ताज़ा खबर
 

गांधी पर लिखी किताब का विमोचन करेंगे भागवत, राष्ट्रपिता को बता चुके हैं ‘कट्टर सनातनी हिंदू’

लेखक द्वय जे के बजाज और एम डी श्रीनिवास ने कहा कि उनकी पुस्तक ‘मेंिकग आॅफ ए ंिहदू पैट्रियट: बैकग्राउंड आॅफ गांधीजीस ंिहद स्वराज’ 1909 में गांधी जी की हस्तलिखित गुजराती पांडुलिपि पर आधारित कृति ‘ंिहद स्वराज’ और 1910 में फिनिक्स द्वारा प्रकाशित उसके पाठ के अंग्रेजी अनुवाद के एक प्रामाणिक संस्करण तैयार करने के प्रयासों से निकली है।

Author Edited By सिद्धार्थ राय नई दिल्ली | December 26, 2020 9:00 PM
mohan bhagwat, RSS, BJP, gandhi, hindi news, jansattaमोहन भागवत ने महात्मा गांधी पर एक नई पुस्तक का विमोचन किया।

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (RSS) के प्रमुख मोहन भागवत एक जनवरी को महात्मा गांधी पर एक नयी पुस्तक का विमोचन करेंगे जिसमें लिखा है कि गांधीजी की 1909 की रचना ‘ंिहद स्वराज’ ‘धर्म’ यानि सही मार्ग चुनने को लेकर है जिसका अक्सर लेकिन अपर्याप्त तरीके से आस्था अथवा मजÞहब के रूप में अनुवाद किया जाता है।

लेखक द्वय जे के बजाज और एम डी श्रीनिवास ने कहा कि उनकी पुस्तक ‘मेंिकग आॅफ ए ंिहदू पैट्रियट: बैकग्राउंड आॅफ गांधीजीस ंिहद स्वराज’ 1909 में गांधी जी की हस्तलिखित गुजराती पांडुलिपि पर आधारित कृति ‘ंिहद स्वराज’ और 1910 में फिनिक्स द्वारा प्रकाशित उसके पाठ के अंग्रेजी अनुवाद के एक प्रामाणिक संस्करण तैयार करने के प्रयासों से निकली है।

लेखकों ने कहा कि उन्होंने धार्मिक देशभक्ति के पाठ के रूप में ‘ंिहद स्वराज’ के उदय की कहानी को और ंिहदू देशभक्त के रूप में गांधीजी की कहानी को कहने का प्रयास किया है। सेंटर फॉर पॉलिसी स्टडीज के संस्थापक निदेशक बजाज और इसके संस्थापक अध्यक्ष श्रीनिवास ने कहा, ‘‘हम इस कहानी को व्यापक रूप से उनके ही शब्दों में कह रहे हैं।’’ उन्होंने कहा कि गांधीजी हमेशा खुद को ंिहदू मानते थे, शायद अन्य अधिकतर लोगों से बेहतर ंिहदू। और उनके समकालीन अन्य लोग भी उन्हें ऐसे ही देखते थे।

भागवत ने इससे पहले फरवरी में गांधी स्मृति संग्रहालय में एक और पुस्तक का विमोचन किया था। तब उन्होंने गांधी को ‘कट्टर सनातनी ंिहदू’ कहा था जो अपनी आस्था के साथ दूसरों की आस्थाओं का भी सम्मान करते थे।

Next Stories
1 होशियारी से कीजिए सैनिटाइजर यूज, हाथ सैनिटाइज कर एक गलती की, परिवार के तीन लोग मार गए
2 पुराने भाजपाई यशवंत सिन्हा ने नरेंद्र मोदी को कहा प्रधान झूठा, लोगों ने दिया ये जवाब
3 किसान आंदोलन: प्रदर्शनकारियों पर असम से बोले अमित शाह- हल खोजने के लिए सरकार से करें चर्चा, हम तैयार
ये पढ़ा क्या?
X