ताज़ा खबर
 

Bharat Bandh: सीपीआई, सीपीएम व राजद कार्यकर्ताओं ने कृषि बिल के खिलाफ जमकर किया प्रदर्शन, महाराष्ट्र सरकार ने किया लागू करने से इंकार

Bharat Bandh: बिहार में सीपीआई, सीपीएम व राजद कार्यकर्ताओं ने केंद्र की मोदी सरकार के विरोध में जमकर नारेबाजी करते हुए बिल का विरोध जताते हुए उसे वापस लेने की मांग किया।

farmer protest, farmer protest in haryana, farmer protest todayतीन किसान बिलों को लेकर पंजाब के पटियाला में विभिन्न कृषि संगठनों से जुड़े अन्नदाता केंद्र सरकार के खिलाफ प्रदर्शन करते हुए। (फाइल फोटोः PTI)

Bharat Bandh: पूरे देश में  Agriculture Bills/Farm Bills कृषि बिल का विरोध हो रहा है। इस बिल के खिलाफ देशभर में किसान सड़कों पर उतर आए हैं और उन्हें विपक्ष का पूरा समर्थन मिल रहा है। इसी बीच महाराष्ट्र की ठाकरे सरकार ने इस बिल को लागू करने से मना कर दिया है। न्यूज एजेंसी एएनआई के अनुसार, महाराष्ट्र सरकार में मंत्री और कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष बालासाहेब थोराट ने किसान बिल का विरोध करते हुए कहा, ‘हम संसद द्वारा पारित कृषि विधेयक का विरोध करते हैं। महाराष्ट्र विकास अघाड़ी भी इसका विरोध कर रही है। हमने तय किया है कि इसे राज्य में लागू नहीं होने देंगे।’

बिहार में सीपीआई, सीपीएम व राजद कार्यकर्ताओं ने केंद्र की मोदी सरकार के विरोध में जमकर नारेबाजी करते हुए बिल का विरोध जताते हुए उसे वापस लेने की मांग किया। वहीं पंजाब सरकार के वित्त मंत्री मनप्रीत सिंह बादल ने कहा कि संसद में तानाशाही तरीके से तीन कृषि विधेयक पारित कराने से केन्द्र की नरेन्द्र मोदी सरकार का किसान विरोधी चेहरा उजागर हुआ है। भारतीय किसान यूनियन के अध्यक्ष राकेश टिकैत ने कहा है कि कृषि बिल के खिलाफ 350 से ज्यादा किसान संगठन विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं। साथ ही उन्होंने कहा कि जिले, गांव और हाईवे पर चक्काजाम किया जाएगा। कांग्रेस समेत कई विपक्षी दलों ने बंद का समर्थन किया है। ‘भारत बंद’ का सबसे ज्यादा असर पंजाब और हरियाणा में देखने को मिल रहा है।

Live Blog

Highlights

    14:01 (IST)26 Sep 2020
    पंजाब में आज से धान/चावल खरीद शुरू करने के आदेश जारी किए

    समाचार एजेंसी एएनआई के मुताबिक, केंद्रीय उपभोक्ता मामले, खाद्य एवं सार्वजनिक वितरण मंत्रालय ने हरियाणा और पंजाब में आज से धान/चावल खरीद शुरू करने के आदेश जारी किए। 

    12:45 (IST)26 Sep 2020
    रेलवे ट्रैक पर अपने कपड़े उतारकर प्रदर्शन कर रहे हैं किसान

    अमृतसर से किसान मजदूर संघर्ष समिति के महासचिव ने बताया कि किसान रेलवे ट्रैक पर अपने कपड़े उतारकर प्रदर्शन कर रहे हैं ताकि मोदी सरकार कृषि बिल को वापस लें। कल अकाली दल ने अपने प्रदर्शन में मोदी सरकार और कृषि बिल के खिलाफ कुछ नहीं बोला। वे अपनी स्थिति स्पष्ट नहीं कर रहें,वे राजनीति कर रहें।

    12:14 (IST)26 Sep 2020
    राहुल गांधी ने किसानों के विरोध का समर्थन करते हुए कहा ट्वीट किया

    कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने किसानों के विरोध का समर्थन करते हुए कहा कि मोदी सरकार द्वारा किसानों पर किए जा रहे अत्याचार और शोषण के ख़िलाफ़, आइये साथ मिलकर आवाज़ उठाएं।

    11:29 (IST)26 Sep 2020
    किसान मजदूर संघर्ष समिति के महासचिव ने कहा "अकाली दल राजनीति कर रही ह"

    समाचार एजेंसी एएनआई के मुताबिक, किसान मजदूर संघर्ष समिति के महासचिव एस एस पंधेर ने कहा, "अकाली दल एक स्पष्ट रुख नहीं अपना रही है। वह गठबंधन का हिस्सा बने रहने की कोशिश कर रही है और राजनीति कर रही है।"

    10:49 (IST)26 Sep 2020
    पंजाब के अमृतसर में 'रेल रोको' आंदोलन जारी

    कृषि विधेयक के विरोध में शनिवार को किसान मजदूर संघर्ष समिति का पंजाब के अमृतसर में 'रेल रोको' आंदोलन जारी है। समिति ने बिल के विरोध में 24 से 26 सितंबर तक 'रेल रोको' आंदोलन चलाया है। 

    09:59 (IST)26 Sep 2020
    तेजस्वी यादव के आह्वान पर बैलगाड़ी लगाकर चक्का जाम किया

    नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव के आह्वान पर पूर्व से प्रायोजित कार्यक्रम के अनुसार शुक्रवार को बसंतपुर प्रखंड के राजद, कांग्रेस, जाप व अन्य पार्टियों के कार्यकर्ताओं ने वीरपुर बलुआ एसएच 91 के बसंतपुर प्रखंड कार्यालय के समीप सड़क पर बैलगाड़ी लगाकर चक्का जाम किया। इस दौरान कार्यकर्ताओं ने केंद्र सरकार और पीएम मोदी के विरोध में नारे भी लगाए।

    09:31 (IST)26 Sep 2020
    मंडियों को खत्म करने की बात कहीं पर भी नहीं लिखी, लेकिन उसका इंपैक्ट मंडियों को तबाह कर सकता है

    सरकार ने बिल में मंडियों को खत्म करने की बात कहीं पर भी नहीं लिखी है। लेकिन उसका इंपैक्ट मंडियों को तबाह कर सकता है। इसका अंदाजा लगाकर किसान डरा हुआ है। इसीलिए आढ़तियों को भी डर सता रहा है। इस मसले पर ही किसान और आढ़ती एक साथ हैं। उनका मानना है कि मंडियां बचेंगी तभी तो किसान उसमें एमएसपी पर अपनी उपज बेच पाएगा।

    09:12 (IST)26 Sep 2020
    बादल ने कहा- अकाली दल ने सबसे पहले कृषि कानून विरोध का एटम बम फोड़ा

    अकाली दल नेता सुखबीर बादल ने कहा कि संसद में अकाली दल ने जिस तरह से इस मुद्दे को उठाया उतना और किसी पार्टी ने नहीं उठाया। यहां तक कि कांग्रेस भी विरोध करने में हमसे पीछे रही. बादल ने कहा कि कांग्रेस के शीर्ष नेता संसद से गायब थे। साथ ही सुखबीर बादल ने कहा कि हमें कैप्टन अमरिंदर से किसान समर्थक होने का कोई सर्टिफिकेट नहीं चाहिए।

    08:39 (IST)26 Sep 2020
    नए कानून से खेती से जुड़े सारे सरकारी इदारे खत्म हो जाएंगे

    किसानों ने कहा कि हम केंद्र के कानून का इसलिए विरोध कर रहे हैं क्योंकि ये सरासर किसान के खिलाफ हैं। किसानों को डर है कि नए कानून से खेती से जुड़े सारे सरकारी इदारे खत्म हो जाएंगे। किसानों ने कहा कि ये काला कानून है क्योंकि इससे न्यूनतम समर्थन मूल्य खत्म करने का रास्ता खुल गया है।

