ताज़ा खबर
 

बिहार ऐंबुलेंसः भाजपा प्रवक्ता बोले, पप्पू यादव केवल अव्यवस्था फैला रहे, ऐंकर ने कहा- पप्पू यादव पर लेख नहीं लिखना है

बिहार के सारण से लोकसभा सांसद राजीव प्रताप रूडी की एक जमीन पर एंबुलेंस के एक बेड़े के बरामद होने के बाद भाजपा सांसद और जन अधिकार पार्टी के प्रमुख पप्पू यादव के बीच बहस छिड़ गई है।

पप्पू यादव और राजीव प्रताप रूडी के बीच बहस छिड़ गई है। (पीटीआई)।

न्यूज 18 बिहार पर डिबेट में बीजेपी नेता कहने लगे कि ड्राइवर के चलते एंबुलेंस खड़ी थीं। कहीं इस एंबुलेंस की आवश्यकता हो तो आप इसका इस्तेमाल कर सकते हैं। डिबेट में बीजेपी नेता कहने लगे कि राज्य में पप्पू यादव सिर्फ अव्यवस्था फैलाने का काम कर रहे हैं। इस पर टोकते हुए एंकर ने कहा कि पप्पू यादव पर लेख नहीं लिखना है। आप बताइए कि ये एंबुलेंस वहां कर क्या रही थीं?

बता दें कि बिहार के सारण से लोकसभा सांसद राजीव प्रताप रूडी की एक जमीन पर एंबुलेंस के एक बेड़े के बरामद होने के बाद भाजपा सांसद और जन अधिकार पार्टी के प्रमुख पप्पू यादव के बीच बहस छिड़ गई है। पूर्व सांसद पप्पू यादव ने यह जानने की मांग की है कि एंबुलेंस को इस तरह क्यों रखा गया था, जब जिला और राज्य कोविड मामलों में भारी वृद्धि से जूझ रहे हैं, और चिकित्सा संसाधन जैसे एम्बुलेंस, ड्रग्स और ऑक्सीजन की आपूर्ति कम है?

पप्पू यादव ने कहा, “यहां 30 से अधिक एम्बुलेंस हैं। पहले इससे अधिक थीं, लेकिन उन्हें यहां से हटा दिया गया है। कुल मिलाकर लगभग 100 एम्बुलेंस पार्क की गई थीं। हम जानना चाहते हैं कि उनका उपयोग क्यों नहीं किया जा रहा है … यह रूडीजी या पप्पू के बारे में नहीं है … यह बिहार और बिहार के लोगों के बारे में है।”

मामले पर राजीव प्रताप रूडी ने कहा कि एंबुलेंस ड्राइवरों की कमी के कारण खड़ी थीं। उन्होंने कहा, “60, 70 या 100 एम्बुलेंस नहीं हैं, लेकिन केवल 20 हैं। और उनका उपयोग नहीं किया जा रहा है क्योंकि हमारे पास ड्राइवर नहीं हैं। पप्पू यादव … आप सभी एम्बुलेंस ले सकते हैं, लेकिन सारण के लोगों से वादा करें कि आप उन सभी के लिए ड्राइवर का इंतजाम करेंगे। ”

शनिवार को यादव कुछ लोगों द्वारा घिरे देखे गए। जिनके पास ड्राइविंग लाइसेंस था। इससे पहले शुक्रवार को यादव बिहार के सारण जिले रूढी के पैतृक गाँव – मढ़ौरा पहुंचे। जहां उन्होंने राजीव प्रताप रूडी के स्वामित्व वाली जमीन पर खड़ी एम्बुलेंस से कवर हटाए।

बता दें कि बिहार में पिछले 24 घंटों में 13,000 नए कोविड मामले सामने आए और 62 मौतें हुईं। सक्रिय मामलों की संख्य 1.15 लाख से अधिक है, और वायरस के कारण 3,000 से अधिक लोग मारे गए हैं। बुधवार को मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा कि राज्य में 15 मई तक लॉकडाउन रहेगा।

Next Stories
1 कोरोना संकट के दौरान आलोचनाओं को दबाने में लगे मोदी, लैंसेट के संपादकीय में तीखा प्रहार
2 “अपने बूते पर चपरासी बन जाओ, तो बड़ी चीज होगी”, खराब रिजल्ट पर जब बेटे को वीपी सिंह ने लगा दी थी फटकार; जानें- पूरा किस्सा
3 “5 मिनट में 100 मानहानि केस रद्द करा दिए थे”, जब बोले थे BJP के स्वामी- आप भी डालकर देखें, क्या हाल होता है; हंसने लगे थे India TV के रजत शर्मा
ये पढ़ा क्या?
X