ताज़ा खबर
 

प्रदूषण पर नीतीश सरकार की आपात बैठक, 15 साल पुरानी गाड़ियों पर लगाया बैन, इन सरकारी गाड़ियों पर भी गाज

चीफ सेक्रेट्री के मुताबिक, "बैन कल से अमल में आएगा और तभी अधिसूचना भी जारी कर दी जाएगी। यह व्यवस्था अगले आदेश तक जारी रहेगी।"

बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार। (फाइल फोटोः पीटीआई)

प्रदूषण पर देश की राजधानी दिल्ली से लेकर बिहार में सिस्टम हरकत में है। सोमवार को मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के नेतृत्व वाली JD(U)-BJP के गठबंधन वाली सरकार ने इस मसले पर आपातकालीन बैठक बुलाई। त्यौहारी मौसम के दौरान बढ़े प्रदूषण के स्तर पर इस दौरान न सिर्फ गहनता से चर्चा हुई बल्कि ऐक्शन के रूप में 15 साल पुरानी सभी सरकारी गाड़ियों पर पूरी तरह से बैन लगा दिया गया है।

मुख्यमंत्री की अध्यक्षता वाली बैठक के बाद राज्य के मुख्य सचिव दीपक कुमार ने पत्रकारों को बताया कि सरकारी वाहनों के अलावा 15 से पुरानी सभी कमर्शियल गाड़ियां भी बैन कर दी गई हैं। हालांकि, कमर्शियल गाड़ियों के लिए ये रोक सिर्फ पटना मेट्रोपॉलिटन क्षेत्र में ही लागू रहेगी।

उन्होंने यह भी बताया कि इस बैन से सभी निजी वाहनों को छूट दी गई है। ऐसे में मंगलवार से ऐसे गाड़ी के मालिकों को ताजा पल्यूशन टेस्ट कराने होंगे और उनके प्रमाण पत्र भी हासिल करने होंगे।

चीफ सेक्रेट्री के मुताबिक, “बैन कल से अमल में आएगा और तभी अधिसूचना भी जारी कर दी जाएगी। यह व्यवस्था अगले आदेश तक जारी रहेगी। सभी ऑटो-रिक्शा चालकों को भी फिर से अपने वाहनों की प्रदूषण संबंधी जांच कराने के निर्देश दिए गए हैं।”

उन्होंने यह भी बताया कि सरकार डीजल से चलने वाले ऑटो-रिक्शा को सीएनजी या फिर संभवतः बिजली से चलने वाली व्यवस्था में तब्दील करने पर विचार-विमर्श कर रही है। ऐसे फेरबदल के लिए सब्सिडी भी दी जाएगी। फिलहाल इस पर विचार जारी है। जल्द ही इससे जुड़ा ऐक्शन प्लान भी साझा किया जाएगा।

बकौल मुख्य सचिव, “बैठक में यह भी फैसला हुआ कि प्रदूषण पर लगाम लगाने के लिए निर्माण संबंधी सभी साइट्स को अच्छे से ढंका जाए और वहां कुछ-कुछ अंतराल पर पानी का छिड़काव हो। कंस्ट्रक्शन साइट्स पर इनका पालन हो, इस पर सरकार नजर बना कर रखेगी, जबकि नगर निगमों को भी ऐसा करने के निर्देश जारी किए गए हैं।”

Next Stories
1 ‘मेरे कोर्ट में काला बंदर आकर बैठा था, फैसले के बाद मेरे घर आ गया, फैसला भगवान ने कुबूल कर लिया’, ओवैसी बोले- जज ने किताब में किया था दावा
2 ‘जब तक हमारे खातों में नहीं देंगे सब्सिडी, जलाते रहेंगे पराली!’, RSS से जुड़े किसान संगठन की खुली चेतावनी
3 लूट लिया 60 लाख का सामान, जाते हुए लिखा- भाभी जी अच्छी हैं!
ये  पढ़ा क्या?
X