    07:57 (IST)26 Sep 2020
    मोदी सरकार का किसान विरोधी चेहरा उजागर : मनप्रीत

    पंजाब सरकार के वित्त मंत्री मनप्रीत सिंह बादल ने कहा कि संसद में तानाशाही तरीके से तीन कृषि विधेयक पारित कराने से केन्द्र की नरेन्द्र मोदी सरकार का किसान विरोधी चेहरा उजागर हुआ है।

    06:24 (IST)26 Sep 2020
    कोशिश करेंगे,महाराष्ट्र में कृषि विधेयक लागू नहीं हों : कांग्रेस, राकांपा

    महाराष्ट्र की गठबंधन सरकार में शामिल कांग्रेस और राकांपा ने शुक्रवार को कहा कि वे यह सुनिश्चित करने की कोशिश करेंगे कि राज्य में कृषि क्षेत्र में सुधार से संबंधित विधेयक लागू नहीं हों। उपमुख्यमंत्री और राकांपा नेता अजित पवार ने पुणे में कहा कि किसानों के साथ-साथ राकांपा और अन्य दल भी नए विधेयकों के खिलाफ हैं। उन्होंने कहा, ‘किसानों को लगता है कि कानून उनके लिए लाभकारी नहीं हैं। उन्हें (उन्हें पारित करने की) कोई जल्दी नहीं थी।’ यह पूछे जाने पर कि क्या उन्हें महाराष्ट्र में लागू किया जाएगा, पवार ने कहा, ‘हम यह सुनिश्चित करने की कोशिश करेंगे कि वे लागू नहीं हों। लेकिन साथ ही हमें यह भी देखना होगा कि कौन से नए मुद्दे सामने आते हैं।’

    05:30 (IST)26 Sep 2020
    छत्तीसगढ़ में कृषि विधेयकों के विरोध में किसानों का प्रदर्शन

    संसद में हाल में पारित किए गए कृषि विधेयकों के खिलाफ शुक्रवार को छत्तीसगढ़ के किसानों ने प्रदर्शन किया। छत्तीसगढ़ किसान मजदूर महासंघ के संयोजक के मंडल सदस्य और कृषि वैज्ञानिक संकेत ठाकुर ने शुक्रवार को बताया कि देश के 100 से अधिक किसान संगठनों के साथ आज छत्तीसगढ़ किसान मजदूर महासंघ सहित राज्य के 25 संगठनों ने लगभग 100 से अधिक गांवों और कस्बों में कृषि विधेयकों के विरोध में प्रदर्शन किया। ठाकुर ने बताया कि छत्तीसगढ़ के ज्यादातर जिलों में कोरोना वायरस के कारण लॉकडाउन होने की वजह से जिला और ब्लाक मुख्यालयों में प्रदर्शन ना होकर गांव के किसानों ने अपने खेत, खलिहान, चौपाल तथा अपने घर के बाहर प्रदर्शन किया।

    04:10 (IST)26 Sep 2020
    जयपुर में किसानों ने किया जोरदार प्रदर्शन

    राजस्थान की राजधानी जयपुर में शहीद स्मारक पर विरोध प्रदर्शन हुआ। केंद्र की भाजपा सरकार की किसान-मजदूर विरोधी नीतियों के विरोध में देशव्यापी विरोध प्रदर्शन के तहत आयोजित कार्यक्रम में कम्युनिस्ट पार्टी (मार्क्सवादी), भाकपा, भाकपा (माले) व समाजवादी पार्टी के साथ-साथ सीटू, एटक, एनएफआईडब्ल्यू, जनवादी महिला समिति व जनवादी नौजवान सभा जैसे संगठनों के प्रतिनिधियों ने भी भाग लिया।

    02:42 (IST)26 Sep 2020
    कृषि विधेयक के खिलाफ किसानों ने जुलूस निकाले, सभाएं कीं

