ताज़ा खबर
 

Bharat Bandh: केन्द्रीय मंत्री बोले- सरकार के हाथ से बाहर हैं तेल के दाम, कांग्रेस नेता का जवाब- सही तो कहा अब ये अंबानीज के हाथ में है

Bharat Band, Bharat Bandh Today on 10th September 2018 News (भारत बंद): रवि शंकर प्रसाद ने कहा कि भारत बंद के नाम पर पेट्रोल पम्पों में आग लगाई जा रही है बसों और गाड़ियों को तोड़ा जा रहा है, कांग्रेस पार्टी जवाब दे कि देश में हो रही इस हिंसा का जिम्मेदार कौन है। उन्होंने कहा कि राजग सरकार महंगाई पर लगाम लगाने का पूरा प्रयास कर रही है और कई मोर्चों पर सफल भी हुई है।

Author September 10, 2018 4:21 PM
Bharat Bandh Today: भाजपा नेता ने कांग्रेस और उसके अध्यक्ष पर निशाना साधते हुए कहा कि आज की महंगाई साल 2014 की तुलना से कम है। उन्होंने कहा कि ईरान पर अमेरिकी प्रतिबंधों के कारण तेल की उपलब्धता प्रभावित हुई है, वहीं भारत तेल के आयात पर निर्भर है और वैश्विक बाजार में तेल की कमी है। (PTI PHOTO)

भारत बंद, Bharat Bandh Today: पेट्रोल-डीजल के दामों को लेकर कांग्रेस सहित कुछ विपक्षी दलों के ‘भारत बंद’ को विफल करार देते हुए भाजपा ने सोमवार को कहा कि तेल की कीमतों में वृद्धि में सरकार का कोई हाथ नहीं है और इसका कारण अंतरराष्ट्रीय स्तर पर उत्पादन का प्रभावित होना है। विपक्ष पर निशाना साधते हुए भाजपा ने कहा कि लोकतंत्र में सभी को विरोध करने का अधिकार है लेकिन विरोध के नाम पर हिंसा अस्वीकार्य है। भाजपा के वरिष्ठ नेता एवं केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने संवाददाताओं से बातचीत में सवाल किया, ‘क्या लोकतंत्र में राजनीति हिंसा के माध्यम से होगी।’ पेट्रोल, डीजल की कीमतों में बढ़ोतरी पर सफाई देते हुए प्रसाद ने कहा कि अंतरराष्ट्रीय कारणों के चलते तेल की कीमतें बढ़ रही हैं और इसमें सरकार का कोई हाथ नहीं है। पेट्रोल की कीमतों पर केंद्र के इस जवाब पर कांग्रेस ने केंद्रीय मंत्री पटलवार किया है। कांग्रेस प्रवक्ता अखिलेश सिंह ने ट्वीट करते हुए लिखा, ‘सही तो कहा है। क्योंकि ये तो अम्बानीज के और साहेब के मित्रो के हाथ मे है। मई 2019 में कांग्रेस सरकार ले लेगी अपने हाथ में और दे देगी जनता को राहत।’

वहीं भाजपा नेता ने कांग्रेस और उसके अध्यक्ष पर निशाना साधते हुए कहा कि आज की महंगाई साल 2014 की तुलना से कम है। उन्होंने कहा कि ईरान पर अमेरिकी प्रतिबंधों के कारण तेल की उपलब्धता प्रभावित हुई है, वहीं भारत तेल के आयात पर निर्भर है और वैश्विक बाजार में तेल की कमी है। तेल उत्पादक देशों के समूह ओपेक ने उत्पादन की सीमा घटा दी है। उन्होंने जोर दिया कि देश की जनता समझ रही है कि तेल की जो कीमतें बढ़ी हैं, उसमें भारत सरकार का हाथ नहीं है। इसलिए जनता इस बंद से अलग है।

भारत बंद को असफल करार देते हुए रविशंकर प्रसाद ने कांग्रेस समेत विपक्षी दलों से पूछा कि बिहार के जहानाबाद में एम्बुलेंस समय रहते हॉस्पिटल नहीं पहुंच पाई जिसके कारण दो साल की एक बच्ची की दुखद मौत हो गई, राहुल गांधी जवाब दें कि इसका जिम्मेदार कौन है? उन्होंने कहा, ‘विरोध तक ठीक है, लेकिन जो पेट्रोल पंप और सार्वजनिक संपत्तियों को नुकसान पहुंचाया गया है, उसकी जिम्मेदारी कौन लेगा?’ भाजपा नेता ने कहा, ‘लोकतंत्र में सभी को विरोध करने का अधिकार है और हम उसका स्वागत करते हैं लेकिन क्या लोकतंत्र में राजनीति हिंसा के माध्यम से की जाएगी?’

प्रसाद ने कहा कि भारत बंद के नाम पर पेट्रोल पम्पों में आग लगाई जा रही है बसों और गाड़ियों को तोड़ा जा रहा है, कांग्रेस पार्टी जवाब दे कि देश में हो रही इस हिंसा का जिम्मेदार कौन है। उन्होंने कहा कि राजग सरकार महंगाई पर लगाम लगाने का पूरा प्रयास कर रही है और कई मोर्चों पर सफल भी हुई है। भाजपा का मानना है कि कुछ कठिनाइयों के बावजूद लोगों ने बंद का समर्थन नहीं किया। प्रसाद ने कहा, ‘भारत बंद पूरी तरह से फेल हुआ है। भारत बंद में हुई हिंसा का हमें बहुत दुख है, हम इसकी भर्त्सना करते हैं।’

उन्होंने कहा कि सरकार जनता की परेशानी का समाधान निकालने की कोशिश कर रही है। उन्होंने आरोप लगाया कि कांग्रेस और विपक्ष खीझकर खौफ का माहौल पैदा कर रहे हैं। जब जनता का समर्थन नहीं मिलता है तो उग्र प्रदर्शन कर बंद कराने की कोशिश की जा रही है। रविशंकर प्रसाद ने पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह को जीएसटी और नोटबंदी पर संसद में बहस की चुनौती दी। उन्होंने कहा, ‘मैं एक आम कार्यकर्ता हूं और पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह को जीएसटी और नोटबंदी पर बहस की चुनौती देता हूं। वह बड़े अर्थशास्त्री हैं। तथ्यों के साथ मुझसे बहस करें। वह मेरे आग्रह को स्वीकार करें।’’

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App