ताज़ा खबर
 

भारत बायोटेक ने किया कोवैक्सीन की कीमत का ऐलान, राज्य सरकारों को 600 और प्राइवेट अस्पतालों को 1200 रुपये में मिलेगी डोज

प्राइवेट अस्पतालों में भारत बायोटेक के कोवैक्सीन की एक डोज के लिए 1200 रुपए खर्च करने होंगे।

covaxin, bharat biotechदेसी कोरोना वैक्सीन बनाने वाली कंपनी भारत बायोटेक ने कोवैक्सीन के दामों का ऐलान कर दिया है। (एक्सप्रेस फोटो / अरुल होराइजन)

देशभर में कोरोना का संक्रमण काफी तेजी से फ़ैल रहा है। सरकार यह दावा कर रही है कि कोरोना के खिलाफ लड़ाई में टीकाकरण अभियान को तेज गति से चलाया जा रहा है। इसी बीच देसी कोरोना वैक्सीन बनाने वाली कंपनी भारत बायोटेक ने कोवैक्सीन के दामों का ऐलान कर दिया है। प्राइवेट अस्पतालों में भारत बायोटेक के कोवैक्सीन की एक डोज के लिए 1200 रुपए खर्च करने होंगे। वहीं राज्यों को कोवैक्सीन की एक डोज 600 रूपये में मिलेगी।

भारत बायोटेक ने वैक्सीन की कीमतों का ऐलान करते हुए कहा कि हम भारत सहित दुनियाभर में कोरोना के फैलते संक्रमण की वजह से बेहद चिंतित है। साथ ही कंपनी ने कहा कि हमने 150 रूपये प्रति डोज के हिसाब से केंद्र सरकार को वैक्सीन उपलब्ध करवाए जिसे भारत सरकार के द्वारा लोगों को मुफ्त में दिया गया। आगे कंपनी ने कहा कि हमने भारत सरकार के निर्देशों के अनुसार कोवैक्सीन की कीमतों का ऐलान किया है। कोवैक्सीन की एक डोज प्राइवेट अस्पतालों को 1200 रुपए में दी जाएगी और राज्यों को इसके लिए 600 रुपए देने होंगे।

देशी वैक्सीन होने के बावजूद भारत बायोटेक की कोवैक्सीन सीरम इंस्टीट्यूट द्वारा बनाए गए कोविशील्ड से मंहगी हो गई है। सीरम इंस्टीट्यूट ने अपनी वैक्सीन राज्य सरकारों को 400 रूपये और प्राइवेट अस्पतालों को 600 रूपये में देने का ऐलान किया है। सीरम इंस्टीट्यूट के वैक्सीन की कीमतों को लेकर विवाद पैदा हो गया था। जिसके बाद कंपनी ने अपनी सफाई दी है और कहा है कि सिर्फ लिमिटेड स्टॉक को ही 600 रूपये में दिया जाएगा।

देश में कोविड-19 के बढ़ते संक्रमण के मद्देनजर केंद्र सरकार ने शनिवार को कोविड-19 रोधी टीके, उपचार में काम आने वाली ऑक्सीजन गैस और संबंधित उपकरणों के आयात पर मूल सीमा शुल्क की छूट की घोषणा की है। टीकों, ऑक्सीजन और संबंधित उपकरणों की उपलब्धता बढ़ाने और किफायती दरों पर उपलब्ध कराने के लिए यह फैसला किया गया है। वित्त मंत्रालय ने एक बयान में कहा है कि कोविड-19 टीके पर 10 प्रतिशत का मूल सीमा शुल्क तथा ऑक्सीजन और ऑक्सीजन संबंधित उपकरणों पर आयात कर और स्वास्थ्य उपकर तीन महीने के लिए हटा दिया गया है। चिकित्सीय ऑक्सीजन पर पांच प्रतिशत की मूल दर से आयात शुल्क लगता है और टीके पर शुल्क की मूल दर 10 प्रतिशत है।

गौरतलब है कि देश में एक दिन में कोविड-19 के 3,46,786 नए मामले सामने आने के साथ संक्रमण के कुल मामले बढ़कर 1,66,10,481 पर पहुंच गए हैं। इस समय उपचाराधीन मरीजों की संख्या 25 लाख से अधिक हो गई है। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा शनिवार को सुबह आठ बजे जारी किए गए अद्यतन आंकड़ों में यह जानकारी दी गई। इन आंकड़ों के मुताबिक एक दिन में 2,624 संक्रमितों की मौत होने से मृतकों की संख्या बढ़कर 1,89,544 हो गई है।

Next Stories
1 देश को मज़बूत सरकार चाहिए, मैं तो वापस चाय की दुकान खोल लूंगा- अपने पुराने ट्वीट पर घिरे नरेंद्र मोदी
2 दिल्ली में ‘बेबस’ अस्पताल, मरीजों से बोले- कहीं और ले जाओ, शायद जान बच जाए
3 बेटे को खो चुके सीताराम येचुरी की पीएम मोदी से अपील, सबको लगे टीका, सबको मिले ऑक्सीजन
यह पढ़ा क्या?
X