    किसानों ने केंद्र सरकार के विवादित कृषि विधेयकों के खिलाफ शुक्रवार को राज्य के अनेक इलाकों में प्रदर्शन किया। किसान संगठन संसद द्वारा पारित इन विधेयकों को किसान विरोधी बताते हुए वापस लेने की मांग कर रहे हैं। राज्य के बीकानेर, गंगानगर व हनुमानगढ़ सहित लगभग सभी जिलों में अनेक जगहों पर किसानों ने प्रदर्शन किया और जुलूस निकाले।

    01:54 (IST)26 Sep 2020
    केंद्र के खिलाफ बढ़ा गुस्सा

    किसान और खेती को लेकर केंद्र सरकार के नए विधेयकों से देशभर में किसान प्रदर्शन कर रहे हैं। किसान अपनी तमाम आशंकाओं को लेकर केंद्र सरकार से नाराज हैं। हालांकि केंद्र सरकार का कहना है कि विधेयक किसानों की जिंदगी सुखद बदलाव लाएंगे।

    22:44 (IST)25 Sep 2020
    बिहार में जगह जगह प्रदर्शन

    केंद्र सरकार पर किसान के विरोध में बिल पारित करने का आरोप लगाकर जन अधिकार पार्टी के कार्यकर्ताओं ने अपने तय कार्यक्रम के अनुसार बेगूसराय में एनएच 31 को जाम कर दिया और सरकार के विरोध में नारेबाजी की। आरजेडी और वामपंथी पार्टियों के भारत बंद का जहानाबाद में भी असर दिखा। समस्तीपुर में केंद्र सरकार पर किसान विरोधी कानून पारित करने का आरोप लगाकर जगह-जगह विभिन्न दलों के कार्यकर्ताओं ने सड़क जाम करते हुए विरोध प्रदर्शन किया।

    22:30 (IST)25 Sep 2020
    मोदी सरकार का किसान विरोधी चेहरा उजागर : मनप्रीत

    पंजाब सरकार के वित्त मंत्री मनप्रीत सिंह बादल ने शुक्रवार को कहा कि संसद में तानाशाही तरीके से तीन कृषि विधेयक पारित कराने से केन्द्र की नरेन्द्र मोदी सरकार का किसान विरोधी चेहरा उजागर हुआ है।

    22:16 (IST)25 Sep 2020
    कृषि विधेयक किसानों की मुक्ति के लिए है, विपक्ष अफवाह फैला रहा : संबित पात्रा

    भाजपा के वरिष्ठ नेता संबित पात्रा ने कृषि विधेयक के मुद्दे पर किसानों को कथित रूप से भ्रमित करने के लिए विपक्षी कांग्रेस और तृणमूल कांग्रेस पर शुक्रवार को निशाना साधा और कहा कि यह सुधार आजादी के बाद पहली बार कृषि क्षेत्र के उदारीकरण को सुनिश्चित करेगा।

    21:54 (IST)25 Sep 2020
    राष्ट्रीय छात्र संगठन ने निकाला मार्च

    पंजाब: राष्ट्रीय छात्र संगठन (एनएसयूआई) के कार्यकर्ता हाल ही में पारित कृषि बिलों के विरोध में अमृतसर में एक मार्च निकाल रहे हैं।

    21:20 (IST)25 Sep 2020
    यहां भी हुए प्रदर्शन

    संसद द्वारा हाल ही में पारित तीन कृषि बिलों के विरोध में किसानों ने देश के कई हिस्सों में नारेबाजी की और सड़कों पर जाम लगाया। सबसे व्यापक विरोध पंजाब और हरियाणा में थे, लेकिन कई किसान यूनियनों द्वारा दिए गए भारत बंद के आह्वान के तहत उत्तर प्रदेश, पश्चिम बंगाल, केरल और कर्नाटक से भी प्रदर्शन किए गए।

