ताज़ा खबर
 

भैय्यूजी महाराज: पहली पत्नी की मौत के बाद त्याग दी थी गृहस्थी, 1 साल बाद ही कर ली दूसरी शादी

Bhaiyyu Maharaj Suicide Indore Latest News: भैय्यूजी की पहली पत्नी माधवी की मौत के बाद उन्होंने अकेला रहना चाहा था, लेकिन उनकी मां, बेटी और बहन ने दोबारा शादी करने के लिए उन पर दबाव बनाया था।

पत्नी डॉ. आयुषी के साथ आध्यात्मिक गुरु भैय्यूजी महाराज (फोटो सोर्स- वीडियो स्क्रीनशॉट)

आध्यात्मिक गुरु भैय्यूजी महाराज की मौत की खबर सुनकर हर कोई हैरान है। मध्य प्रदेश, महाराष्ट्र और गुजरात में पूजे जाने वाले संत भैय्यूजी द्वारा खुद को गोली मारकर आत्महत्या कर लेने के बाद से ही उनके समर्थकों में मातम पसर गया है। ‘हाई प्रोफाइल’ संत के नाम से मशहूर भैय्यूजी तो इस दुनिया से चले गए, लेकिन उन्होंने अपने पीछे बहुत से सवाल छोड़ दिए हैं, जिनका जवाब हर कोई जानना चाहता है। हालांकि भैय्यूजी महाराज का सुसाइड नोट भी बरामद हुआ है, जिसमें उन्होंने लिखा है कि वह जिंदगी के तनाव से परेशान होकर यह कदम उठा रहे हैं और इसके पीछे किसी का भी हाथ नहीं है।

भैय्यूजी ने पिछले साल ही दूसरी शादी की थी। उन्होंने पिछले साल अप्रैल के महीने में ग्वालियर की डॉ. आयुषी के साथ सात फेरे लिए थे। दूसरी शादी करने के भैय्यूजी के फैसले ने उस वक्त हर किसी को हैरान कर दिया था, क्योंकि अपनी पहली पत्नी की मौत के बाद उन्होंने यह घोषणा की थी कि वह अब दोबारा गृहस्थ जीवन नहीं अपनाएंगे, ऐसे में जब उन्होंने दूसरी शादी का ऐलान किया, तब हर कोई चौंक गया था।

भैय्यूजी की पहली पत्नी माधवी की मौत के बाद उन्होंने अकेला रहना चाहा था, लेकिन उनकी मां, बेटी और बहन ने दोबारा शादी करने के लिए उन पर दबाव बनाया था। उनकी बहन ने भाई से दूसरी शादी कर लेने की जिद की थी और करीब दो दिन तक खाना भी नहीं खाया था। घर वालों के लगातार कहने पर भैय्यूजी ने दूसरी शादी करने के लिए हामी भर दी थी और 30 अप्रैल 2017 के दिन उन्होंने इंदौर स्थित अपने घर में आयुषी से शादी कर ली। भैय्यूजी की पहली शादी से एक बेटी भी है, जो इस वक्त पुणे में रहकर पढ़ाई कर रही है।

वहीं अब जब दूसरी शादी के एक साल बाद भैय्यूजी महाराज द्वारा आत्महत्या कर ली गई तो बहुत से सवाल खड़े हो रहे हैं। कहा जा रहा है कि इंदौर के ये संत पिछले कई दिनों से डिप्रेशन में थे, जिसके पीछे पारिवारिक कलह बताई जा रही है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App