ताज़ा खबर
 

COVID-19 Vaccine आ रही अगले साल! Bharat Biotech बोला- जून 2021 तक लॉन्च के लिए तैयार होगी COVAXIN

हैदराबाद आधारित कंपनी भारत बायोटेक कोरोना वैक्सीन को आईसीएमआर और नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ वायरोलॉजी के साथ मिलकर विकसित कर रहा है।

Edited By कीर्तिवर्धन मिश्र Updated: October 24, 2020 8:08 AM
भारत बायोटेक अगले साल की शुरुआत तक तैयार कर लेगा कोरोना की वैक्सीन।

दुनियाभर में कोरोना वैक्सीन के निर्माण की रेस तेज हो गई है। रूस, अमेरिका और चीन जैसे देशों के बाद अब भारत में भी एक वैक्सीन के तीसरे फेज के ट्रायल को मंजूरी मिल चुकी है। यह वैक्सीन है भारत बायोटेक की कोवैक्सिन, जिसे इंडियन काउंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च का समर्थन हासिल है। अब भारत बायोटेक ने कहा है कि ह्यूमन ट्रायल्स की स्टेज पार करने के बाद कोवैक्सिन जून 2021 तक तैयार हो जाएगी। हालांकि, कंपनी के एक उच्चाधिकारी ने कहा कि अगर सरकार इसके आपात इस्तेमाल की मंजूरी देता है, तो यह पहले भी बाजार में आ सकती है।

हैदराबाद आधारित भारत बायोटेक इंटरनेशनल के एग्जीक्यूटिव डायरेक्टर साई प्रसाद ने बताया कि कंपनी तीसरे फेज में 12-14 राज्यों में 20 हजार से ज्यादा लोगों पर कोवैक्सिन टेस्ट करने की योजना बना रही है। अगर हमें सभी मंजूरियां समय पर मिल गईं, तो 2021 की दूसरी तिमाही में तीसरे फेज के ट्रायल के नतीजे मिल जाएंगे, जिसमें वैक्सीन की क्षमता का अंदाजा होगा। यानी अप्रैल, मई और जून तक वैक्सीन के क्लिनिकल ट्रायल के नतीजों के बारे में पूरी तरह पता चल जाएगा।

भारत बायोटेक कोवैक्सिन को आईसीएमआर और नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ वायरोलॉजी के साथ मिलकर विकसित कर रहा है। यह वैक्सीन निष्क्रिय वायरस के इस्तेमाल से बनाई जा रही है। माना जा रहा है कि कोरोनावायरस का यह रूप शरीर में पहले ही प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ा देगा, जिससे कोरोनावायरस का एक्टिवेटेड रूप भी लोगों पर असर नहीं डाल पाएगा।

भारत बायोटेक की कोवैक्सिन अब देश में सिर्फ ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी और एस्ट्रा जेनेका की वैक्सीन- कोविशील्ड से ही पीछे है, जिसके तीसरे फेज के ट्रायल के लिए लोगों की भर्ती शुरू हो चुकी है। भारत में कोविशील्ड की टेस्टिंग अदार पूनावाला का सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया कर रहा है।

साई प्रसाद के मुताबिक, भारत बायोटेक फेज-1, फेज-2 और फेज-3 के ट्रायल पूरी तरह करने की तैयारी में भी हैं, पर सरकार इसे आपात इस्तेमाल के लिए मंजूरी दे सकती है। हालांकि, उन्होंने साफ किया कि उनकी कंपनी ने सरकार से ऐसी किसी मंजूरी की मांग नहीं की है। प्रसाद ने कहा कि वे सिर्फ सुरक्षा डेटा और क्षमता के हिसाब से ही नतीजों पर पहुंचना चाहेंगे। लेकिन सरकार में कोरोना वैक्सीन के आपात इस्तेमाल की मंजूरी की चर्चाएं चल रही हैं।

Next Stories
1 दिल्ली मेट्रो : यात्रियों के कार्ड में जुड़ी नई सुविधा
2 दिल्ली व आसपास की हवा हुई ‘बहुत खराब’; केजरीवाल बोले- बाहर के धुएं पर हमारा नियंत्रण नहीं
3 पत्रकारों पर FIR से भड़के अर्णब गोस्वामी ने हाथ दिखाकर कहा – ‘सुधांशु त्रिवेदी समझाइए इनको’, और फिर…
ये पढ़ा क्या?
X