    20:39 (IST)25 Sep 2020
    "चक्का जाम" के तहत शिरोमणि अकाली दल का विरोध प्रदर्शन

    शिरोमणि अकाली दल (SAD) ने किसानों के साथ एकजुटता व्यक्त करने के लिए पंजाब के अपने "चक्का जाम" कार्यक्रम के तहत विरोध प्रदर्शन किया, यहां तक कि उसने मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह से कृषि बिलों पर तत्काल कैबिनेट बैठक बुलाने के लिए कहा। इसने पूरे राज्य को एक "मंडी" (प्रमुख बाजार यार्ड) घोषित करने के लिए अध्यादेश लाने का आह्वान किया ताकि यह सुनिश्चित हो सके कि राज्य में नए केंद्रीय कृषि बिल लागू नहीं हो सकें।

    20:08 (IST)25 Sep 2020
    'नए कृषि कानून से MSP को खत्म करने का रास्ता खुल गया है'

    किसानों का कहा कि हम केंद्र के कानून का इसलिए विरोध कर रहे हैं क्योंकि ये सरासर किसान के खिलाफ हैं। किसानों को डर है कि नए कानून से खेती से जुड़े सारे सरकारी इदारे खत्म हो जाएंगे। किसानों ने कहा कि ये काला कानून है क्योंकि इससे न्यूनतम समर्थन मूल्य खत्म करने का रास्ता खुल गया है।

    19:41 (IST)25 Sep 2020
    पंजाब में सीएम ने कहा न करें नियमों का उल्लंघन

    पंजाब के मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह ने प्रदर्शन के दौरान किसानों से कानून-व्यवस्था की स्थिति बनाए रखने और कोरोना वायरस से जुड़े सभी नियमों का पालन करने की अपील की। एक बयान में सिंह ने कहा कि राज्य सरकार विधेयकों के खिलाफ लड़ाई में पूरी तरह किसानों के साथ है और धारा 144 के उल्लंघन के लिए प्राथमिकी दर्ज नहीं की जाएगी। अधिकारियों ने बताया कि राज्य में कानून-व्यवस्था बनाए रखने के लिए पर्याप्त संख्या में पुलिस बल को तैनात किया गया है।

    19:13 (IST)25 Sep 2020
    टीएमसी नेता ने कहा- आम लोगों के लिए नहीं है मोदी सरकारी

    टीएमसी के किसान विंग ने हाल ही में पारित कृषि कानूनों के खिलाफ आज कोलकाता में विरोध प्रदर्शन किया। टीएमसी नेता कहते हैं, "यह एक सरकारी कानून है, जो बिना किसी प्रक्रिया के मोदी सरकार द्वारा बलपूर्वक पारित किया जाता है। मोदी सरकार आम लोगों के लिए नहीं है,"।

    18:41 (IST)25 Sep 2020
    अमृतसर में सड़कों पर प्रदर्शन
    17:45 (IST)25 Sep 2020
    संसद में दबाई जा रही आवाज

    कांग्रेस नेता रणदीप सुरजेवाला ने ट्वीट किया कि अन्नदाता किसान की बात सुनना तो दूर, संसद में उनके नुमाईंदो की आवाज को दबाया जा रहा है और सड़कों पर किसान मजदूरों को लाठियों से पिटवाया जा रहा है। जैसा अशोक गहलौत ने कहा था - संसद में संविधान का गला घोंटा जा रहा है और खेत खलिहान में किसानों-मजदूरों की आजीविका का।

    17:10 (IST)25 Sep 2020
    ताकि पंजाब में लागू न किया जा सके कृषि का नया कानून

    शिरोमणि अकाली दल के अध्यक्ष सुखबीर एस बादल ने मुक्तसर में लाम्बी गांव में एक रैली को संबोधित करते हुए कहा कि पंजाब के मुख्यमंत्री को तत्काल कैबिनेट की बैठक बुलानी चाहिए और राज्य को एक 'मंडी' घोषित करने के लिए एक अध्यादेश पारित करना चाहिए ताकि पंजाब में हाल ही में पारित कृषि बिलों को लागू न किया जा सके।

    16:35 (IST)25 Sep 2020
    पंजाब में रेल रोको आंदोलन

    पंजाब: किसान मजदूर संघर्ष समिति ने फार्म बिल के विरोध में अमृतसर में अपना 'रेल रोको' आंदोलन जारी रखा। समिति बिल के खिलाफ 24 से 26 सितंबर तक 'रेल रोको' आंदोलन कर रही है।

