सहयोगी पार्टियों के उम्मीदवार एक-दूसरे के आमने-सामने हैं। हाल ही में कांग्रेस के बिहार प्रभारी भक्त चरण दास ने आरजेडी पर बीजेपी के साथ सांठगांठ करने का आरोप लगाया था। आरजेडी प्रवक्ता और सांसद मनोज झा ने पलटवार करते हुए कहा था कि भक्त चरणदास को बिहार की समझ नहीं है। उसके बाद से दोनों के बीच तल्खी और ज्यादा बढ़ती चली गई, जिसकी परिणिती आज गठबंधन को तोड़ने के ऐलान के रूप में सामने आई।

हालांकि, राजनीतिक गलियारों में इस टूट की आशंका पहले से लगाई जा रही थी। लेकिन कयास लगाए जा रहे थे कि सोनिया लालू के स्तर पर मामला सुलझ जाएगा। ऐसे में यह कांग्रेस आलाकमान सोनिया गांधी का आरजेडी सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव को बड़ा झटका माना जा रहा है। बिहार में कांग्रेस एवं आरजेडी का साथ करीब दशकों का है। कई बार दोनों के रास्‍ते अलग हुए लेकिन फिर से दोनों एक हो गए।

कांग्रेस की तरफ से गठबंधन तोड़ने का ऐलान ऐसे वक्त में हुआ है, जब कन्हैया कुमार हाथ को थाम चुके हैं। पप्पू यादव भी कांग्रेस की तरफ कदम बढ़ा रहे हैं। कन्हैया और पप्पू दोनों को ही लालू पसंद नहीं करते हैं। उधर कांग्रेस के गठबंधन तोड़ने के ऐलान पर आरजेडी के प्रदेश अध्यक्ष जगदानंद सिंह ने कहा कि आरजेडी अभी महागठबंधन का हिस्सा है। उन्होंने कहा कि 2024 अभी बहुत दूर है।

पढें राष्ट्रीय समाचार (National News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

Next Story
एक ही सिम से फ्री में चला सकते हैं दो नंबर, ये है तरीकाgirl
अपडेट