ताज़ा खबर
 

Bharat Bandh: भारत बंद आज, जानिए आपकी जिंदगी पर कितना होगा असर

Bharat Band, Bharat Bandh on Monday, 10th September 2018, Tomorrow Timings : इस भारत बंद को समाजवादी पार्टी, डीएमके, बीजू जनता दल (बीजद), एनसीपी सहित कई पार्टियों ने समर्थन दिया है। वहीं, वामपंथी पार्टियों ने इसी दिन अलग से भारत बंद बुलाया है। तृणमूल कांग्रेस प्रदर्शन मार्च निकालेगी, लेकिन पश्चिम बंगाल को बंद नहीं करवाएगी। राजद, जेडी (एस), जेवीएम, और जेएमएम ने भारत बंद का समर्थन किया है।

Bharat Bandh on Monday, 10th September 2018: कांग्रेस की मांग है कि सरकार पेट्रोल, डीजल को जीएसटी के दायरे में लाए, जिससे इनकी बढ़ती कीमतों पर लगाम लग सके। (Photo : PTI)

Bharat Bandh on Monday, 10th September 2018 Timings: पेट्रोल और डीजल की लगातर बढ़ती कीमतों को लेकर केन्द्र सरकार पर हमलावर कांग्रेस ने आज यानी 10 सितंबर को अपना गुस्सा जाहिर करने के लिए भारत बंद बुलाया है। कांग्रेस का दावा है कि इस बंद को लगभग 21 दलों का समर्थन हासिल है। द्रविड़ मुनेत्र कड़गम (द्रमुक), राष्ट्रीय जनता दल (राजद) सहित कई पार्टियों ने इस बंद का समर्थन किया है। पूर्व प्रधानमंत्री एचडी देवगौड़ा ने भी बंद का समर्थन किया है। उन्होंने कहा है कि उनकी पार्टी जनता दल सेकुलर इस बंद का समर्थन करती है। उन्होंने बाकी बची पार्टियों से भी बंद को समर्थन करने की अपील की है। वामदल ने इसी दिन अलग से बंद का आह्वान किया है। वहीं, तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) मांग के समर्थन में है, लेकिन बंद के खिलाफ है।

वहीं कांग्रेस ने शिवसेना से बंद में शामिल होने की अपील की थी, लेकिन शिवसेना ने ऐसा नहीं करने का फैसला किया। संवाददाताओं से बात करते हुए महाराष्ट्र के कांग्रेस अध्यक्ष अशोक चव्हाण ने कहा कि उन्होंने शिवसेना से आग्रह किया था।  चव्हाण ने कहा कि ‘‘हमें उम्मीद है कि शिवसेना इसका समर्थन करेगी। कीमत में बढ़ोतरी के खिलाफ खुलकर आने के लिए मैंने निजी तौर पर (शिवसेना के राज्यसभा सदस्य) संजय राउत से बात की है लेकिन हम उनके जवाब का इंतजार कर रहे हैं।’’ कांग्रेस के आग्रह पर जवाब देते हुए राउत ने कहा कि शिवसेना बंद में हिस्सा नहीं लेगी।

Bharat Bandh Today, 10th September 2018 Live Updates

सोमवार सुबह 9 बजे से शाम तीन बजे तक भारत बंद का आह्वान किया गया है। कांग्रेस के मीडिया प्रभारी रणदीप सुरजेवाला ने कहा कि भारत बंद का समय इस तरह से रखा गया है कि आम आदमी को परेशानी न हो। कांग्रेस नेताओं ने कहा है कि बंद में पेट्रोल पंप मालिकों से भी शामिल होने की अपील की गई है। कांग्रेस के मुताबिक आम जनता से अपील की गई है कि वे 9 सितंबर या फिर 10 सितंबर को सुबह 10 बजे तक अपनी अपनी गाड़ियों में पेट्रोल-डीजल भरवा लें, ताकि लोगों को आवागमन में कोई दिक्कत नहीं हो।

कांग्रेस ने भारत बंद बुलाने के पीछे की वजह बताते हुए कहा कि इंधन की कीमतों और एक्साइज ड्यूटी में बढ़ोत्तरी बताई। विपक्ष ने आरोप लगाया कि सत्तारूढ़ भाजपा सरकार ने आम आदमी का जीना मुहाल कर दिया है। राज्यों में एक्साइज ड्यूटी और अत्यधिक वैट को तत्काल कम करना चाहिए। पेट्रोल और डीजल को भी जीएसटी में लाना चाहिए। सुरजेवाला ने दावा किया कि 2014 के मुकाबले पेट्रोल और डीजल की कीमतें करीब 50 फीसदी बढ़ी हैं। पेट्रोल और डीजल पर एक्साइज ड्यूटी क्रमश: 211 और 443 फीसदी बढ़ गया है। कांग्रेस नेता अजय माकन ने कहा कि केंद्र ने पिछले चार साल में ईंधन पर उत्पाद शुल्क लगाकर 11 लाख करोड़ रुपये की कमाई की है और सरकारी खजाना भरने के लिए यह राशि आम आदमी से ली है।

इस भारत बंद को समाजवादी पार्टी, डीएमके, बीजू जनता दल (बीजद), एनसीपी सहित कई पार्टियों ने समर्थन दिया है। वहीं, वामपंथी पार्टियों ने इसी दिन अलग से भारत बंद बुलाया है। तृणमूल कांग्रेस प्रदर्शन मार्च निकालेगी, लेकिन पश्चिम बंगाल को बंद नहीं करवाएगी। राजद, जेडी (एस), जेवीएम, और जेएमएम ने भारत बंद का समर्थन किया है। कांग्रेस नेता अशोक गहलोत और अहमद पटेल सहित प्रमुख विपक्षी नेता सीपीएम महासचिव सीताराम येचुरी, एनसीपी के तारिक अनवर ने भारत बंद को लेकर शरद यादव के आवास पर मुलाकात की।

महाराष्ट्र नव निर्माण सेना ने भी इस बंद को अपना समर्थन दिया है। एमएनएस ने कहा है कि पेट्रोल-डीजल की बढ़ती कीमतों से देश की जनता काफी नाराज है। एमएनएस ने कहा कि उसके कार्यकर्ता इस बंद को सफल बनाने में बढ़-चढ़कर शिरकत करेंगे। महाराष्ट्र, बिहार, कर्नाटक, ओडिशा, तमिलनाडु जैसे राज्यों में जहां क्षेत्रीय दल ने भारत बंद का समर्थन किया है, वहां इसका असर दिखने की संभावना है। पश्चिम बंगाल में तृणमूल कांग्रेस ने कहा कि वह इन मुद्दों का समर्थन करती है। लेकिन बंद के खिलाफ है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App