    15:57 (IST)25 Sep 2020
    दिल्ली के सिंहासन को हिला देगा 1 अक्टूबर का मार्च

    पुराने सहयोगी शिरोमणि अकाली दल (SAD) और भाजपा के बीच अधिक कड़वाहट के संकेत में, SAD के अध्यक्ष सुखबीर बादल ने शुक्रवार को कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी "हरसिमरन बादल के इस्तीफे से हिल गए थे"। बादल ने यह भी कहा कि 1 अक्टूबर को पंजाब में उनके द्वारा आयोजित किया जा रहा एक विरोध मार्च दिल्ली के सिंहासन को हिला देगा।

    15:40 (IST)25 Sep 2020
    बिहार: विपक्षी दलों ने आज, गया में नए कृषि सुधार बिल के खिलाफ प्रदर्शन किया

    आरजेडी जिला कार्यकर्ता का कहना है, "हम किसान विरोधी कानूनों का विरोध कर रहे हैं, जिसे केंद्रीय सरकार द्वारा निरस्त किया जाना चाहिए। इससे केवल निगमों को फायदा होगा और सभी मंडियों को बंद करने में मदद मिलेगी।"

    15:22 (IST)25 Sep 2020
    तमिलनाडु में किसान संघ ने अलग अंदाज में प्रदर्शन किया

    तमिलनाडु में राष्ट्रीय दक्षिण भारतीय नदी इंटरलिंकिंग किसान संघ ने कृषि बिल के खिलाफ अलग अंदाज में प्रदर्शन किया। यहां किसानों ने त्रिची में कलेक्टर कार्यालय के बाहर मानव खोपड़ियों, जंजीरों और नर कंकाल के साथ अपना विरोध दर्ज कराया।

    14:15 (IST)25 Sep 2020
    पश्चिमी उत्तर प्रदेश में भी किसानों ने प्रदर्शन

    भारतीय किसान यूनियन के बैनर तले पश्चिमी उत्तर प्रदेश में भी किसानों ने प्रदर्शन किया। लखनऊ से सटे बाराबंकी, सीतापुर और रायबरेली के अलावा पश्चिमी यूपी में किसान सड़क पर उतरे नजर आए। प्रदर्शन के दौरान किसानों ने कई जगहों पर पराली जलाई।

    13:47 (IST)25 Sep 2020
    राहुल गांधी ने कृषि बिल के खिलाफ हो रहे प्रदर्शनों का समर्थन किया

    कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने कृषि बिल के खिलाफ हो रहे प्रदर्शनों का समर्थन किया है। साथ ही उन्होंने केंद्र सरकार पर भी निशाना साधा है। राहुल गांधी ने कहा कि त्रुटिपूर्ण जीएसटी ने एमएसएमई को पूरी तरह से खत्म कर दिया है। नए कृषि कानून हमारे किसानों को गुलाम बनाएंगे।

    13:08 (IST)25 Sep 2020
    किसान बिल के खिलाफ दिल्ली बॉर्डर पर प्रदर्शन

    नोएडा में भारतीय किसान यूनियन के सदस्यों ने किसान बिल के खिलाफ दिल्ली बॉर्डर पर प्रदर्शन किया। इस दौरान पुलिस भी मौके पर तैनात रही. नोएडा के एडिशनल डीसीपी ने कहा कि हमने ट्रैफिक को डायवर्ट किया है ताकि लोगों को किसी तरह की दिक्कत का सामना नहीं करना पड़ें। अनिश्चितता का सामना न करना पड़े।

    12:31 (IST)25 Sep 2020
    प्रियंका गांधी ने कहा किसानों को ना दाम मिलेगा ना सम्मान

    कांग्रेस नेता प्रियंका गांधी ने कहा कि किसानों से एमएसपी छीन ली जाएगी। उन्हें कांट्रेक्ट फार्मिंग के जरिए खरबपतियों का गुलाम बनने पर मजबूर किया जाएगा। उन्होंने आगे कहा कि ना दाम मिलेगा ना सम्मान। किसान अपने ही खेत पर मजदूर बन जाएगा। भाजपा कृषि बिल ईस्ट इंडिया कंपनी राज की याद दिलाता है। हम ये अन्याय नहीं होने देंगे।

