ताज़ा खबर
 

बाइडेन की टीम में शामिल समीरा फाजिली का चचेरा भाई हो चुका है गिरफ्तार, PSA भी लगा

समीरा फाजिली के भाई की गिरफ़्तारी का मुद्दा अमेरिकन कांग्रेस में भी उठाया गया था। अपने भाई मुबीन शाह से मिलने के लिए समीरा आगरा भी गयीं थी। हालाँकि अमेरिकन कांग्रेस में गिरफ़्तारी का मुद्दा उठने के दो दिन बाद ही मुबीन शाह को जेल से रिहा कर दिया गया था और उनपर लगा पीएसए एक्ट भी हटा लिया गया था।

sameera fazili, USA , JO Bidenअमेरिका में राष्ट्रीय आर्थिक परिषद् (एनईसी) के उप निदेशक समीरा फाजिली (फोटो – ट्विटर / sameerafazili)

अमेरिका के नवनिर्वाचित राष्ट्रपति जो बाइडेन की टीम में शामिल भारतवंशी समीरा फाजिली का संबंध जम्मू कश्मीर से हैं। 2019 में उनके भाई को जम्मू कश्मीर में गिरफ्तार किया गया था। समीरा फाजिली के भाई मुबीन शाह के ऊपर जम्मू कश्मीर पुलिस ने नागरिक सुरक्षा कानून के तहत केस दर्ज किया था। समीरा को अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन ने राष्ट्रीय आर्थिक परिषद् (एनईसी) के उप निदेशक के रूप में चुना है। समीरा इससे पहले ओबामा प्रशासन में एनईसी में सलाहकार भी रह चुकी हैं।

समीरा फाजिली के भाई मुबीन शाह को अगस्त 2019 में जम्मू कश्मीर में आर्टिकल 370 के हटने के बाद गिरफ्तार किया गया था। हालाँकि बाद में दिसंबर 2019 में उन्हें रिहा कर दिया गया था और उनपर लगा पीएसए एक्ट भी हटा दिया गया था। शाह की गिरफ़्तारी के बाद समीरा और उनकी बहनों ने अपने भाई का पता लगाने के लिए कई भारत में कई वरीय अधिकारियों को फ़ोन भी किया था। हालाँकि वरीय अधिकारियों ने समीरा को बस इतना बताया था कि उनके भाई मुबीन शाह आगरा की जेल में बंद हैं। 

शाह की गिरफ़्तारी पर समीरा की बहन यूसरा ने कहा था कि कश्मीर में पैसा, परिवार और पद मायने नहीं रखता है यहाँ कभी भी कुछ भी हो सकता है। साथ ही यूसरा ने कहा था कि कश्मीर में सेना के जवान रात में भी घर पर छापे मार रहे हैं और जवान लड़कों को बिस्तरों तक से उठा कर ले जा रहे हैं। साथ ही यूसरा ने कहा था कि मेरे भाई शाह की गिरफ़्तारी भी इसी का एक उदहारण है। यूसरा ने इंडियन एक्सप्रेस से बातचीत में कहा था कि मेरा भाई ना तो एक राजनेता था और ना ही आजादी की मांग करने वाला था। वह तो एक व्यापारी है जो कश्मीर में लोगों को आर्थिक अवसर उपलब्ध कराना चाहता है।

समीरा फाजिली के भाई की गिरफ़्तारी का मुद्दा अमेरिकन कांग्रेस में भी उठाया गया था। अपने भाई मुबीन शाह से मिलने के लिए समीरा आगरा भी गयीं थी। हालाँकि अमेरिकन कांग्रेस में गिरफ़्तारी का मुद्दा उठने के दो दिन बाद ही मुबीन शाह को जेल से रिहा कर दिया गया था और उनपर लगा पीएसए एक्ट भी हटा लिया गया था। हालाँकि पिछले साल जम्मू कश्मीर पुलिस ने एकबार फिर से मुबीन शाह के खिलाफ केस दर्ज किया था और उसकी गिरफ़्तारी की कोशिश भी कर रही थी। 

जो बाइडेन के टीम में शामिल होने पर समीरा फाजिली के भाई मुबीन शाह ने ख़ुशी व्यक्त किया है। मुबीन ने द सन्डे एक्सप्रेस को बताया कि हम बेहद ही खुश हैं कि समीरा ने संयुक्त राज्य अमेरिका प्रशासन में महत्वपूर्ण पद हासिल किया है। समीरा के माता पिता 1970 के दशक में ही अमेरिका चले गए थे। समीरा ने अपनी पढाई हार्वर्ड और येल यूनिवर्सिटी से की है। हालाँकि समीरा के अलावा जो जो बाइडेन के टीम में एक और कश्मीरी हैं। व्हाइट हाउस की डिजिटल पार्टनरशिप मैनेजर आयशा शाह का भी ताल्लुक कश्मीर से ही है।

Next Stories
1 सुभाष जयंती: कोलकाता में गेट पर बीजेपी कार्यकर्ताओं को बांटे जा रहे थे सरकारी कार्यक्रम के पास, जय श्रीराम के नारे पर बीजेपी बंटी
2 दिल्ली पुलिस ने दी ट्रैक्टर परेड निकालने की इजाजत, किसान संगठनों ने कहा, मार्गों पर बनी सहमति
3 अर्नब चैट विवादः रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा, सेना के बारे में इस तरह की बात ग़लत
ये पढ़ा क्या?
X