ताज़ा खबर
 

बिहार चुनाव के तीसरे चरण में 53.32 फीसद मतदान

पांच चरणों में हो रहे बिहार विधानसभा चुनाव के तीसरे चरण में छह जिलों के 50 विधानसभा क्षेत्रों में 53.32 फीसद मतदाताओं ने अपने मताधिकार का उपयोग किया..

Author पटना | October 29, 2015 1:30 AM
पटना के एक मतदान केंद्र पर वोट देने के लिए लाइन में खड़ी महिलाएं। (पीटीआई फाइल फोटो)

पांच चरणों में हो रहे बिहार विधानसभा चुनाव के तीसरे चरण में बुधवार को छह जिलों के 50 विधानसभा क्षेत्रों में चाक-चौबंद सुरक्षा व्यवस्था के बीच 53.32 फीसद मतदाताओं ने अपने मताधिकार का उपयोग किया।

मुख्य निर्वाचन अधिकारी अजय वी नायक ने बताया कि बिहार विधानसभा चुनाव के तीसरे चरण के तहत सारण, वैशाली, नालंदा, पटना, भोजपुर और बक्सर के 50 विधानसभा क्षेत्रों में कड़ी सुरक्षा के बीच 53.32 फीसद मतदाताओं ने अपने मताधिकार का उपयोग किया जबकि 2010 के विधानसभा चुनाव में मतदान फीसद 50.08 रहा था। उन्होंने बताया कि मतदान निष्पक्ष ढंग से शांतिपूर्ण माहौल में संपन्न हुआ।

उन्होंने बताया कि तीसरे चरण के मतदान का फीसद पहले दो चरणों के मतदान फीसद से कम रहा है। पहले चरण में 12 अक्तूबर को जहां मतदान फीसद 57 फीसद रहा था वहीं 16 अक्तूबर को यह 54.5 फीसद रहा था।

नायक ने बताया कि बक्सर जिले में सबसे अधिक 56.58 फीसद मतदाताओं ने अपने मताधिकार का प्रयोग किया जबकि पटना जिले में सबसे कम 51.82 फीसद वोटरों ने वोट डाले। उन्होंने बताया कि इनके अलावा सारण, वैशाली, नालंदा और भोजपुर जिलों में मतदान का फीसद क्रमश: 52.50, 54.82, 54.11 और 53.30 रहा।

नायक ने बताया कि तीसरे चरण में महिलाओं की भागीदारी पुरुषों की तुलना में 1.5 फीसद अधिक रही। पहले और दूसरे चरण में भी महिलाओं ने पुरुषों को पछाड़ दिया था। उन्होंने बताया कि सारण जिले के तरैया विधानसभा क्षेत्र में मतदान केंद्र संख्या 101 पर 123 साल की एक महिला ने अपने मताधिकार का प्रयोग किया।

नायक ने बताया कि बिहार विधानसभा के तीसरे चरण के मतदान के दौरान कुल 92 व्हील चेयर और 40 ई रिक्शा का नि:शक्त मतदाताओं की सुविधा के लिए पहली बार उपयोग किया गया। उन्होंने बताया कि तीसरे चरण में 59 व्यक्तियों को गिरफ्तार किया गया, जबकि 38 मोटरसाइकिल, दो देशी कट्टे और 6 कारतूस जब्त किए गए।

तीसरे चरण के मतदान के बाद जिन प्रमुख उम्मीदवारों का भाग्य इवीएम में सील हो गया उनमें बिहार विधानसभा उपाध्यक्ष अमरेंद्र प्रताप सिंह, राजद प्रमुख लालू प्रसाद के दोनों पुत्र तेज प्रताप यादव (महुआ) और तेजस्वी यादव (राघोपुर), बिहार के मंत्री श्रवण कुमार (नालंदा) व श्याम रजक (फुलवारीशरीफ), पटना साहिब से पूर्व मंत्री और बिहार विधानसभा में विपक्ष के नेता नंदकिशोर यादव, बिहार विधानसभा में भाजपा के मुख्य सचेतक अरुण कुमार सिन्हा (कुम्हरार), पूर्व मंत्री सत्यदेव नारायण आर्य, पूर्व मंत्री हरिनारायण सिंह, गौतम सिंह, ददन सिंह यादव, विजय शंकर दूबे, जेल में बंद पूर्व जद (एकी) बाहुबली विधायक अनंत सिंह जो कि इसबार निर्दलीय उम्मीदवार के तौर पर अपना भाग्य आजमा रहे हैं आदि शामिल हैं।

साल 2010 के बिहार विधानसभा चुनाव में इन विधानसभा क्षेत्रों में प्रदेश में वर्तमान में सत्ताधारी पार्टी जद (एकी) ने सबसे अधिक 23 सीटें जीती थीं और उस समय जद (एकी) की सहयोगी रही भाजपा ने उसके साथ चुनाव लड़कर 19 सीटों पर विजय हासिल की थी। राजद के उम्मीदवार सीटों पर ही विजयी रहे थे।

बदले समीकरणों के बीच इस बार भाजपा जहां लोजपा, रालोसपा और हम सेक्युलर के साथ मिलकर चुनाव लड़ रही है वहीं महासमर में उसका मुकाबला जद (एकी), राजद और कांग्रेस के महागठबंधन के साथ है। भाकपा पांच अन्य वामदलों के साथ चुनावी समर में है। मुलायम सिंह यादव का दल समाजवादी पार्टी शरद पवार की पार्टी राकांपा सहित चार अन्य दलों के साथ तीसरा मोर्चा बनाकर इस बार चुनावी मैदान में उतरी थी। लेकिन बाद में राकांपा तीसरे मोर्चे से अलग हो गई।

इस बार के बिहार विधानसभा चुनाव में इन 50 विधानसभा क्षेत्रों में राजद ने 25, जद (एकी) ने 18 और कांग्रेस ने सात सीटों पर अपने-अपने उम्मीदवार उतारे हैं, जबकि राजग में शामिल भाजपा, लोजपा, रालोसपा एवं हम सेक्युलर ने क्रमश: 34, 10, चार और दो सीटों पर अपने-अपने उम्मीदवार चुनावी मैदान में उतारे हैं।

बुधवार को बांका और चकाई विधानसभा क्षेत्रों के क्रमश: मतदान केंद्र संख्या 131 और 188 पर पुनर्मतदान में शाम पांच बजे तक क्रमश: 71.34 फीसद और 75.57 फीसद मतदाताओं ने अपने मताधिकार का उपयोग किया।

बिहार विधानसभा का चुनाव 12 अक्तूबर से पांच नवंबर के बीच पांच चरणों में चुनाव होना है। 243 सदस्यीय विधानसभा की 81 सीटों पर पहले दो चरणों में मतदान हो चुका है। सभी चरणों की मतगणना आठ नवंबर को होगी। 243 सदस्यीय मौजूदा बिहार विधानसभा का कार्यकाल 29 नवंबर को खत्म हो रहा है।

लगातार ब्रेकिंग न्‍यूज, अपडेट्स, एनालिसिस, ब्‍लॉग पढ़ने के लिए आप हमारा फेसबुक पेज लाइक करेंगूगल प्लस पर हमसे जुड़ें  और ट्विटर पर भी हमें फॉलो करें

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App