    12:00 (IST)25 Sep 2020
    तेजस्वी यादव ने पटना में ट्रैक्टर चलाकर बिलों के खिलाफ अपना विरोध जताया

    कृषि बिलों के विरोध में राष्ट्रीय जनता दल के नेता तेजस्वी यादव ने पटना में ट्रैक्टर चलाकर बिलों के खिलाफ अपना विरोध जताया। तेजस्वी यादव ने कहा "सरकार ने अपने फंडदाताओं के ​जरिए अन्नदाताओं को कठपु​तली बनाने का काम किया है, ये पूरी तरह किसान विरोधी बिल हैं। इस सरकार ने ऐसा कोई भी सेक्टर छोड़ने का काम नहीं किया जिसका इन्होंने निजीकरण न किया हो। MSP का कहीं भी विधेयक में जिक्र नहीं है।"

    11:21 (IST)25 Sep 2020
    लंबा चलेगा आंदोलन, किसान मजदूर संघर्ष कमेटी के महासचिव ने सरकार पर बोला हमला

    किसान मजदूर संघर्ष कमेटी के महासचिव ने सरकार पर हमला बोलते हुए आंदोलन के लंबे चलने की बात कही है। उन्होंने कहा कि सरकार के हमसे बातचीत न करने, इस आंदोलन को महत्व न देने से लगता है कि आंदोलन लंबा चलेगा।

    10:54 (IST)25 Sep 2020
    पंजाब बंद के दौरान किसानों के प्रति नरम रवैया अपनाया जाए

    पंजाब सरकार ने यह हिदायत भी दी है कि पंजाब बंद के दौरान किसानों के प्रति नरम रवैया अपनाया जाए और उन पर कोई सख्त जबरदस्ती न की जाए। इसके साथ ही एंबुलेंस सेवा, सिविल सर्जनों, डॉक्टरों और पैरामेडिकल स्टाफ को भी तैयार रखने को कहा गया है ताकि प्रदर्शन के दौरान किसी भी अप्रिय घटना में घायलों को तुरंत चिकित्सा सुविधा मुहैया कराई जा सके।

    10:19 (IST)25 Sep 2020
    दोपहर 12 बजे , जंतर मंतर पर किसान बिलों के खिलाफ कांग्रेस प्रदर्शन करेगी

    किसान बिल के खिलाफ आज दिल्ली में किसानों का प्रदर्शन होगा। उम्मीद है कि इस प्रदर्शन को कांग्रेस और आम आदमी पार्टी का भी समर्थन मिलेगा। दोपहर 12 बजे , जंतर मंतर पर किसान बिलों के खिलाफ कांग्रेस का लगातार प्रदर्शन भी होगा। यूथ कांग्रेस ने गुरुवार शाम को दिल्ली में मशाल जुलूस निकाल कर विरोध प्रदर्शन किया।

    09:51 (IST)25 Sep 2020
    24 से 26 सितंबर तक 48 घंटे का बंद और रेल रोको आंदोलन

    केंद्र सरकार के कृषि विधेयकों के खिलाफ आंदोलन पर उतरी किसान जत्थेबंदियों ने आज पंजाब बंद का एलान किया है। किसान जत्थेबंदियों के इस एलान को लेकर राज्य सरकार की तरफ से बुधवार को सभी जिला उपायुक्तों और पुलिस प्रमुखों को निर्देश जारी किए गए हैं। गृह विभाग की ओर से जिला उपायुक्तों को जारी निर्देश के तहत, 24 से 26 सितंबर तक 48 घंटे के बंद और रेल रोको आंदोलन के दौरान अलर्ट रहने को कहा है।

    09:14 (IST)25 Sep 2020
    दुकानें रखें बंद, सफल बनाएं भारत बंद- किसान संगठनों ने की अपील

