ताज़ा खबर
 

दरियागंज हिंसा मामले में भीम आर्मी चीफ को मिली जमानत, अदालत ने इस आधार पर दी मंजूरी

कोर्ट ने आजाद से कहा है कि वह दिल्ली में 16 फरवरी तक कोई भी विरोध प्रदर्शन नहीं करेंगे।

Author Edited By मोहित नई दिल्ली | Updated: January 15, 2020 7:26 PM
भीम आर्मी प्रमुख चंद्रशेखर आजाद। फोटो: Indian Express

संशोधित नागरिकता कानून (सीएए) के खिलाफ दिल्ली के दरियागंज इलाके में हुई हिंसा के मामले में गिरफ्तार भीम आर्मी प्रमुख चंद्रशेखर आजाद को बुधवार को जमानत मिल गई। दिल्ली की तीस हजारी कोर्ट ने आजाद को जमानत की मंजूरी दे दी। जमानत देते वक्त कोर्ट ने उनसे कहा कि वे दिल्ली में विधानसभा चुनाव के चलते चार सप्ताह तक राजधानी न आए और कोई धरना न दें। कोर्ट ने उनसे कहा है कि वह दिल्ली में 16 फरवरी तक कोई भी विरोध प्रदर्शन नहीं करेंगे।

सुनवाई के दौरान उन्हें कोर्ट ने फटकार भी लगाई। कोर्ट ने कहा कि भीम आर्मी चीफ को संविधान और प्रधानमंत्री का सम्मान करना चाहिए। जो समूह विरोध प्रदर्शन करता है उसी पर सार्वजनिक संपत्ति को नुकसान पहुंचाने का आरोप भी लगाया जाता है। ऐसे में दरियागंज हिंसा में जो भी नुकसान हुआ उसकी जिम्मेदारी भीम आर्मी की है।’

इससे पहले मंगलवार को उनकी जमानत याचिका पर सुनवाई के दौरान कोर्ट ने दिल्ली पुलिस को फटकार लगाई थी। कोर्ट ने कहा कि विरोध प्रदर्शन करना हर किसी का अधिकार है, आप ऐसा बर्ताव कर रहे हैं जैसे जामा मस्जिद पाकिस्तान में हो? हालांकि इस दौरान दिल्ली पुलिस की तरफ से कहा गया कि ड्रोन फुटेज में सामने आया है कि चंद्रशेखर आजाद लोगों को अपने भाषण के जरिए भड़का रहे थे। कोर्ट ने कहा कि दिल्ली पुलिस ने इस मामले में अबतक सबूत पेश नहीं किए हैं।

बता दें कि भीम आर्मी चीफ ने 20 दिसंबर को दिल्ली की जामा मस्जिद से जंतर-मंतर तक मार्च निकालने की घोषणा की थी। इसके लिए उन्होंने पुलिस से अनुमति नहीं ली थी। जिसके बाद उन्हें दरियागंज से ही गिरफ्तार किया गया था। उनपर सीएए विरोधी प्रदर्शन के दौरान लोगों को भड़काने का आरोप लगाया गया है। बता दें कि इस मामले में गिरफ्तार किए गए 15 अन्य लोगों को नौ जनवरी को जमानत दे दी गई थी।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 आखिर CAA, NRC से क्या है बिहार CM नीतीश कुमार को तकलीफ? समझिए
2 ‘तुम हिंदू हो…तुम्हारे दोस्त मुसलमान क्यों हैं’ CAA के खिलाफ प्रदर्शन में गिरफ्तार एक्टिविस्ट ने बताई पुलिस इंटेरोगेशन की कहानी
3 बंगाल में CAA Protest के दौरान हुई हिंसा पर RPF सख्त, हिंसा में शामिल 21 लोगों को किया गिरफ्तार; 88 करोड़ रुपए हर्जाना करेगी वसूल
ये पढ़ा क्‍या!
X