ताज़ा खबर
 

बिहार: नीतीश ने इस्तीफा सौंपा, विधानसभा भंग; राजग के नए नेता का चुनाव कल

मुख्यमंत्री की अध्यक्षता में निवर्तमान कैबिनेट की बैठक में राज्य विधानसभा भंग करने की सिफारिश की गई। राज्यपाल ने उनकी सिफारिश पर विधानसभा भंग करते हुए अगली मंत्रिपरिषद के गठन तक उन्हें पद पर बने रहने को कहा।

Author पटना | Updated: November 14, 2020 6:31 AM
बिहार के सीएम नीतीश कुमार हम पार्टी के नेता जीतनराम मांझी।

बिहार के राज्यपाल फागू चौहान ने शुक्रवार को मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और उनकी मंत्रिपरिषद के इस्तीफे को मंजूरी प्रदान करते हुए अगली मंत्रिपरिषद के गठन तक उन्हें पद पर (कार्यवाहक मुख्यमंत्री) बने रहने को कहा। राज्यपाल सचिवालय के बयान से यह जानकारी मिली है। इससे पहले बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने राजभवन जाकर राज्यपाल फागू चौहान को अपना इस्तीफा सौंप दिया। नीतीश को नया नेता चुनने के लिए राजग की बैठक 15 नवंबर को होगी।

राजभवन सचिवालय के बयान के अनुसार, बिहार मंत्रिपरिषद के निर्णय के बाद मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की सिफारिश पर राज्यपाल ने भारत के संविधान प्रदत्त अपनी शक्तियों का प्रयोग करते हुए विधानसभा को भंग कर दिया है। राज्यपाल ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और उनके मंत्रिपरिषद के त्यागपत्र को स्वीकृति प्रदान करते हुए अगली मंत्रिपरिषद के गठन तक उन्हें और उनके मंत्रिपरिषद के सदस्यों को अपने अपने पद पर बने रहने का अनुरोध किया है। इससे पहले मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की अध्यक्षता में निवर्तमान कैबिनेट की बैठक हुई जिसमें राज्य विधानसभा भंग करने की सिफारिश की गई। राजभवन सूत्रों ने बताया कि मुख्यमंत्री ने राज्यपाल से मुलाकात की और उन्हें इस्तीफा सौंपा।

उधर, जनता दल (एकी) नेता नीतीश कुमार को औपचारिक रूप से अपना नेता चुनने के लिए राजग विधायक दल की संयुक्त बैठक 15 नवंबर को होगी। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के आवास पर शुक्रवार को बिहार में राजग के चार घटक दलों – जद (एकी), भाजपा, हिंदुस्तानी अवाम मोर्चा (एचएएम) और विकासशील इंसान पार्टी (वीआइपी) के नेताओं की एक अनौपचारिक बैठक में यह फैसला किया गया। नीतीश ने कहा कि बैठक 15 नवंबर, रविवार को साढ़े 12 बजे होगी, जहां सभी बाकी निर्णय लिए जाएंगे। इससे पहले राज्य कैबिनेट की बैठक में नीतीश कुमार ने सभी मंत्रियों को धन्यवाद दिया। सूत्रों ने बताया कि मुख्यमंत्री ने कहा कि सभी मंत्रियों के कार्यों को हमेशा याद रखा जाएगा।

नीतीश ने हालांकि अपने आवास पर बैठक में क्या चर्चा हुई इसकी कोई स्पष्ट जानकारी नहीं दी, लेकिन सूत्रों ने बताया कि मंत्रिमंडल में हर घटक के प्रतिनिधि को शामिल किए जाने और विधानसभा के नए अध्यक्ष के चुनाव के संबंध में चर्चा की गई। ऐसी अटकलें हैं कि भाजपा एक ईबीसी (अति पिछड़ी जाति) या दलित को उपमुख्यमंत्री बना सकती है। हालांकि यह स्पष्ट नहीं है कि दिग्गज नेता सुशील कुमार मोदी को बदलने पर जोर दिया जाएगा या नहीं।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 दीपोत्सव पर दीयों से जगमग हुई राम की नगरी अयोध्या, 5,84,372 दीये जलाकर बनाया कीर्तिमान
2 बीजेपी सांसद ने नीतीश की शराबबंदी को बताया फेल, कानून में ढ‍िलाई की मांग  
3 अर्नब के शो में पाकिस्तानी कमर चीमा से बोले गौरव भाटिया- पाक सेना को भागने की ट्रेनिंग, पूर्व सैनिक ने कहा, पिटाई का ट्रेलर, पिक्चर अभी बाकी है
यह पढ़ा क्या?
X