    भारतीय किसान यूनियन (एकता उगराहां) महासचिव सुखबीर सिंह ने हड़ताल के समर्थन में वाणिज्यिक प्रतिष्ठानों, दुकानदारों से अपनी दुकानों बंद रखने की अपील की है। पंजाब कांग्रेस के अध्यक्ष सुनील जाखड़ ने भी लोगों से किसानों का समर्थन करने और हड़ताल को सफल बनाने का अनुरोध किया है। मुख्य विपक्षी आम आदमी पार्टी पहले ही अपना समर्थन दे चुकी है जबकि शिरोमणि अकाली दल ने सड़क बंद करने की घोषणा की है।

    08:48 (IST)25 Sep 2020
    विजयवर्गीय ने ममता को दी चुनौती, साबित करें कृषि विधेयक किसानों के लिए नुकसानदेह हैं

    भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय ने पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी को बृहस्पतिवार को चुनौती दी है कि वह साबित करें कि कृषि क्षेत्र से संबंधित दो विधेयक किसानों को नुकसान पहुंचाएंगे। संसद ने हाल में इन विधेयकों को पारित किया है। विजयवर्गीय ने आरोप लगाया कि संसद में विधेयकों के पारित होने के बाद तृणमूल कांग्रेस बेचैन हो गई, क्योंकि पार्टी बिचौलियों को संरक्षण देती है जो किसानों को न्यूनतम समर्थन मूल्य (एमएसपी) से वंचित करते हैं और उनका मुनाफा छीन लेते हैं। तृणमूल कांग्रेस की प्रमुख ने दावा किया है कि विधेयक किसानों को एमएसपी से वंचित करेंगे और देश को भुखमरी की कगार पर ले जाएंगे।

    08:43 (IST)25 Sep 2020
    पंजाबः राज्य सरकार किसानों के साथ, 144 के उल्लंघन के लिए प्राथमिकी दर्ज नहीं होगी

    एक बयान में सिंह ने कहा कि राज्य सरकार विधेयकों के खिलाफ लड़ाई में पूरी तरह किसानों के साथ है और धारा 144 के उल्लंघन के लिए प्राथमिकी दर्ज नहीं की जाएगी। मुख्यमंत्री ने कहा कि हड़ताल के दौरान कानून-व्यवस्था की दिक्कतें पैदा नहीं करनी चाहिए। उन्होंने किसानों से यह सुनिश्चित करने की अपील की है कि नागरिकों को किसी तरह की दिक्कतें नहीं हो और आंदोलन के दौरान जान-माल को किसी भी प्रकार का खतरा नहीं होना चाहिए।

    08:15 (IST)25 Sep 2020
    पंजाब बंद के लिए 31 किसान संगठनों ने मिलाए हाथ

    पंजाब और हरियाणा के किसान संसद में पारित कृषि सुधार विधेयकों के खिलाफ शुक्रवार को हड़ताल करेंगे। पंजाब बंद के लिए 31 किसान संगठनों ने हाथ मिलाया है। हरियाणा में भारतीय किसान यूनियन (भाकियू) समेत कई संगठनों ने कहा है कि उन्होंने विधेयकों के खिलाफ कुछ किसान संगठनों द्वारा आहूत राष्ट्रव्यापी हड़ताल का समर्थन किया है। पंजाब के मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह ने प्रदर्शन के दौरान किसानों से कानून-व्यवस्था की स्थिति बनाए रखने और कोरोना वायरस से जुड़े सभी नियमों का पालन करने की अपील की है।

    Next Stories
    1 Bihar Elections: 5 साल पहले दाल दे चुकी है BJP को झटका, इसलिए इस बार नहीं बनने दिया चुनावी मुद्दा
    2 Delhi Riots 2020 में पुलिस ने नहीं दी वक्त पर मदद? 5-7 बार पीड़ितों ने की थी कॉल, सामने आया ये अंतर
    3 दिल्ली के डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया डेंगू पॉजिटिव भी मिले, कोरोना के चलते अस्पताल में हैं भर्ती
    यह पढ़ा क्या?
    X