ताज़ा खबर
 

बलात्कारियों ने कहा, अब कुछ खाना-पीना हो जाए

पश्चिम बंगाल के रानाघाट में ईसाई स्कूल में शुक्रवार देर रात 71 साल की नन के साथ बलात्कार करने के बाद बलात्कारी और उसके साथियों ने विदेशी चॉकलेट, केक और पेस्ट्रीज का लुत्फ उठाया था। खाने-पीने की ये चीजें स्कूल की एक सिस्टर अपने विदेशी दौरे से लेकर आई थीं। कान्वेंट के एक सूत्र ने […]

Author March 18, 2015 10:16 AM
कोलकाता में विरोध-प्रदर्शन करतीं आनंदमार्गी संन्यासिनें। (फोटो: जनसत्ता)

पश्चिम बंगाल के रानाघाट में ईसाई स्कूल में शुक्रवार देर रात 71 साल की नन के साथ बलात्कार करने के बाद बलात्कारी और उसके साथियों ने विदेशी चॉकलेट, केक और पेस्ट्रीज का लुत्फ उठाया था। खाने-पीने की ये चीजें स्कूल की एक सिस्टर अपने विदेशी दौरे से लेकर आई थीं।

कान्वेंट के एक सूत्र ने इंडियन एक्सप्रेस को बताया कि वे सारे लोग बर्बर थे। रेफ्रिजरेटर से खाद्य पदार्थों को निकालने के लिए पहले उन्होंने कहा कि अब कुछ खाना-पीना हो जाए।

अपना नाम नहीं छापने की शर्त पर सूत्र ने बताया-उन लोगों ने दो ननों को एक कमरे में बांध दिया और 71 साल की नन को घसीटते हुए दूसरे कमरे में ले गए।

अपराध करने के बाद वे लौटे और अपनी बर्बरता दिखाई। उन्होंने फ्रिज खोला और उसमें से खाने का सामान निकालने लगे। फ्रिज में से चॉकलेट, केक पेस्ट्रीज और दूसरी मिठाइयां निकालीं जो स्कूली बच्चों के लिए रखी गई थीं। बच्चों के लिए ये सामान एक नन लाई थीं जो हाल ही में विदेशी दौरे से लौटी थीं। वे अपराधी स्कूल परिसर से 4.30 बजे निकले। एक घंटे तक उनका खाना-पीना जारी था।

सूत्र ने बताया कि जो खाना वो नहीं खा पाए उसे जमीन पर फेक दिया। जमीन पर फेके खाने को कुचलते हुए वे कमरे से बाहर निकले। उन्होंने लगभग सारे दराजों और आलमारियों को तोड़ दिया और उनमें रखे सात लाख रुपए भी लूट ले गए। इनमें स्कूली बच्चों की जमा कराई परीक्षा फीस के साथ वे पैसे भी थे जो बच्चों की पढ़ाई-लिखाई का सामान खरीदने के लिए रखे गए थे।

पुलिस ने राज्य सरकार को जो रिपोर्ट भेजी है उसमें कहा है कि ये अपराधी स्थानीय नहीं हैं। उन्हें भाड़े पर दूसरी जगह से बुलाया गया था। एक पुलिस सूत्र ने कहा-यह सुनियोजित हमला था जो स्कूल प्रशासन से बदला लेने के लिए किया गया था। हम अभी तक वारदात के कारणों की जांच कर रहे हैं। स्कूल और कान्वेंट की ननों पर हमला करने के लिए इन आदमियों को भाड़े पर लाया गया था।

अस्पताल के अधिकारियों के मुताबिक, बुजुर्ग नन की हालत में सुधार हो रहा है। उनके इलाज के लिए मंगलवार को एक मेडिकल बोर्ड का गठन किया गया है।

 

 

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App