ताज़ा खबर
 

बंगालः जहां हिंदू कम, वहां गुंडागर्दी अधिक, बनाए जा रहे टारगेट- शुभेंदु का दावा; कहा- फौरन केंद्रीय बल किए जाएं तैनात

टीएमसी से बीजेपी में गए शुभेंदु अधिकारी का दावा है कि बंगाल में जहां हिंदू कम हैं वहां गुंडागर्दी अधिक हो रही है। जानबूझकर टीएमसी के लोग हिंदुओं को टारगेट कर रहे हैं। उनकी मांग है कि ऐसे इलाकों में फौरन केंद्रीय बल तैनात किए जाएं।

Suvendu Adhikari, Mamta Banerjee, West Bengal Electionशुभेंदु अधिकारी (फोटो सोर्स: ट्विटर/@SuvenduWB)

टीएमसी से बीजेपी में गए शुभेंदु अधिकारी का दावा है कि बंगाल में जहां हिंदू कम हैं वहां गुंडागर्दी अधिक हो रही है। जानबूझकर टीएमसी के लोग हिंदुओं को टारगेट कर रहे हैं। उनकी मांग है कि ऐसे इलाकों में फौरन केंद्रीय बल तैनात किए जाएं।

नंदीग्राम के धमाके पर शुभेंदु का कहना है कि 2019 में जय श्रीराम का विरोध तुष्टिकरण के लिए ममता ने किया था। बीजेपी की मंडल सभा से लेकर छोटे कार्यकर्ता को निशाना बनाया जा रहा है। अब हिंदुओं के ऊपर भी अत्याचार किया जा रहा है। इन गुंडों पर कोई एक्शन नहीं ले रहा है। उनका कहना है कि भगवान राम के आशिर्वाद से ये लोग जाने वाले हैं। पहले राम का विरोध किया तो हाफ हो गए और अब साफ होने जा रहे हैं।

गौरतलब है कि पूर्व मंत्री शुभेंदु हाल ही में बीजेपी में शामिल हुए थे। कभी ममता के परिवहन मंत्री रहे शुभेंदु टीएमसी से नाता तोड़ने और बीजेपी में शामिल होने के बाद से लगातार ममता और उनके भतीजे अभिषेक बनर्जी पर हमला बोल रहे हैं। बीजेपी में शामिल होने के बाद शुभेंदु ने कहा कि टीएमसी एक प्राइवेट कंपनी बन गई है। यह डेढ़ लोगों की कंपनी हैं। कंपनी की चेयरमैन ममता बनर्जी और मैनेजिंग डॉयरेक्टर ‘भाइपो’ है।

उन्होंने कहा कि इस बार चुनाव में बीजेपी जीतेगी. कई वामपंथी जो अच्छे हैं वह उनसे अपील कर रहे हैं कि बीजेपी को वोट दें। बीजेपी आने पर सभी को उनका अधिकार मिलेगा, लेकिन अभी टीएमसी अपनी मर्जी से काम कर रही है। कट मनी खाने का कोई भी जगह खाली नहीं रखी है। स्कूलों में बच्चों को जो ड्रेस दी जा रही है, वह उसमें भी कमीशन खाती हैं।

हालांकि शुभेंदु लगातार दावा कर रहे हैं कि अगले कुछ दिनों में ही 4-5 सांसद टीएमसी से नाता तोड़ देंगे और बीजेपी में शामिल होंगे, लेकिन उन्होंने यह खुलासा नहीं किया कि ये सांसद कौन-कौन हैं। वह लगातार कह रहे हैं कि इस बार बीजेपी ही बंगाल में सरकार बनाने जा रही है। जनता ममता को कड़ा सबक सिखाएगी।

Next Stories
1 26 जनवरीः देश के लिए जो लड़े करगिल, अब ट्रैक्टर परेड में वह पूर्व-सैनिक ‘कमांडर’
2 किसान आंदोलनः इधर शाह ने ली बड़ी बैठक, उधर अन्नदाताओं ने बताया आगे का प्लान
3 100, 10 और 5 रुपए के पुराने नोट चलेंगे या नहीं? RBI ने कही ये बात
ये पढ़ा क्या?
X