ताज़ा खबर
 

नीतीश के ‘हवाई दौरे’ की तस्वीर पर भड़के लोग, एक यूजर ने कहा- सिंघासन बाबू, जमीन पर भी उतर लिया करो

पानी में फंसे लोगों के लिये वायुसेना के हेलिकॉप्टर की मदद से खाने के पैकेट और दूसरी राहत सामग्री गिराई गयी। हेलिकॉप्टर से जायजा लेते हुए नीतीश कुमार की एक तस्वीर न्यूज़ एजेंसी एएनआई ने ट्विटर पर शेयर की जिसके बाद यूजर्स सीएम को ट्रोल करने लगे।

शहर का हवाई दौरा करते मुख्यमंत्री नीतीश कुमार। (pc-ANI)

Floods in Bihar, CM Nitish Kumar: बिहार में बीते कई दिनों से जारी भारी बारिश के चलते आम जनजीवन अस्त व्यस्त हो गया है। राज्य के 3 जिलों में पिछले 48 घंटों से हो रही बारिश से कम से करीब 28 लोगों की मौत हो गई है। राजधानी पटना में कई इलाकों में चार से छह फीट गहरे जलभराव से लोगों का जीवन बुरी तरह प्रभावित हुआ है। जलभराव की गंभीर स्थिति के बीच प्रदेश के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने सोमवार को हालात का जायजा लेने के लिए शहर का हवाई दौरा किया, वहीं पानी में फंसे लोगों के लिये वायुसेना के हेलिकॉप्टर की मदद से खाने के पैकेट और दूसरी राहत सामग्री गिराई गयी। हेलिकॉप्टर से जायजा लेते हुए नीतीश कुमार की एक तस्वीर न्यूज़ एजेंसी एएनआई ने ट्विटर पर शेयर की जिसके बाद यूजर्स सीएम को ट्रोल करने लगे।

एएनआई द्वारा पोस्ट की गई तस्वीर में नीतीश हेलिकॉप्टर से हालात का जायजा ले रहे हैं। इस तस्वीर को लेकर एक यूजर ने लिखा “कभी जमीन पर भी उतर लिया करो सिंघासन बाबू।” पल्लवी घोष ने लिखा “मुझे समझ नहीं आता हवाई दौरा करने का क्या मतलब है। जब तक आप जमीन पर नहीं उतरेंगे हालात की सही स्थिति पता नहीं चलेगी।” एक यूजर ने लिखा “ज्यादा दिन सत्ता में रहने से दिमाग काम करना बंद कर देता है।” एक यूजर ने लिखा “पानी जमीन पे है, आसमान पर नहीं।”

बता दें बिहार बाढ़ से हालत बदतर होते जा रहे हैं। अधिकारियों का कहना है कि 1975 की बाढ़ के बाद से राज्य की राजधानी में इस तरह के जलभराव नहीं देखा गया है। बिहार सरकार ने वायु सेना के दो हेलीकॉप्टरों से खाद्य पैकेट और दवाइयां वितरित और एयरड्रॉपिंग के लिए कहा है। अबतक 28 लोगों की जान जा चुकी है जबकि आम जनजीवन बुरी तरह प्रभावित हुआ है। पटना के जिलाधिकारी कुमार रवि के नेतृत्व में सोमवार को एसडीआरएफ के दल ने तीन दिनों से पटना के राजेंद्र नगर इलाके में जलजमाव के कारण घर में फंसे उप मुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी और उनके परिवार के सदस्यों को नौका से सुरक्षित जगह पहुंचाया गया। नाव से उतरने के बाद मीडियार्किमयों ने जब उप मुख्यमंत्री से पूछा कि उनके इलाके में इतना जलभराव था और उन्होंने किन मुश्किलों का सामना किया तो वह बिना जवाब दिये ही वहां से रवाना हो गए।

Next Stories
1 अरुण जेटली के परिवार ने पेंशन लेने से किया इनकार, इन कर्मचारियों के लिए करेगा डोनेट
2 Gandhi Jayanti 2019 Updates: गांधीजी ने ‘यंग इंडिया’ में लिखा था- हिंदू धर्म में ऐसे बहुत काम हैं जो मुझे पसंद नहीं
3 वैष्णो देवी के दर्शन को गए नवजोत सिंह सिद्धू से धक्कामुक्की, खिलाफ लगे नारे
ये पढ़ा क्या?
X